Homeरमन के गोठ(रमन चो गोठ)(हल्बी) :आकाशवाणी से प्रसारित विशेेष कार्यक्रम (दिनांक 12 जून , 2016, समय प्रातः 10.45 से 11.05 बजे तक)

Secondary links

Search

रमन के गोठ(रमन चो गोठ)(हल्बी) :आकाशवाणी से प्रसारित विशेेष कार्यक्रम (दिनांक 12 जून , 2016, समय प्रातः 10.45 से 11.05 बजे तक)

जमाय सुनतो लोग मन के जोहार!

पुरूष उद्घोषक की आरे से:-

  •    आकाशवाणी चो महत्वपूर्ण प्रसारण ‘‘रमन चो गोठ’’ ने आपन सपाय के हार्दिक स्वागत करूंसे, अभिनंदन करूंसे।
  •     जमाय सुनतो लोग मन! आजी ‘‘रमन चो गोठ’’ चो 10वीं कड़ी चो प्रसारण आसे। ये बेरा ने आमी माननीय मुख्यमंत्री महोदय डॉ. रमन सिंह जी चो स्वागत करूंसे ।

मुख्यमंत्री जी द्वारा

  •    सपाय साथी -संगी, सियान जुवान, आया बहिन मन के जय जोहार।
  •    सबले पहिल मैं तुमन मन सपाय के ‘‘विकास पर्व’’ चो बधाई देयेंसें
  •     प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी चो नेतृत्व ने आमचो केन्द्र सरकार चोे दूई बरख पूरा करून भाति, देश ने विकास चो नुवा-नुवा कीर्तिमान स्थापित करेंसे। ये उपलब्धि अउर गौरव ले देशवासी मन के जोडतो काजे ये ‘‘विकास पर्व’’ मनाउंसे, जेमे आमचो प्रदेश चो बले उत्साह जनक भागीदारी आसे।
  •    मोदी जी चो प्रयास ले भारत माता चो अउर आमी सपाये चो माथा दुनिया ने ऊचा होलीसे।
  •    ये बरख देश चो जीडीपी चो विकास दर 7.6 प्रतिशत बाढ़लीसे अउर भारत विश्व ने पहिल नम्बर ने ईलीसे।
  •    मोदी जी ने प्रधान मंत्री किसान बीमा योजना, जनधन योजना, मुद्रा योजना, डिजिटल इंडिया असन कइ योजना मन के लागू करलोसे।
  •     जेन ने जन-जन चो सशक्तिकरण होयसे अउर छत्तीसगढ़ ने बले समृद्वि अउर खुशहाली चो गोटोक नुवा दौर शुरू होलीसे।
  •     छत्तीसगढ़ चो 80 प्रतिशत जनता चो कमाई चो मुख्य जरिया खेती आय। धान चो खेती आमचो अर्थव्यवस्था चो आधार आय।
  •    मोदी जी ने धान चो समर्थन मूल्य 60 रूपया प्रति क्विंटल बढ़ाउन किसान भाई मन के गोटोक बडे सौगात दिलोसे, जेचो फायदा लाखों किसान भाई मन अउर हून मन चो परिवार के मीरूआय।
  •   येचो काजे ‘‘विकास पर्व’’ आमचो सपाय चो देश अउर प्रदेशवासीमन चो पर्व आय। ये सपाय चो नंगत दिन चो शुभ संकेत आसे।
  • महिला उद्घोषक द्वारा
  •     सुनतो लोग मन! गेलो प्रसारण ने आमी सांगुन रलुं कि आपन चो प्रतिक्रियामन जानतो काजे आमी सोशल मिडिया-फेसबुक, ट्विटर चो संग एसएमएस चो उपयोग बले शुरू करलूंसे। चिठ्ठी लिखतो बिता मन चो बले स्वागत आय। आमके हरीक लागेसे कि 9वीं कड़ी चो प्रसारण चो पाटकुती आमके बडे संख्या ने आपन चो प्रतिक्रियामन मिरली। येचो काजे आपन सपाय के जुगे-जुगे धन्यवाद।
  •     आगे बले आपन मन आपलो मोबाईल चो मेसेज बाक्स ने       त्ज्ञळ चो पाटकुती स्पेस धरून आपलो बिचार लिखुन 7668-500- 500 नम्बर ने सेंड करते रहा अउर संदेश चो आखिर ने आपलो नाम-पता लिखुक नी भुलका।
  •     मुख्यमंत्री जी, आमचो सुनतो बिता मन ले जोन प्रतिक्रियामन मिरेसे, हुनमन सपाय चाहसोत कि आपन हुनचो उपरे काइंबले बला ?
  • उत्तर - मुख्य मंत्री जी द्वारा
  •    सत्ते आय ये हरीक चो गोठ आय कि आमचो जागरूक सुनतो लोग मन जुगे धियानले ये कार्यक्रम के सुनसोत, जे विषय हुनमन चो मन ने उठेसे, हुनमन बले लिखुन पठासोत।
  •     फेसबुक ने रोहित सिंह ने गोटोक बाटे जहा कन्यादान योजना चो तारीफ करलो, हुताय दहेज मुक्त भारत बनातो काजे बले चर्चा करलोसे। ये जुगे नंगत गोठ आय।
  •   नशामुक्ति काजे ज्योति गुप्ता, अश्वनी साहू, एस.एन दुबे आदि बले आपलो बिचार संगालासोत। मैं संागुक चाहेसे कि आमी ये दिशा ने लगातार जन-जागरण अभियान चलाऊंसे।
  •     बेमेतरा जिला चो मयंक रेडियों श्रोता संघ ले नारायण प्रसाद वर्मा, धरसीवां, जिला रायपुर चो आकांक्षा रेडियों लिस्नर्स क्लब ले छेदू लाल यादव, तेन्दूभाठा, धमतरी चो उमेन्द्र कुमार निषाद अउर हुनमन चो साथी, कबीरधाम जिला चो दरियानामल मोटवानी अउर हुनमन चो साथी मन ने चिठ्ठी पठाउन सांगला कि ये लोगमन समूह ने बसुन सुनसोत।
  •      मैं आपन सपाय चो ह्दय ले आभारी आसंे, जोन ये कार्यक्रम सुनसोत अउर हुनचो पाठकुत आपलो प्रतिक्रिया बले पठाते रहसोत। सपाय चो नाव चो उल्लेख करतोर संभव नीआय, मांतर मोचो थाने सपाय चो सुझाव अउर पुइत्रे जानकारी अमरेसे।

