Homeरायपुर : हमर छत्तीसगढ़ योजना : पंच-सरपंचों ने की महिला एवं बाल विकास मंत्री से मुलाकात : दुर्ग संभाग के तीन जिलों के प्रतिनिधि अध्ययन-भ्रमण पर

Secondary links

Search

रायपुर : हमर छत्तीसगढ़ योजना : पंच-सरपंचों ने की महिला एवं बाल विकास मंत्री से मुलाकात : दुर्ग संभाग के तीन जिलों के प्रतिनिधि अध्ययन-भ्रमण पर

Printer-friendly versionSend to friend

रायपुर, 9 अप्रैल 2017

प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू से दुर्ग जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने भेंट की. इस दौरान पंच-सरपंचों ने उनसे हमर छत्तीसगढ़ योजना में दो दिवसीय अध्ययन-भ्रमण यात्रा के अनुभव साझा किए.

रविवार की सुबह महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशीला साहू उपरवारा स्थित हमर छत्तीसगढ़ योजना आवासीय परिसर पहुँचीं, जहाँ योजना के अधिकारियों एवं पंचायत प्रतिनिधियों ने पुष्पगुच्छ से उनका स्वागत किया. परिसर में स्थापित बैठक कक्ष में मंत्री श्रीमती साहू ने दुर्ग, बालोद एवं बेमेतरा जिले के पंच-सरपंचों से बातचीत की, उनका हालचाल जाना एवं राज्य शासन के विकास कार्यों को लेकर चर्चा की.

इस मौके पर मंत्री श्रीमती साहू ने प्रतिनिधियों से बातचीत करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह जी की दूरदर्शी सोच का नतीजा है, कि पूरे प्रदेश के हर ग्राम पंचायत के पंच-सरपंच एवं सहकारिता प्रतिनिधियों को राजधानी एवं नया रायपुर भ्रमण का अवसर मिल रहा है. खासकर महिला प्रतिनिधियों के लिए यह स्वर्णिम अवसर है, क्योंकि अधिकतर महिलाएं घर-परिवार के कामकाज की वजह से कहीं जा नहीं सकती हैं. बच्चों को सम्हालने की जिम्मेदारी भी उन पर होती है. ऐसे में राज्य सरकार की इस योजना से महिला प्रतिनिधियों को भी जंगल सफारी, एयरपोर्ट, विधानसभा, मंत्रालय, क्रिकेट स्टेडियम, इमर्सिव डोम थियेटर जैसी जगहों पर घूमने का मौका मिला है. नया रायपुर में हुए विकास को देखकर उनमें उत्साह बाधा है और वे भी अपनी पंचायतों में बेहतर कामकाज करने के लिए मानसिक रूप से तैयार हो रही हैं. अध्ययन-भ्रमण यात्रा से उनके मनोबल और ज्ञान में वृध्दि हुई है.

योजना से जुड़े अधिकारियों ने मंत्री श्रीमती साहू को आवासीय परिसर में मौजूदा व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी दी. अपने क्षेत्र की जनप्रतिनिधि से मिलकर पंच-सरपंच बेहद उत्साहित हुए. पंचायत प्रतिनिधियों ने राज्य शासन के महत्वपूर्ण महाभियान “हमर छत्तीसगढ़ योजना” की सराहना करते हुए इस योजना से जुड़े सभी लोगों का आभार जताया.

 

क्रमांक –163/कमलेश

 

Date: 
09 Apr 2017