Homeरायपुर : ग्यारह सौ वर्ष पुराने मंदिर परिसर में ‘रमन के गोठ’ : किसानों के हित में किए गए कार्यो के लिए लोगों ने दिया धन्यवाद

Secondary links

Search

रायपुर : ग्यारह सौ वर्ष पुराने मंदिर परिसर में ‘रमन के गोठ’ : किसानों के हित में किए गए कार्यो के लिए लोगों ने दिया धन्यवाद

Printer-friendly versionSend to friend

रायपुर,  10 जनवरी 2016

राजधानी रायपुर के पुरानी बस्ती क्षेत्र के अन्तर्गत महामाया मंदिर वार्ड स्थित ब्रम्हपुरी में आज लगभग ग्यारह सौ वर्ष पुराने विरंचीनारायण एवं नरसिंहनाथ मंदिर के प्रांगण में आज सवेरे बड़ी संख्या में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की रेडियो वार्ता रमन के गोठ को सुनने उत्साह पूर्वक एकत्र हुए। आकाशवाणी सहित सभी एफ.एम. केन्द्रों से हर महीने के दूसरे रविवार को प्रसारित होने वाले ‘रमन के गोठ’ की पांचवी कड़ी को लोगों ने चौपाल लगाकर सुना और प्रसन्नता व्यक्त करते हुए अपनी प्रतिक्रियाएं दी।
पुरानी बस्ती निवासी श्री नितिन शर्मा ने कहा कि मैं एक किसान हूूॅ और मुख्यमंत्री जी के द्वारा किसानों के हित में किये गए प्रयासों के लिए उन्हें धन्यवाद देता हूं। श्री शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री जी द्वारा किसानों  के हित में ब्याज माफ करने और राहत राशि देने का जो निर्णय लिया गया है वह प्रसंशनीय है। शीतला चौक व्यापारी संघ पुरानी बस्ती के अध्यक्ष श्री भरत जैन ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने हमेशा प्रदेश के कमजोर तबकों के बारे में पहले सोचा है। अपनी योजनाओं से वो हर घर, परिवार और व्यक्ति के साथ जुड़ रहे हैं। मुख्यमंत्री जी ने मनरेगा के तहत साल में 150 दिन के स्थान पर 200 दिन का रोजगार उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है जिससे साल के आधे से अधिक समय तक जरूरतमंदों को रोजगार मिलने की गारंटी मिली है, जिससे निश्चित ही उनकी आर्थिक स्थित में सुधार होगा।
ब्रम्हपुरी स्थित नौवीं शताब्दी के विरंचीनारायण एवं नरसिंहनाथ मंदिर के महंत श्री देवदास जी का कहना है कि शासन द्वारा चलाई जा रही योजनाएं अच्छी हैं, योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन से छत्तीसगढ़ विकास के पथ पर निरंतर आगे बढ़ रहा है और विश्व में अपनी पहचान बनाता जा रहा है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के निरंतर विकास और अच्छे काम के लिए मुख्यमंत्री धन्यवाद के पात्र हैं।  चौपाल में आई कई महिलााओं ने शासन द्वारा शुरू किए गए आंगनबाड़ी गुणवत्ता अभियान की तारीफ की। महामाया मंदिर वार्ड की पूर्व पार्षद श्रीमती सरिता वर्मा ने कहा कि प्रदेश के प्रत्येक बच्चे और महिला के स्वास्थ्य और पोषण की चिंता मुख्यमंत्री जी ने की है। बच्चे छत्तीसगढ़ और देश का भविष्य हैं, वे बीमार और कुपोषित न रहें इसके लिए मुख्यमंत्री जी द्वारा की गई पहल स्वागत योग्य है,इसके लिए जनता का सहयोग भी उनके साथ है। चौपाल में ब्रम्हपुरी सेवा समिति की उपाध्यक्ष श्रीमती सीमा सिंग, श्रीमती सीमा देवांगन, रिटायर्ड उप संचालक ग्राम उद्योग श्री रूपराम देवांगन, श्री दीपक कुमार चंद्राकर सहित कई बच्चे और बुजुर्ग उपस्थित थे।


क्रमांक-4876/रीनू
 

Date: 
10 Jan 2016