पुरूष उद्घोषक द्वारा

प्रश्न- मुख्यमंत्री जी आपन ‘‘हमर छत्तीसगढ़’’ योजना शुरू करतो घोषणा करलासास। येचो पाटकुत काय भावना आसें।

उत्तर - मुख्य मंत्री जी द्वारा

  •      उत्तर- येचो जवाब ने स्व. नरेन्द्र देव वर्मा जी चो गीत के मैं दोहराउक चाहेंसे। जेन छत्तीसगढ़ के जन-जन चो गीत आय। छत्तीसगढ़ आया चो छत्तीसगढ़ चो समृद्वि चो अउर छत्तीसगढ़ चो एकता के गोटोक सूत्र ने बांधतो काजे ये गीत पूरा छत्तीसगढ़ चो जन गीत आसे।

‘‘अरपा पैरी के धार महानदी हे अपार

इंदिरावती हर पखारय तोरे पईयां

महूं विनती करव तोर भुॅंइया

जय हो जय हो छत्तीसगढ़ मईया’’

  •      आमचो काजे छत्तीसगढ़ भंुई चो भाग या नंदी डोंगरी नीआय, बल्कि छत्तीसगढ़ आया आय। आमी ईब ले इन्द्रावती तक ले रहतो बिता गोटोक परिवार आसूं। येचो पेट ले जन्म लो पीला आउं। येचो माटी ने खेलुन आमी बाडलूंसे।
  •     छत्तीसगढ़ आया चो गीत के सुनुन भांति आमी सपाय के छत्तीसगढ़ चो तरक्की चो विकास चो अउर हुनके हिन्दुस्तान ने दुनिया ने सपाय ले बेहतर राज्य बनातोर कल्पना के साकार करतोर चो भावना मिरेसें।
  •    खिडिंक-खिडिंक दूर ने भले आमचो बोली- भाषा, खान-पान, रिति-रिवाज अउर संस्कृति बदलू आय। मांतर आमचो सोच-बिचार गोटोक आय, भावना गोटोक आय।
  •    ‘‘आमचो छत्तीसगढ़’’ योजना चो माध्यम ले आमचो येई भावना के छत्तीसगढ़ चो 1 लाख 50 हजार से ज्यादा जनप्रतिनिधि मनचो माध्यम ले छत्तीसगढ़ चो विकास छत्तीसगढ़ चो निर्माण चो पाटकुत सन् 2000 ले 2016 तक जो तरक्की होलीसे छत्तीसगढ़ चो आत्मविश्वास बाड़लीसे।
  •      छत्तीसगढ़ चो विकास चो भावना के आमी जन-जन ले जोडुन जन भावनात्मक लगाव ले हुन के जोडुन आमचो छत्तीसगढ़ योजना चो काम के पूरा करतोर आय।
  •      राजधानी, राज्य चो धड़कन होउ आय। नया रायपुर येइ धड़कन आय, जेके सपाय चो दिल ने धड़कातोर आसें।
  •      येचो काजे प्रदेश भर चो 20 हजार गॉव चो लोग येतो बिता जितरो बले आमचो पंच, सरपंच, जनपद, जिला चो सदस्य या नगर पालिका, नगर पंचायत चो पार्षद आसोत हुन मन सपाय नुवा रायपुर ने येउन आपलो-आपलो क्षेत्र चो माटी अउर पानी आनुन येता वृक्षारोपन चो काम करू आय ताकि 20 हजार गॉव चो फूल, रूख, अउर 20 हजार गॉव चो माटी गोटोक छत्तीसगढ़ के ये गोटोक गुलदस्ता जसन सजातोर आय। जेचो खुशबू ले छत्तीसगढ़ आगे बाडुन महमहायेदे। अउर छत्तीसगढ़ चो विकास आगे बाड़ेदे।
