Homeरायपुर : नक्सल पीड़ित सुकमा जिले में भी ‘रमन के गोठ’ की अनुगूंज : स्कूली बच्चों और ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को उत्साह के साथ सुना

Secondary links

Search

रायपुर : नक्सल पीड़ित सुकमा जिले में भी ‘रमन के गोठ’ की अनुगूंज : स्कूली बच्चों और ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को उत्साह के साथ सुना

Printer-friendly versionSend to friend

रायपुर, 10 अप्रैल 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता ‘रमन के गोठ’ की अनुगूंज आज राज्य के नक्सल हिंसा पीड़ित सुकमा जिले में भी सुनी गई। छत्तीसगढ़ के दक्षिण में अंतिम छोर के जिला मुख्यालय सुकमा स्थित कन्या हाई स्कूल, बालक हाई स्कूल, ज्ञानोदय शिक्षा परिसर और कुम्हाररास स्थित पोटा केबिन के स्कूली बच्चों ने बड़ी गंभीरता से मुख्यमंत्री को सुना। इन बच्चों ने मुख्यमंत्री द्वारा भू-जल संरक्षण की अपील, शाला प्रवेश उत्सव, लू और मौसमी बीमारियों से बचाव के उपाय के बारे में दी गई जानकारी तथा  ग्राम उदय-भारत उदय अभियान में जनभागीदारी के आव्हान को काफी महत्वपूर्ण बताया। जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में भी रमन के गोठ को लेकर लोगों में काफी उत्साह देखा गया। ग्राम गादीरास निवासी श्री हुंगाराम ने कहा कि आकाशवाणी से प्रसारित यह कार्यक्रम काफी उपयोगी है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री इस कार्यक्रम में किसानों और ग्रामीणों के लिए भी कई उपयोगी योजनाओं की जानकारी देते हैं, जो हमारे लिए लाभदायक है। श्री हुंगाराम ने कहा कि विगत प्रसारण को सुनकर मुझे मालूम हुआ कि राज्य सरकार ने तेन्दूपत्ता संग्रहण कार्य की मजदूरी 1200 रूपए से बढ़ाकर 1500 रूपए प्रति मानक बोरा कर दिया है। ग्राम गोंगला के श्री पोड़ियामी लच्छा का कहना था कि ‘रमन के गोठ’ कार्यक्रम से शासकीय योजनाओं के प्रति ग्रामीणों में काफी जागृति आयी है।


क्रमांक-225/स्वराज्य
 

Date: 
10 Apr 2016