Homeरायपुर : सरकार की प्राथमिकताओं और जनोन्मुखी सरोकारों का जनता से प्रभावी संवाद है ‘रमन के गोठ’

Secondary links

Search

रायपुर : सरकार की प्राथमिकताओं और जनोन्मुखी सरोकारों का जनता से प्रभावी संवाद है ‘रमन के गोठ’

Printer-friendly versionSend to friend

मैरीन ड्राइव पर लोगों ने उत्साह से सुना मुख्यमंत्री को रेडियो पर

रायपुर. 11 अक्टूबर 2015

आकाशवाणी पर आज प्रसारित छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की विशेष वार्ता ‘रमन के गोठ’ को लोगों ने सरकार की प्राथमिकताओं और जनोन्मुखी सरोकारों का जनता से प्रभावी संवाद बताया है। लोगों ने रेडियो के माध्यम से प्रदेश की जनता से सीधे जुड़ने की मुख्यमंत्री की इस पहल की सराहना की है। राजधानी रायपुर के मैरीन ड्राइव पर आज सवेरे लोगों ने रेडियो पर मुख्यमंत्री की वार्ता ‘रमन के गोठ’ की दूसरी कड़ी का प्रसारण बड़े उत्साह से सुना। अपने विभिन्न निजी कार्यों से मैरीन ड्राइव तथा इसके आसपास आए लोग सवेरे पौने 11 बजे से 11 बजे तक पूरे 15 मिनट ‘रमन के गोठ’ तल्लीनता से सुनते रहे। कार्यक्रम के बाद लोगों ने कहा कि वे आकाशवाणी के माध्यम से मुख्यमंत्री को अपनी प्रतिक्रियाओं से जरूर अवगत कराएंगे। छत्तीसगढ़ के आकाशवाणी के सभी केन्द्रों, एफ.एम. रेडियो स्टेशनों और समाचार चैनलों द्वारा आज जनसंपर्क विभाग द्वारा तैयार किए गए मुख्यमंत्री के मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘रमन के गोठ’ की दूसरी कड़ी का प्रसारण किया गया।   ‘रमन के गोठ’ सुनकर लोगों ने उत्साहजनक प्रतिक्रिया दी। पिछड़ा वर्ग विकास संगठन के प्रदेश अध्यक्ष श्री सूरज निर्मलकर ने मुख्यमंत्री के रेडियो के माध्यम से प्रदेश की जनता तक पहुंचने के इस प्रयास को काफी सराहा। उन्होंने कहा कि रेडियो की पहुंच दूरस्थ अंचलों तक है। जहां अखबारों और समाचार चैनलों की पहुंच नहीं है, वहां के लोग भी आज रेडियो के जरिए मुख्यमंत्री से रू-ब-रू हुए हैं। ‘रमन के गोठ’ के माध्यम से मुख्यमंत्री ने स्वयं उन्हें सरकार की योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी दी है। मदर टेरेसा वार्ड के पार्षद श्री कचरू साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री अपने रेडियो वार्ता के द्वारा लोगों से सीधे जुड़ रहे हैं। सरकार की चिंताओं और प्राथमिकताओं से आम जनता को अवगत करा रहे हैं। उनका कार्यक्रम सुनकर लोगों को संबल मिला है कि सरकार हर परिस्थितियों में, हर सुख-दुख में जनता के साथ है।

      रायपुर के श्याम नगर में रहने वाले श्री सोनू सलूजा ने कहा कि ‘रमन के गोठ’ उन्हें बेहद प्रभावी और सार्थक लगा। मुख्यमंत्री की पूरी चर्चा काफी प्रासंगिक और आम लोगों के सरोकार की थी। श्री सलूजा ने बताया कि 14 साल पहले अपनी शादी में मिला रेडियो आज खासतौर पर उन्होंने ‘रमन के गोठ’ सुनने के लिए खोजकर निकाला है। ग्राम बोरियाखुर्द के श्री गिरधर साहू ने ‘रमन के गोठ’ सुनकर कहा कि कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ की परंपरा, तीज-त्यौहारों, पितरपाख, नवरात्रि, यहां की संस्कृति और पकवानों की चर्चा की है। इससे प्रदेश की परंपरा और संस्कृति से उनके गहरे लगाव का पता चलता है। स्थानीय तीज-त्यौहारों और पकवानों की चर्चा से हमारी युवा पीढ़ी भी इन्हें जान सकेगी। मुख्यमंत्री की बातों से खेती और किसानों के प्रति उनकी गंभीर चिंता जाहिर होती है।

      तेलीबांधा के श्री आशीष कुमार दास ने कहा कि मुख्यमंत्री का आज का संवाद सुनकर गांव, गरीब और किसानों के प्रति उनकी गहरी चिंता एक बार फिर उजागर हुई है। मुख्यमंत्री को सुनकर किसानों को जरूर संबल मिला होगा कि सरकार उन्हें हरसंभव राहत और मदद देने जा रही है। किसानों से राजस्व वसूली स्थगित करने और रोजगार के लिए मनरेगा के अंतर्गत शीघ्र कार्य शुरू होने की बात सुनकर अवश्य किसानों का मनोबल बढ़ा होगा। मैरीन ड्राइव में कार्यक्रम सुनने के बाद छत्तीसगढ़ नगर में रहने वाले श्री पुखराज साहू ने कहा कि ‘रमन के गोठ’ से समाज के सभी वर्गों की चिंता और सरोकार जाहिर होते हैं। कार्यक्रम से खेती, शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, अधोसंरचना विकास और स्वच्छता से संबंधित सरकार की अनेक योजनाओं की जानकारी लोगों को मिली है।

क्रमांक-3372/कमलेश

Date: 
11 Oct 2015