  •      ये आमचो छत्तीसगढ़ चो मूल भावना आसे कि सपाय गोटोक साथ मिसुन 20 हजार गॉव चो आर्शीवाद छत्तीसगढ़ के मिरो, नुवा रायपुर के मिरो विकास चो नुवा संकल्प धरूंन येतो ढ़ाई साल चो कार्य योजना अउर हुनचो क्रियान्वयन चो गोट के हुन मन चो संग करूक होउ आय। जोन पौधा लगाला येतो पीढ़ी हुन रूख के दखुन येतो बेरा ने पीला मन हुन चो नाती-पोती मन चो मया बले छत्तीसगढ़ ले जुडु आय।
  •     छत्तीसगढ़ चो विकास ने जोन तस्वीर आमी बनालूंसे हुनके गॉव-गॉव तक अमरातो योजना आमचो छत्तीसगढ़ योजना आसें।
  •     गोटोक अउर जरूरी गोट आय, आमचो सियान भारत रत्न, पूर्व प्रधानमंत्री अउर आमचो राज्य चो जनमदाता अटल बिहारी वाजपेयी जी जोनबेरा राज्य चो निर्माण सन् 2000 ने करू रला हुन दिन हुनचो कल्पना अउर सपना रली कि आमचो ढ़ाई करोड़ छत्तीसगढ़ वाला मन चो अलग पहिचान बनो।
  •     छत्तीसगढ़ चो पहिचान के बनातो काजे 16 बरख आमी कितरो सफल होलुंसे आगे अउर कितरो विकास करतोर आय ये गोट चोे कल्पना अउर चर्चा आमचो छत्तीसगढ़ योजना ने आमके करतोर आय। अउर येचो काजे आमचो गॉव.-गॉव चो जनप्रतिनिधि मन के हाग देउन छत्तीसगढ़ चो विकास येता चो उद्योग, सपाय कल कारखाना, भिलाई स्टील प्लांट, रायपुर ने आमचो कृषि महाविद्यालय अउर छत्तीसगढ़ चो विकास चो जोन अउर केन्द्र आसें हुन सपाय के दखातो योजना आसें।
  •     जेमे आमचो बलरामपुर ले बीजापुर तक चो सपाय जनप्रतिनिधि रायपुर ने अमरूआत अउर पूरा छत्तीसगढ़ चो प्रवास चो पाटकुत छत्तीसगढ़ चो विकास चो कल्पना के कसन आमी साकार करूंसे हुनमन चो सुझाव आमी सपाय के मिरूआय। आमी गोटोक नुवा छत्तीसगढ़ अउर विकसित छत्तीसगढ़ कल्पना के साकार करूंक सकूंदे।

महिला उद्घोषक द्वारा

  •      सी.एम. साहेब, लेहरा पानी (मानसून) येतो सुनुक होयसे। पानी चो इंतजार आमी सपाय के तो आसेंच मांतर येचो सबले जुगे इंतजार किसान दादा मन के रहू आय। ये हरीक कूदी मौसम चो बारे ने आपन काय संदेश देउक चहसास?

