हमारे बारे में

शासन और जनता के बीच शासकीय सूचनाओं के नियमित आदान-प्रदान में जनसम्पर्क विभाग एक महत्वपूर्ण माध्यम एवं सम्पर्क की भूमिका निभाता है। वास्तव में यह विभाग, शासन-प्रशासन, जनता और लोकतंत्र के चौथे स्तंभ मीडिया के बीच सेतु का काम करता है। जन संचार के विभिन्न माध्यमों (समाचार पत्र, रेडियो, टेलीविजन, सोशल मीडिया एवं आउटडोर पब्लिसिटी आदि) के सहयोग से राज्य शासन के नीतियों, कार्यक्रमों और जन कल्याणकारी फैसलों की जानकारी आम जनता तक पहुंचाना इस विभाग का मुख्य उददेश्य है। 01 नवम्बर 2000 को 26 वें राज्य के रूप में देश के नक्शे पर छत्तीसगढ़ राज्य के बनने के साथ ही छत्तीसगढ़ शासन का जनसम्पर्क विभाग अस्तित्व में आ गया। राज्य की स्थापना के दिन से ही जनसम्पर्क विभाग कार्यशील है। वर्तमान में जनसंपर्क संचालनालय, इंद्रावती भवन अटल नगर,नवा रायपुर में स्थित है। प्रदेश के सभी 28 जिलों में जिला जनसंपर्क कार्यालय तथा नई दिल्ली में छत्तीसगढ़ सूचना केन्द्र संचालित हैं। जनसम्पर्क की सहयोगी संस्था के रूप में छत्तीसगढ़ संवाद कार्य कर रहा है।
राजधानी रायपुर स्थित जनसम्पर्क संचालनालय और इसके अधीनस्थ सभी 28 जिला जनसम्पर्क कार्यालयों सहित छत्तीसगढ़ सूचना केन्द्र नई दिल्ली द्वारा शासकीय प्रचार-प्रसार का कार्य किया जा रहा है। इन कार्यालयों के माध्यम से प्रतिदिन विभिन्न शासकीय गतिविधियों और उपलब्धियों पर आधारित समाचार,विशेष लेख,सफलता की कहानियां आदि प्रकाशन सामग्री नियमित रूप से समाचार माध्यमों को उपलब्ध करायी जाती है। क्षेत्र प्रचार के अन्तर्गत विभाग द्वारा छायाचित्र प्रदर्शनी और चयनित कला मंडलियों, सूचना शिविरों के माध्यम से भी शासकीय प्रचार-प्रसार का कार्य किया जाता है। संचालनालय, जिला जनसंपर्क कार्यालयों और मीडिया के बीच सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए वेबसाईट, ई-मेल और सोशल मीडिया के माध्यम से समाचार और सूचनाओं का सम्प्रेषण होता है। जनसम्पर्क संचालनालय की वेबसाईट का डोमेन आईडी- http://dprcg.gov.in है।
समाचार पत्रों में छपने वाली महत्वपूर्ण खबरों की कतरनें, ई-क्लिपिंग्स और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर आने वाले महत्वपूर्ण समाचारों की जानकारी विभाग द्वारा शासन तक पहुंचायी जाती है। शासकीय योजनाओं के कार्यक्रमों, सरकार की नीतियों एवं निर्णयों के व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु विभिन्न अवसरों पर जनसम्पर्क विभाग (सहयोगी संस्था छत्तीसगढ़ संवाद के माध्यम से) शासकीय प्रचार साहित्य जैसे पोस्टर, पॉम्पलेट्स, पुस्तिका आदि प्रकाशन कर जन सामान्य को वितरित करता है। राज्य शासन के विभिन्न विभागों के शासकीय विज्ञापन भी जनसम्पर्क संचालनालय द्वारा जारी किए जाते हैं। पत्रकार कल्याण और पत्रकार अधिमान्यता के काम भी विभाग द्वारा किए जाते हैं। विभाग में समाचार शाखा, संचार शाखा, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया शाखा, पत्र-परिनिरीक्षण शाखा, विज्ञापन शाखा, पंजीयन शाखा, क्षेत्र प्रचार शाखा, प्रकाशन शाखा, पत्रकार कल्याण शाखा,पत्रकार अधिमान्यता शाखा के माध्यम से काम संपादित किया जाता है।


महत्वपूर्ण लिंक