Homeरायपुर : उत्साहवर्धक प्रतिक्रियाएं : आकाशवाणी से ‘रमन के गोठ’ की सातवीं कड़ी : लोगों ने सुनी मुख्यमंत्री के दिल की बात

Secondary links

Search

रायपुर : उत्साहवर्धक प्रतिक्रियाएं : आकाशवाणी से ‘रमन के गोठ’ की सातवीं कड़ी : लोगों ने सुनी मुख्यमंत्री के दिल की बात

Printer-friendly versionSend to friend

रायपुर, 13 मार्च 2016

छत्तीसगढ़ के नागरिकों को मुख्यमंत्री द्वारा आकाशवाणी के जरिए प्रत्येक माह के दूसरे रविवार की जाने वाली मासिक रेडियो वार्ता ‘रमन के गोठ’ से अपार खुशी मिल रही है। राज्य के प्रत्येक जिलों में इसे लोगों द्वारा बड़े मनोयोग से सुना जा रहा है। इसी श्रृंखला में आज भी राज्य के लोक शिक्षण केन्द्रों सहित गांव-गली, चौपालों, कस्बों और शहरी इलाकों के अलावा कई जगहों पर लोगों को मुख्यमंत्री के दिल की बातें सुनते हुए देखा गया। ‘रमन के गोठ’ के इस सातवीं कड़ी के प्रसारण को लेकर हरेक वर्ग के लोगों में अभुतपूर्व उत्साह भी देखने को मिला।
बलौदाबाजार-भाटापारा- विकासखंड भाटापारा के विधायक आदर्श ग्राम देवरी तथा कसडोल विधायक आदर्श ग्राम छेरकापुर के लोक शिक्षण केन्द्र में उपस्थित ग्रामीणों ने ‘‘रमन के गोठ’’ की प्रशंसा करते हुए कहा रमन के गोठ से हमें जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी मिलती है।
बालोद- विकासखण्ड बालोद के ग्राम संुदरा के श्री छगन देशमुख ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह हर पल किसानों की चिंता की है। प्रदेश के सूखा पीड़ित किसानों की मदद के लिए नये वित्तीय वर्ष 2016-17 के मुख्य बजट में दो हजार करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है, निश्चित ही इससे किसान लाभान्वित होंगे। आमापारा बालोद की कु. ध्रुववंदना ने कहा कि मुख्यमंत्री ने स्कूल-कॉलेजों की परीक्षाओं के नतीजों में असफल छात्र-छात्राओं से निराश नहीं होने की अपील कर उनका हौसला बढ़ाया है। उन्होंने पेपर और नम्बर के बारे में किसी भी संदेह या शिकायत पर टोल फ्री नम्बर 0771-2331001 पर समस्या सुनने की बात कही, वह उसे अच्छा लगा।
नारायणपुर- में रमन के गोठ कार्यक्रम श्रवण करने फरसगांव लोक शिक्षा केन्द्र में मौजूद सरपंच श्रीमती रामेश्वरी गोस्वामी ने आगामी 22 मार्च को विश्व जलदिवस पर मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह का पानी के संरक्षण और सदुपयोग का संदेश को बहुत ही उपयोगी और महत्वपूर्ण बताया। इस दौरान सरपंच श्रीमती गोस्वामी ने विगत 21 फरवरी को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा धमतरी जिले की बकरी बेचकर शौचालय बनाने वाली बुजुर्ग महिला कुंवर बाई का उनके पैर छूकर उनका सम्मान किए जाने से काफी प्रभावित होकर उन्हें समाज के लिए प्रेरक निरूपित किया।
दन्तेवाड़ा - कन्या शिक्षा परिसर पातररास की अधीक्षिका श्रीमती शारदा कुंजाम ने कहा कि माई लोगन शब्द हमेशा से मुख्यमंत्री के भाषणों में और अन्यत्र छत्तीसगढ़ी  में सुनते हैं लेकिन इसके इतने गहरे पर्याय हैं और यह संबोधन हमें कितनी शक्ति देता है इस बारे में आज पता चला। मुख्यमंत्री का छत्तीसगढ़ की धरती से सहज लगाव है और इसी वजह से हर बार रमन के गोठ में उनका खास अंदाज खासा लुभाता है। पिछली बार उन्होंने पीले चावल के साथ राजिम कुंभ का निमंत्रण देकर लोगों का मन मोह लिया था, इस बार अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस में छत्तीसगढ़ की अपनी शैली वाले माई लोगन अंदाज हम सबके दिल को छू गया।
सूरजपुर-’’रमन के गोठ’’ के सामूहिक श्रवण ग्राम मानपुर की महिला श्रीमती जानकी एवं श्री देवनारायण रजवाड़े ने कहा कि मुख्यमंत्री तीज तिहार कर बधाई ला हम के देहत हैं अउर हमन के दुख-सुख कर भी धियान देथे।
कोरिया- श्री बृजमोहन साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो रमन के गोठ दिल को गहराई से छूने वाली होती है। इससे उन्हें नई नई जानकारियां मिलती हैं। जिससे उन्हें गौरान्वित महसूस होता है। उन्होनंे मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ की मुक्त कंठ से सराहना की।
अम्बिकापुर-रमन के गोठ हर हमन के बढिया लगेल। यह विचार सरगुजा जिलें के ग्राम डिगमा की सरपंच  श्रीमती सुमिंत्रा देवी ने ’’रमन के गोठ’’ की सातवी कड़ी सुनने के बाद व्यक्त की।