मुख्यमंत्री जी द्वारा

  •     हव! खुबे हरीक गोट आय कि येदंाय नंगत लेहरा पानी (मानसून) चो भविष्यवाणी होलीसें। ये पानी सपाय चो काजे हरीक चो पानी होवो, आमी सपाय चोे किसान मन चो घर ने खुशहाली येवो हुन मन चो बेडाखाड़ा भरूंन रहो। ये सपाय काजे मैं किसान भाई मन के पूरे शुभकामनायें देयेंसें
  •      जितलो तक किसान भाई मन चो सवाल आसें तो हुन मन चो जीवना ये लेहरा पानी (मानसून) चो सफलता उपरे निर्भर आसें। मैं चाहेसे कि सपाय किसान भाई-बहिन नुवा फसल चो तैयारी नंगत ले करोत। आमी जमाये सोसायटी ने खाद-बीज, दवा चो पूरा भण्डारण व्यवस्था करलूंसे। किसान भाई आपलो जरूरत चो अनुसार खाद-बीज, दवा उठाउन नेओत। गोटोक महत्वपूर्ण गोट सांगेसे कि गोटोक महिना पूरे ले उठालोने बले आपन मन के ब्याज नी लागूआय।
  •     सूखा प्रभावित तहसील मन ने हरेक किसान के गोटोक क्विंटल धान-बीज बिना पैसा (फिरी) देतो योजना चलाऊंसे। येचो उपयोग अच्छा ले करा। मैं चाहेंसे कि नुवा फसल जुगे अच्छा येवो अउर आपनमन चो जीवना ने हरीक आनो।
  •      जितलो तक पानी ले येतो बिती आफत चो सवाल आसें, येचो काजे आमी न सिरिप प्रशासन के सचेत करूंसे, बल्कि सपाय जिला मन चो काजे 84 करोड़ रूपया अग्रिम तौर ने उपलब्ध कराउंन दिलूंसे अउर जिला कलेक्टर मन के ये राशि के पूरा उपयोग चो काजे निर्देषित करून दिलेंसे।
  •     मैं खुदे डॉक्टर आंय, येचो काजे देंह (सेहत) चो धियान रखतो सलाह जरूर देयेंसें
  •    पानी ने भुरसुंडी (मच्छर) कीड़ा अउर सांप कटतो चो घटना बले बाडु आय । येबले मच्छरदानी लागाउंन सोतो आदत डाला। सांप काटतो जसन स्थिति ने बैगा-गुनिया, झाड़ा-फूका चो चक्कर ने नी पडुन अस्पताल ने जाहा अउर हुता ‘‘एन्टी स्नेक वेनम’’ सूजी (इंजेक्शन) लगावा। सही उपचार करावा।

उद्घोषक द्वारा

  •      सी.एम. साहेब, गेलो हप्ताह आमी ‘‘विश्व पर्यावरण दिवस ’’ मनालूंसे। सत्ते आय भूई के जीतो लायक बनातोर आमचोये जिम्मेदारी आसे। विकास चो संग प्रकृति चो रक्षा अउर पर्यावरण चो संरक्षण आमचो काजे गोटोक बडे़ चुनौती आय। मुख्य मंत्री जी आपन काय आव्हान (गोट-बात) करूंक चाहसास?

