Homeसार्वजनिक स्थलों पर शराब पीने वाले लगभग सात हजार लोगों के विरूध्द कार्रवाई

सार्वजनिक स्थलों पर शराब पीने वाले लगभग सात हजार लोगों के विरूध्द कार्रवाई

Printer-friendly versionSend to friend

789 कोचियों के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज

रायपुर, 19 जनवरी 2012

छत्तीसगढ़ में सार्वजनिक स्थलों पर शराब पीने वालों तथा शराब कोचियों के खिलाफ चालू वित्तीय वर्ष में आबकारी विभाग द्वारा चलाए गए अभियान में 31 दिसम्बर 2011 तक लगभग सात हजार लोगों के खिलाफ आबकारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की गयी। इनमें छह हजार 800 लोगों को सार्वजनिक स्थल पर शराब पीते हुए पकड़ा गया। इन सभी के खिलाफ न्यायालय में प्रकरण दर्ज कर जुर्माना वसूली की कार्रवाई की गयी। इसी तरह प्रदेश में अवैध शराब की बिक्री के रोकथाम और शराब कोचियों के धरपकड़ के लिए चलाए गए अभियान में 789 कोचियों के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज किया गया।
आबकारी विभाग के अधिकारियों ने आज यहां बताया कि रायपुर जिले मे सर्वाधिक एक हजार 809 लोगों को सार्वजनिक स्थलों पर शराब पीते हुए पकड़ा गया। इनके खिलाफ आबकारी अधिनियम की धारा-36(4) के तहत न्यायालय में प्रकरण पेशकर जुर्माना वसूल किया गया। इसी तरह महासमुंद जिले में 191, धमतरी जिले में 234, दुर्ग जिले में एक हजार 168, राजनांदगांव जिले में 902, कबीरधाम जिले में 112, बस्तर जिले में 87, उत्तर बस्तर (कंाकेर) जिले में 44, दक्षिण बस्तर (दंतेवाड़ा) जिले में 24, बिलासपुर जिले में 906, जांजगीर-चाम्पा जिले में 257, कोरबा जिले में 211, रायगढ़ जिले में 507, जशपुर जिले में 215, सरगुजा जिले में 90 और कोरिया जिले में 43 लोगों को सार्वजनिक स्थलों पर शराब पीते पकड़ा गया। आबकारी विभाग द्वारा शराब कोचियों के खिलाफ भी कार्रवाई की गयी। रायपुर जिले में 155, महासमुंद जिले में 95, दुर्ग जिले में 102, कबीरधाम जिले में 07, जांजगीर-चाम्पा जिले में 365, रायगढ़ जिले में 36, सरगुजा जिले में 18 और कोरिया जिले में 11 कोचियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए आपराधिक प्रकरण दर्ज किया गया है।
उल्लेखनीय है कि आबकारी अधिनियम के नवीन संशोधन के अनुसार सार्वजनिक स्थलों पर पहली बार शराब पीते पाए जाने पर एक हजार रूपए से पांच हजार और दूसरी पर पकड़े जाने पर पांच हजार से दस हजार रूपए तक जुर्माना तथा तीन माह के कारावास का प्रावधान है। इसी तरह पांच लीटर से अधिक शराब रखने पर पहली बार पकड़ाने पर छह माह से दो वर्ष तक कारावास और न्यूनतम दस हजार से पचास हजार रूपए तक जुर्माना का प्रावधान है। दूसरी बार निर्धारित सीमा से अधिक शराब रखने पर बीस हजार से दो लाख रूपए तक जुर्माना और एक वर्ष से पांच वर्ष तक कारावास की सजा हो सकती है। होटल और ढाबों में अवैध शराब बेचते पहली बार पकड़ाने पर एक वर्ष की सजा तथा न्यूनतम पांच हजार से 25 हजार रूपए तक जुर्माना का प्रावधान है।

क्रमांक-4666/कुशराम
 

Date: 
19 Jan 2012