जशपुर- श्रीमती मीरादेवी ने कहा कि इस कार्यक्रम में महिला सशक्तिकरण सहित अन्य जानकारी प्राप्त हुई। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम जनोपयोगी है।
रायपुर- राजधानी रायपुर के हीरापुर स्थित दृष्टिबाधित बालिका पुनर्वास केंद्र ’प्रेरणा’ छात्रावास में बालिकाओं ने आज मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के रेडियो कार्यक्रम ’रमन के गोठ’ सुनकर उत्साहजनक प्रतिक्रिया दी। मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ी भाषा में जय जोहर कहा तो बालिकाओं ने खुशी का इजहार किया। रायपुरा निवासी श्री गोविंदराम बसोने ने कहा कि रमन के गोठ के माध्यम से मुख्यमंत्री आम जनता से संवाद करते है। इसमे निरंतरता बनी रहनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बजट में शिक्षा-स्वास्थ्य के लिए प्रयास किए गए है, वह सराहनीय है। इससे निश्चित ही हमारा राज्य उन्नति की ओर अग्रसर होगा।
कांकेर- शिक्षा सुविधाओं से देश के भावी पीढ़ी अच्छे नागरिक बनेंगे- श्रीमती परवीन मरकाम कन्हारपुरी की श्रोता श्रीमती परवीन मरकाम नेे कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा बच्चों के शैक्षणिक विकास के लिए संचालित योजनाएं महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि इससे गरीब बच्चों को शिक्षा का बेहतर अवसर मिल रहा है। शिक्षा की योजनाओं से देश में श्रेष्ठ नागरिक तैयार करने मदद् मिलेगी। कन्हारपुरी की रमन के गोठ की श्रोता श्रीमती अनिता सिरदार ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा आज के कार्यकम में परीक्षा में असफल विद्यार्थियों का मनोबल बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों की समस्या समाधान के लिए मुख्यमंत्री काफी गंभीर हैं। दूरभाष नम्बर से सीधे मुख्यमंत्री से बात करने की दी गई सुविधा से विद्यार्थियों का मनोबल बढ़ेगा और वे अप्रिय कदम नहीं उठायेंगे।
कोण्डागांव- ग्राम मालाकोट में नवसाक्षर महिलायें शांतिबाई, कलावती, रामदई, पार्वती ने मुख्यमंत्री के संवाद को महिलाओं के प्रति प्रेरणादायी बताया और उन्होने कहा कि 20 मार्च 2016 को महापरीक्षा अभियान में वे अवश्य सम्मिलित होंगी तथा दूसरी अन्य महिलाओं को भी साक्षर होने के लिए जागरूक करेंगी। ग्राम मालाकोट के उपसरपंच मोहनराम नेताम ने बताया कि मुख्यमंत्री के रेडियो प्रसारण को सुनना एक सुखद अनुभव है। मुख्यमंत्री द्वारा सीधे संवाद करने तथा योजनाओं की जानकारी देने से ग्रामीणों को सहज ही जानकारी उपलब्ध हो जाती है। इसलिए मुख्यमंत्री के ‘रमन के गोठ’ को उनके गांव में नियमित रूप से सुना जाता है।
बिलासपुर - जिले के मस्तुरी निवासी श्री दुखीराम गढ़ेवाल ने ‘रमन के गोठ’ को सुनकर कहा कि इससे बड़ी तसल्ली मिलती है। प्रदेश के मुख्यमंत्री ने आम जनता के दुखःदर्द को जाना है। बिलासपुर के दौरे पर पहंुचे ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार के राष्ट्रीय निगरानी समिति के सदस्य डॉ. अंबुज महापात्र ने भी रमन के गोठ का प्रसारण सुना और कहा कि आम लोगों से सीधे मुख्यमंत्री की सीधे बातचीत हो रही है। यह जानकर बहुत अच्छा लगा। लोग इसके माध्यम से योजनाओं की जानकारी प्राप्त करते हैं। यह बहुत ही अच्छा प्रयास है। कुछ इसी तरह की प्रतिक्रिया महिला सरपंच सुनीता विनोद सारथी, मस्तूरी जनपद पंचायत करारोपण अधिकारी रेवाराम सोनकर, सतीश टण्डन, राजेश श्रीवास्तव आदि ने भी व्यक्त किए।
कवर्धा- आज मुख्यमंत्री के गोठ कार्यक्रम के प्रसारण में उन्होंने छत्तीसगढ़ के स्व. संत पवन दीवान जी के योगदान को रेखांकित किया और उन्हें अपनी विनम्र श्रंद्धाजलि दी। जिले की सभी ग्राम पंचायतों के साथ-साथ शासकीय स्कूल, उपजेल के कैदियों तथा कवर्धा के बस स्टैण्ड, नवीन बाजार चौक, गुरूगोविंद सिंह चौक,भारत माता चौक सहित ग्राम पंचायत भवनों में व्यवस्था की गई थी। इसके अलावा जिले के दूर-दराज के अंचलों, आदिवासी इलाकों में भी इस कार्यक्रम के सुनने की व्यवस्था की गई थी। साहित्यकार श्री नीरज मंजीत ने कहा कि वे रमन के गोठ कार्यक्रम का प्रसारण हमेशा ध्यान से सुनते है।