मुख्यमंत्री जी द्वारा

  •     मोके हरीक आसे, कि पर्यावरण संरक्षण चो प्रति लोग मन के अद्भुत जागृति ईलीसे। गॉव-गॉव ने येचो काजे अभियान चलासोत। मैं गोटोक उदाहरण देउक चाहेंसे मांढर बस्ती चो शासकीय हायर सेकेण्डरी स्कूल चो पीला मन चो तारीफ करूक चाहेंसे कि हुन मन आपलो स्कूल ने ‘‘हरियर छत्तीसगढ़’’ अभियान चो तहत 1100 पौधे लगाउंन रला अउर हरेक पीला ने गोटोक-गोटोक पौधा के बचातो जिम्मेदारी धरला। गॉव चो लोग मन के बले येमे सामिल करला अउर सपाय मिसुन हरेक पौधा के बचाउंन संगाला । आजी ये स्कूल ग्रीन कैम्पस बनुन गेलीसे। स्कूल चो प्राचार्या सरिता नासरे चो जुगे नंगत भूमिका रली। ये परिणाम आसे कि नंगत प्रेरणा ले कसन आपन पीला मन के नंगत संस्कार देउआत। हुन मन के पर्यावरण चो अभियान ने कसन जोडुआत अउर कसन हुन मन के जीवनाभर चो काजे गोटोक खुबे सुन्दर आदत चो उपहार देउआत।
  •     येचो असने गोटोक अउर अच्छा प्रयास भारत माता उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, बिलासपुर चो ईको क्लब चो पीला मन मोके मिलुक येउन रला। ये पीला मन जल अउर पर्यावरण संरक्षण चो काजे अद्भुत बूता करलासोत।
  •     जेबे मैं दूर अंचल रायगढ़ अउर जशपुर जिला चो दौरा ने रले तो मोके मिलतो काजे पीला मन ईला हुन मन खुदे सोख्ता गढ्ढा बनाला। येबे तक ये पीला मन 100 ले जादा स्कूल मन ने जाउन भाति न सिरिप सोख्ता गढ्ढा बनालासोत, बल्कि ये पीला मन मिसुन भाति हुता चो नागरिक मन के शहर चो लोग मन के यंे अभियान ने जोड़तो काम करसोत।
  •      गोटोक प्रकार ने प्रशिक्षण देतो काम बले करसोत। ये मन चो द्वारा प्रस्तुतिकरण बले देतोर होयसे। चित्र (फोटो) चो माध्यम ले दखासोत। ये प्रकार ले यदि पीला मन चो समूह 50 गॉव बूलूक सकसोत तो आमी सपाय मिसुन पर्यावरण चो रक्षा चो काजे जल संरक्षण अउर जल संवर्द्वन चो काजे पीला मन ले प्ररेणा धरूं जो आजी भविष्य चो काजे नंगत कार्य योजना चो क्रियान्वयन अउर काम करसोत, मैं हुन मन चो तारीफ करूआंय।
  •    आमचो कुछ गॉव चो दादा मन बले आपलो योजना के आगे बडातोर काम करसोत। गॉव में कुआं खनुन 45 हजार ले आगर नुवा नानी तालाब खनुन, झिरिया (चुवां) खनुन बरसा चो पानी के बचातोर प्रयास करलासोत, अउर सपाय गॉव चो पानी अउर हरियाली चो सौगात देयसोत। ये खबर मन आमचो उत्साह के बढाउ आय।
  •     आमचो प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने गोटोक मनुक ‘‘ गोटोक रूख’’ चो आव्हान करू रला। मोके ये सांगते हरीक लागेसे कि छत्तीसगढ़ ने गोटोक मनुक चो पाछे तीन रूख लगातो चो संकल्प धरलासोत। येचो काजे ‘‘हरियर छत्तीसगढ़’’ अउर पानी बचातोर अभियान चलासोत।
  •     ये असन प्रदूषण मुक्त नंगत छत्तीसगढ़ चो कल्पना के साकार करतो काजे दूई बरख चो वृहत कार्य योजना आमी लागू करलूंसे।
  •     मोके विश्वास आसे कि आमी सपाय मिसुन भाति छत्तीसगढ़ के स्वच्छ, स्वस्थ, प्रदूषण मुक्त अउर हरा-भरा राज्य बनातो काजे सफल होऊदे।

पुरूष उद्घोषक द्वारा

  •     डॉ. रमन सिंह जी, खबर येवू रली कि छत्तीसगढ़ ‘‘ उज्ज्वल योजना’’ लागू करतो बिता देश चो पहिल राज्य बनुन गेलीसे। काय ये योजना मेहरार मन चो काजे आसे ? अउर अगर आसे तो येमें हुन मन के काय लाभ (फायदा) होयदे?

