Homeमुख्यमंत्री की पहल : नये भवन में लगेगी राशन दुकान

Secondary links

Search

मुख्यमंत्री की पहल : नये भवन में लगेगी राशन दुकान

Printer-friendly versionSend to friend

सरपंच से किया लोकार्पण का आग्रह

ग्राम सुराज के आठवें दिन  अचानक तेन्दूनाला और गेंदपुर पहुंचे डॉ. रमन सिंह

तेन्दूनाला में हाईस्कूल भवन स्वीकृत : गेंदपुर में अगले साल से हायर सेकेण्डरी स्कूल

रायपुर, 26 अप्रैल 2012

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने लोकार्पण के इंतजार में खाली पड़े राशन दुकान सह गोदाम को देखकर आज राजनांदगांव जिले के ग्राम तेन्दूनाला (विकासखंड डोंगरगांव) में स्थानीय सरपंच श्रीमती लीला बाई मंडावी से इसका लोकार्पण करने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने उनसे कहा कि वह कल इस भवन का लोकार्पण करते हुए वहां उचित मूल्य दुकान लगाना शुरू कर दें। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री नौ दिनों के प्रदेश व्यापी ग्राम सुराज अभियान के आठवें दिन आज अचानक इस गांव में पहुंचे। उन्होंने वहां ग्रामीणों के साथ बाजार चौक के नजदीक पीपल पेड़ की छांव में चौपाल लगाकर लोगों की समस्याओं और जरूरतों के बारे में उनसे बातचीत की।

    मुख्यमंत्री को जब यह मालूम हुआ कि गांव में उचित मूल्य दुकान-सह-गोदाम  के लिए भवन तैयार हो चुका है, लेकिन उद्धाटन की प्रतीक्षा में उसका उपयोग नहीं किया जा रहा है, तो उन्हें स्थानीय सरपंच को कल से ही इसका लोकार्पण कर दुकान शुरू करने की सलाह दी। मुख्यमंत्री ने तेन्दूनाला के बाद कबीरधाम (कवर्धा) जिले के ग्राम गेंदपुर (विकासखंड सहसपुर-लोहारा) में भी आकस्मिक रूप से पहुंचकर ग्रामीणों से मुलाकात की। दोनों गांवों की चौपालों में लोगों ने अपनी समस्याओं और जरूरतों के बारे में मुख्यमंत्री के साथ खुलकर विचार-विमर्श किया। डॉ. रमन सिंह ने तेन्दूनाला की चौपाल में ग्रामीणों की आग्रह पर वहां हाईस्कूल भवन निर्माण सहित गांव की पेयजल समस्या के निराकरण के लिए स्थल जल प्रदाय योजना के तहत नलकूप खनन की स्वीकृति दी। डॉ. रमन सिंह को ग्रामीणों ने बताया कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत तेन्दूनाला से आसरा तक वर्ष 2005-06 में लगभग आठ किलोमीटर सड़क बनवायी गयी थी, इसकी हालत खराब हो गयी है। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन के अधिकारियों को इसकी मरम्मत जल्द करवाने के निर्देश दिए। डॉ. रमन सिंह ने तेन्दूनाला में बिजली की बेहतर आपूर्ति के लिए एक अतिरिक्त ट्रांसफार्मर लगवाने और पशु औषधालय के उपकेन्द्र की स्थापना भी जल्द करवाने की घोषणा की। उन्होंने यह भी कहा कि तेन्दूनाला में धान खरीदी का उपकेन्द्र खोला जाएगा। इसके अलावा गांव के दो वार्डों में तीन-तीन लाख रूपए की लागत से सीमेंट कांक्रीट सड़क बनवायी जाएगी। स्थानीय ग्राम पंचायत सचिव की कार्यशैली के बारे में ग्रामीणों से शिकायत मिलने पर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि सचिव को बदल दिया जाए।

    डॉ. रमन सिंह ने ग्राम आसरा के पास सूखा नाले पर पुल निर्माण की मांग किए जाने पर ग्रामीणों से कहा कि इसे लोक निर्माण विभाग के माध्यम से बनवाया जाएगा। उन्होंने गांव में प्रवेश द्वार निर्माण के लिए लोक सभा सांसद श्री मधुसूदन यादव से उनकी सांसद निधि से राशि दिलाने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने वहां सिंचाई योजना के लिए सर्वेक्षण करवाने की भी घोषणा की। लोकसभा सांसद श्री मधुसूदन यादव, क्षेत्रीय विधायक श्री खेदूराम साहू और जिला पंचायत अध्यक्ष श्री दिनेश गांधी भी मुख्यमंत्री के अचानक आगमन की जानकारी मिलते ही तेन्दूनाला पहुँच गए थे। यह गांव जिला मुख्यालय राजनांदगांव से लगभग 25 किलोमीटर की दूरी पर है। मुख्यमंत्री ने वहां से कबीरधाम जिले के ग्राम गेंदपुर (विकासखंड सहसपुर-लोहारा) पहुंचकर ग्रामीणों के साथ चौपाल में विचार-विमर्श के बाद कई विकास कार्यों की स्वीकृति तुरन्त प्रदान कर दी। उन्होंने बिजली का एक अतिरिक्त ट्रांसफार्मर लगवाने, गांव की ग्यारह के.व्ही. विद्युत लाईन को दशरंगपुर के स्थान पर रामपुर से जोड़ने, अगले वर्ष से हायर सेकेण्डरी स्कूल खोलने और गेंदपुर से दशरंगपुर तक डब्ल्यू, बी.एम. सड़क स्वीकृत करने का ऐलान किया। डॉ. सिंह ने गेंदपुर में ग्राम गौरव पथ योजना के तहत सीमेंट कांक्रीट सड़क निर्माण के लिए दस लाख रूपए की स्वीकृति प्रदान करते हुए तालाब में पचरी के सौन्दर्यीकरण और मुक्तिधाम में शेड निर्माण सहित ग्राम सिंगघौरी में तीन लाख रूपए सी.सी. रोड निर्माण के लिए मंजूर करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि नंदी गांव में तालाब में पचरी का निर्माण किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने गांव की एक जरूरतमंद महिला श्रीमती बुधियारिन बाई धुर्वें को पांच हजार रूपए का स्वेच्छानुदान भी तत्काल मंजूर करने का निर्णय लिया। उन्होंने गेंदपुर, बंधी और दशरंगपुर में युवाओं के क्रिकेट क्लबों को पांच-पांच हजार रूपए और ग्राम अमलीडीह (ग्राम पंचायत बंधी) के एक जरूरतमंद ग्रामीण श्री जगन्नाथ प्रसाद पाण्डेय को दस हजार रूपए के स्वेच्छानुदान की स्वीकृति भी तुरन्त प्रदान कर दी। मुख्यमंत्री के साथ आज के ग्राम सुराज दौरे में उनके विशेष सचिव श्री सुबोध कुमार सिंह और ओ.एस.डी. श्री विक्रम सिसोदिया भी थे।

क्रमांक- 429/स्वराज्य

Date: 
26 Apr 2012