महासमुन्द - ग्राम मचेवा के ग्रामीण श्री मंशा यादव, श्रीमती बुधिया कोसरे ने कहा कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश में महिला सशक्तिकरण के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी से महिलाओं को फायदा होगा। कक्षा 11वीं के छात्र श्री नान्हूराम साहू, नितेश कोसरे ने बताया कि मुख्यमंत्री के संदेश से परीक्षा को लेकर मन में बोझ उतर गया है। ग्राम संतपाली के श्री मोहन सिंह राय ने बताया कि जनऔषधि केन्द्र प्रारंभ होने से ग्रामीणों को सस्ती जेनरिक दवाईयां उपलब्ध होंगी।
धमतरी - जनपद पंचायत धमतरी की अध्यक्ष श्रीमती रंजना साहू ने कहा कि पूरे देश में स्वच्छता अभियान के लिए रोल मॉडल बन चुकीं जिले की श्रीमती कुंवर बाई यादव को प्रधानमंत्री द्वारा सम्मानित किया जाना हम सबके लिए अत्यंत हर्ष का विषय है, श्रीमती यादव के प्रयास वास्तव में अनुकरणीय हैं। वरिष्ठ नागरिक श्री डिपेन्द्र साहू ने ‘रमन के गोठ‘ के माध्यम से प्रतिमाह मुख्यमंत्री द्वारा आमजनता के संबोधन की सराहना करते हुए कहा कि इसके जरिए शासन द्वारा किए जा रहे नवाचारों की संक्षिप्त जानकारी मिलती है।
सुकमा - साक्षरता प्रेरक सुजिता कश्यप ने कहा कि रमन के गोठ से लोक शिक्षा केन्द्रों में अक्षर ज्ञान प्राप्त करने वाले नव साक्षरों को शासन की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी मिलती हैं और ग्रामीण उन योजनाओं के प्रति सक्रियता दिखाने लगे हैं। साक्षरता प्रभारी श्रीनिवास वासु ने कहा कि रमन के गोठ से मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश के आम जनता से सीधा संवाद शासन और आम जनता के बीच की दूरी को कम करती हैं तथा योजनाओं का लाभ लेने का अवसर प्राप्त होता हैं।
बीजापुर - आदर्श गुरूकुल विद्यालय, कस्तूरबा गांधी विद्यालय, सहित स्कूल, आश्रम, छात्रावास व पंचायत भवनों में मुख्यमंत्री की बात सुनने के लिए काफी उत्साह रहा। भैरमगढ़ के नेलसनार, पातरपारा व गदामली के पंचायत भवन में बड़ी संख्या में ग्रामीण व बच्चे रेडियो वार्ता सुनने के लिए उपस्थित रहे। बीजापुर के धनोरा, तूमनार व नैमेड़ में बड़ी संख्या में लोगो ने ’रमन के गोठ’ का प्रसारण सुना। इसी तरह उसूर, आवापल्ली, चेरामंगी, भोपालपटनम, मद्देड़, रूद्रारम में भी रेडियो प्रसारण के साथ-साथ टी.वी. प्रसारण को लोगो ने देखा।
बलरामपुर: रामानुजगंज - रमन के गोठ के संबंध मे प्रतिक्रिया देते हुए ग्राम आरागाही की सरपंच श्रीमती फुलकुमारी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के इस कार्यक्रम को अच्छा बताया। उन्होंने कहा कि उनकी यह सोच से आम जनता को बहुत लाभ मिलेगा और अपने मन की बात रेडियो द्वारा सीधे हम तक पहुंचा रहे हैं। शासकीय योजनाओं को सीधे हम तक पहुंचा रहे हैं। यह हम सभी ग्रामीणों के लिये लाभकारी है।
मुंगेली - जिले के ग्राम देवगांव की सिरीमती मनोरमा पटेल, सिवबती, कमला, बिनदाबाई, संगीता, सावित्री पूछे म बताईन रमन के गोठ बने लागिस कार्यक्रम म किसम किसम के जानकारी मिलिस। कृष्ण कुमार गंधर्व अउ नेतराम पटेल के कहना रहिस पहली बार रमन के गोठ सुन के बढ़िया लगिस।