मुख्यमंत्री जी द्वारा

  •      आपन के ये सुनुन आश्चर्य होउआय कि हिन्दुस्तान में, हर बरस ने 5 लाख आमचो आया-बहिनी मन चो मृत्यु सिरिप ये वजह ने होउन जायसे कि भात रांद्तो बेरा जेन धुअंा ले प्रदूषण होउआय हुनले हुन मन के अस्थ्मा, टी.बी. जसन अन्य (बाकी) बिमारी मन होउआय।
  •      गोटोक तथ्य (गोठ) मैं आपन के सांगुक चाहेंसे कि गोटोक बेरा चो भात रांद्तो बेरा आमचो आया-बहिन मन के जितरो धुआं निगलुक पडेसे, ये बिती करीब 400 सिगरेट चो धुआं चो बराबर होउआय।
  •      ये विडंबना आसे कि आजाद भारत चो साढ़े छह दशक पाठकुत बले मेहरार मन के असन बुनियादी समस्या ले छुटकारा नी मिरली।
  •      आजी बले करोड़ों मेहरार मन परम्परागत तरीका ले रसोई (भात रांद्तो) चूल्हा, सिगड़ी आदि चो उपयोग करतो काजे विवश आसोत, जेमे लकड़ी (दारू) कंडा (छेना) या कोयला ईंधन चो रूप ने जलाउआत, जेचो धुआं ले आइंख जरूआय अउर श्वास (सांस) चो बीमारी होउआय।
  •    आमचो संवेदनशील प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने माय-बहिन मन चो तकलीप दूर करतो काजे ‘‘ उज्ज्वला योजना’’ लागू करलोसे।
  •    येचो अलावा मोके लागेसे, कि आमी जेबे आपलो पीला बेरा के सुरता करूंसे अउर हुन दिन के सुरता करूंसे जेब आमचो घर चो माय -बहिन मन दारू जराउन अउर हुन के फूूकून-फूकून कितरो तकलीप ने भात रांद्ते रला। मोके लागे से कि आजी असन मौका आसे कि आमी पूरे प्रदेश चो सपाय माय-बहिन मन चेा ये तकलीप ले मुक्त कराउक सकुवा, अउर छत्तीसगढ़ ने ये योजना चो क्रियान्वयन आमी व्यापक स्तर (बडे स्तर) ने करूंसे।
  •  येतो दूई बरख चो भीतरे राज्य चो 25 लाख गरीब परिवार चो मेहरार मन के हुन मन चो नाव ने रसोई गैस कनेक्शन देउवांव, अउर ये रसोई गैस कनेक्शन 3 हजार 4 हजार 5 हजार रूपया ले नाइ छत्तीसगढ़ सरकार हुन मन के डबल बर्नर चो चूल्हा अउर गोटोक गैस चो सिलेंडर सिरिप 200 रूपया ने देउआय।
  •      ये योजना ले आमी उम्मीद करूंसे कि हर बरख गोटोक करोड़ रूख काटतोके बाचुआय, अउर गोटोक प्रकार ले आमचो माय अउर बहिन मन के भात रांद्तो सुविधा होयदे अउर किसम-किसम चो बीमारी मन ले आमी हुन मन के बचाउक सकूंसे।
  •     इतरो संवेदनशील ‘‘ उज्ज्वला योजना’’ काजे मैं गोटोक दांय फेर माननीय मोदी जी चो प्रति छत्तीसगढ़ चो सपाय आया-बहिनी मन बाटले अभार व्यक्त करेंसे।

पुरूष उद्घोषक द्वारा

   मुख्यमंत्री जी दुनिया ने भारतीय योग चो पुरातन ज्ञान चो लोहा मानसोत। प्रधानमंत्री माननीय मोदी जी चो पहल ले 21 जून के विश्व योग दिवस मनाउक जायसे। काय छत्तीसगढ़ बले येचो काजे तैयार आसे?

