Homeधमतरी : ‘रमन के गोठ‘ में धमतरी के किसान बाजार की सराहना : 23वीं कड़ी के प्रसारण में मुख्यमंत्री ने कहा- अन्य जिलों में भी हो ऐसी पहल

Secondary links

Search

धमतरी : ‘रमन के गोठ‘ में धमतरी के किसान बाजार की सराहना : 23वीं कड़ी के प्रसारण में मुख्यमंत्री ने कहा- अन्य जिलों में भी हो ऐसी पहल

Printer-friendly versionSend to friend

धमतरी 09 जुलाई 2017

प्रदेश के मुखिया डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियो-वार्ता के कार्यक्रम ‘रमन के गोठ‘ की 23वीं कड़ी के प्रसारण में मुख्यमंत्री ने धमतरी शहर में जिला प्रशासन द्वारा स्थापित किए गए किसान बाजार की सराहना की तथा अन्य जिलों में इसी तरह की सकारात्मक पहल और किसानों के लिए नवाचार किए जाने की बात कही। इस बार का ‘रमन के गोठ‘ खेती-किसानी के संवाद पर आधारित रहा। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में लागू विभिन्न योजनाओं का उल्लेख आज के प्रसारण में किया। इसके प्रसारण के तुरंत बाद स्थानीय जनप्रतिनिधियों और ग्रामीणों ने अपनी प्रतिक्रयाएं प्रकट कीं।
    जिला स्तर पर इस बार ‘रमन के गोठ‘ को सुनने की व्यवस्था ग्राम पंचायत गंगरेल के आश्रित ग्राम मरादेव के सामुदायिक भवन में किया गया था, जहां पर जनपद पंचायत धमतरी की अध्यक्ष श्रीमती रंजना साहू, सदस्य श्रीमती अनिता यादव सहित कलेक्टर डॉ. सी.आर. प्रसन्ना एवं जिले के अधिकारीगण और ग्रामीण काफी संख्या में उपस्थित थे। ‘रमन के गोठ‘ का श्रवण करने के पश्चात् जनपद पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती रंजना साहू ने कहा कि कलेक्टर डॉ. सी.आर. प्रसन्ना की विशेष पहल पर जिला प्रशासन द्वारा किसान बाजार स्थापित किया गया है जिसका जिक्र आज मुख्यमंत्री ने किया। उन्होंने आगे कहा कि किसानों को उनकी मेहनत की वास्तविक कीमत दिलाने में यह बेहद कारगर साबित हुआ है। किसान बाजार में ताजे सब्जियों का लाभ शहरवासियों को सुबह-सुबह मिल रहा है, जिसकी सर्वत्र प्रशंसा हो रही है। जनपद सदस्य श्रीमती साहू ने कहा कि सौर सुजला योजना को जिले में बेहतर प्रतिसाद मिल रहा है। विद्युत पहुंचविहीन गांवों में यह वरदान साबित हो रही है।
ग्राम पंचायत गंगरेल के सरपंच श्री महेश सविता ने ‘रमन के गोठ‘ सुनने के बाद अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि प्रदेश शासन का झुकाव जैविक खेती की ओर है जो बिलकुल उचित है। जैविक पद्धति अपनाने से फसल, मिट्टी को बेहतर बनाया जा सकता है। आज इस पद्धति से खेती की महती जरूरत महसूस की जा रही है। उप सरपंच श्रीमती पुष्पा निषाद ने कहा कि आज के ‘रमन के गोठ‘ में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अभिव्यक्ति खेती-किसानी पर ही केन्द्रीत था। खरीफ सीजन में बेहतर फसल के लिए उन्होंने प्रदेश के किसानों को अपनी शुभकामनाएं भी दीं। ग्राम मरादेव के वयोवृद्ध ग्र्रामीण श्री नेहरूराम ध्रुव ने कहा कि वह हर माह ‘रमन के गोठ‘ सुनते हैं। प्रदेश के मुखिया की जुबानी सहज भाषा में योजनाओं की जानकारी भी मिलती है। ग्रामीण श्री धन्नूराम नेताम, श्री अशोक ध्रुव, पंच श्रीमती महेश्वरी साहू, श्रीमती रूपाली ध्रुव ने कहा कि मुख्यमंत्री ने बारिश के इस मौसम में अधिक से अधिक पेड़ लगाने का अनुरोध किया जो प्रकृति और पर्यावरण के प्रति उनकी सकारात्मक सोच को प्रकट करता है। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश भर में ब्लॉक और जिला स्तर पर खोले गए कृषक सूचना केन्द्र की जानकारी भी उन्हें ‘रमन के गोठ‘ से मिली। इनके अलावा ग्रामीण श्री गैंदलाल यादव, नोहरूराम आदि ने भी ‘रमन के गोठ‘ सुनने के बाद अपनी सकारात्मक प्रतिक्रिया दी। नगर निगम धमतरी में भी महापौर अर्चना चौबे सहित अधिकारियों ने आज ‘रमन के गोठ‘ का अनुश्रवण किया।            

      क्रमांक-35/482/सिन्हा
 

Date: 
09 Jul 2017