रायगढ़ - रायगढ़ जनपद पंचायत के विधायक आदर्श ग्राम लोइंग के लोक शिक्षा केन्द्र में गोठ के सुनने की व्यवस्था की गयी थी, जहां सरपंच श्रीमती विमला सिदार ने मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश महिला एवं बालिकाओं की बेहतरी एवं सम्मान के लिए किए जा रहे प्रयासों की सराहना की। साक्षर प्रेरक सुश्री रजनी निषाद ने लोगों को सस्ती और अच्छी गुणवत्ता वाली जेनेरिक दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित सरकार के प्रयासों की सराहना की। अस्सी वर्षीय वृद्ध श्री दामोदर प्रसाद ने कहा कि मुख्यमंत्री राज्य के सभी वर्गो की चिन्ता करते हैं और सबको कुशहाल देखना चाहते हैं। श्री रामदीन गुप्ता का मानना है कि रमन के गोठ कार्यक्रम एक लोकप्रिय कार्यक्रम बन चुका है, इसके जरिए वे प्रदेश की जनता को नयी-नयी जानकारियां लोगों को देते हैं।
बस्तर (जगदलपुर) - नक्सल प्रभावित दरभा विकासखण्ड के ग्राम कामानार के पंचायत भवन में व्यवस्था की गयी थी, जहां सरपंच श्री मायाराम नाग सहित बड़ी संख्या में ग्रामवासी जुटे। श्रीमती गंगा यादव द्वारा महिला सशक्तिकरण के लिए जा रहे प्रयासों की सराहना की। श्री बलवीर नेताम ने परीक्षा के दौरान होने वाले तनाव को दूर करने के लिए मुख्यमंत्री द्वारा दिए गए संदेश के लिए आभार व्यक्त किया।
जांजगीर: चाम्पा - श्रीमती चन्द्रकांता राठौर ने कहा कि महिलाओं के नाम पर सम्पत्ति खरीदी में स्टाम्प ड्यूटी से छूट, मुख्यमंत्री कन्यादान योजना, सरस्वती सायकल योजना तथा बालिका की निःशुल्क शिक्षा के बारे में बताया। इससे बालिका शिक्षा को बढ़ावा मिलेगा।       श्रीमती आरती तिवारी ने कहा कि गरीब परिवार में दो बेटियों के जन्म पर प्रत्येक नवजात बेटी के नाम पर राज्य सरकार 5 हजार रूपये पांच साल तक हर साल जमा कर रही है। जब बेटी 18 वर्ष की हो जाएगी तो उसे एक लाख रूपये मिलेंगे। ग्राम पंचायत के सचिव श्री नवधा कुमार यादव ने कहा कि जन्म और मृत्यु पंजीयन का प्रमाण पत्र प्रत्येक नागरिक और प्रत्येक परिवार के लिए एक महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है। शासन की विभिन्न योजनाओं का लाभ लेने के लिए भी इसकी जरूरत पड़ती है।
बेमेतरा - नवीन सब्जी मार्केट में नगरवासियों के लिए सुनने की व्यवस्था की गयी थी। “रमन के गोठ” के संबंध में अशोक सोनी, राजा पांडेय, मिलन चौहान एवं सब्जी विक्रेताओं ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह को रेडियो के माध्यम से आमजनों/नवयुवकों और बोर्ड परीक्षा के विद्यार्थियों के प्रति उनकी लगाव, आत्मीयता और उत्साहवर्धन से वे काफी प्रभावित हुए। गोठ के माध्यम से मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश की संस्कृति, तीज त्यौहारों, किसानों और व्यापारियों के लिए सरकार के निर्णयों का अच्छा समावेश किया है।  

 


क्रमांक-6062/सुदेश

Date: 
13 Mar 2016