मुख्यमंत्री जी द्वारा

  •    मोदी जी ने योग चो प्रचार- प्रसार काजे विश्वस्तरीय अभियान शुरू करला, जेचो कारण यू.एन.ओ. ने दुनिया चो सपाय देश मन चो सहमति दीली कि 21 जून के विश्व योग दिवस चो रूप ने मनाउक जायदे ।
  •      ये असने आमचो पारंपरिक गियान, आमचो संस्कृति, आमचो चेतना के दुनिया ने जीत दर्ज होलीसे। आजी दुनिया चो कई देश योग चो आपलो जीवनशैली ने शामिल करसोत।
  •      वास्तव में (सत्ते आय) योग स्वस्थ अउर प्रसन्नचित रहतो कला आय।
  •    मैं आपन सपाय ले सांगुक चाहेंसे कि आपन कितरो बले व्यस्त राहा, दिन ने कम से कम 20-30 मिनट योग अभ्यास काजे जरूर निकराहा। ये असने आपन न सिरिप स्वस्थ, ऊर्जावान अउर तेजस्वी रहुवांव, बल्कि आपन चो निखरलो बिती प्रतिभा चो चमत्कार ले आपन चो परिवार, समाज, प्रदेश अउर देश के बले फायदा होयदे। मैं आपन मन ले निवेदन करेंसे कि 21 जून के योग चो ये महाअभियान ने जुड़ा (जाहा) अउर आपलो लगे चो स्कूल मन ने  अउर अलग-अलग एन.जी.ओ. जोन ये काम ले जुडलासोत हुन मन संग मिसुन ये राष्ट्रीय अउर अन्तरराष्ट्रीय अभियान ने आपलो भागीदारी जरूर निभावा।
  •    ये माह कबीर जयंती, छत्रसाल जयंती, महाराणा प्रताप जयंती, वीरांगना दुर्गावती चो बलिदान दिवस बले आसे। मैं सपाय के जोहार करेंसे अउर चाहेंसे कि आमी सपाय हुन मन ले प्रेरणा धरून आपलो जीवना के सार्थक बनावां।
  •   येतो प्रसारण ने आपन मन चो संग काइबले नुवा विषय ने चर्चा करेंदे तेब तक काजे जय जोहार! जय हिन्द! जय छत्तीसगढ़!

पुरूष उद्घोषक द्वारा

  •     सुनतो लोग मन, येबे मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह जी ले आमचो आगेचो भेटगाट होयदे 10 जुलाई के।
  •     सुनतो लोग मन आपन, आपन जुगे रूचि धरून ये कार्यक्रम के सुनसात। येचो माध्यम ले खुबे रोचक अउर महत्वपूर्ण जानकारी आपन मन के मिरूआय, जेके धरून गोटोक रोचक शुरूआत ‘‘ क्विज’’ चो माध्यम ले करूरलूं।

प्रथम क्विज चो सवाल रली-

0          जनऔषधि केन्द्र ने काय बिती दवाई मिरूआय?

संभावित जवाब रली-

A   जेनेरिक                             B    ब्रांडेड

येचो सही जवाब आसे A जेनेरिक।

खूबे हरीक चो गोट आसे कि खूबे जन लोग मन जवाब पठालासोत अउर हुनमन ने लगभग शत-प्रतिशत लोग मन सही जवाब पठालासोत। सबले पहिल जोन 5 लोग मन जवाब पठालासोत, हुनमन आसोत- 1. भूपेन्द्र वर्मा, जिला बलौदाबाजार 2. रितेश साहू, जिला राजनांदगॉव, 3. गुरजीत कौर भाटिया, जिला दुर्ग, 4. शिमेन्द्र कुमार संिह, बलरामपुर अउर 5. राजेश प्रधान, जिला रायगढ़।

महिला उद्घोषक द्वारा

  •      येबे बेरा आसे आजी चो, अर्थात द्वितीय (दूसर) क्विज के सवाल चो-

सवाल आसे- 21 जून के दुनिया कोन दिवस चो रूप ने मनाउआय?

A   विश्व शांति दिवस               B   विश्व योग दिवस

आपलो जवाब देतो काजे आपलो मोबाईल चो मेसेज बाक्स ने फ। लिखा अउर स्पेस देउन । या ठए जे बले आपन के सही लागेसे, हुन गोटोक अक्षर लिखुन 7668-500-500 नम्बर ने पठाउन दिया। संग ने आपलो नाव-पता जरूर लिखा।

  •    आपन सपाय रमन चो गोठ सुनते रहा अउर आपलो प्रतिक्रिया ले आमके अवगत कराते राहा।

 

 

Date: 
12 June 2016 - 8pm