Homeधमतरी : ग्रामीणों के बीच लगाई विधायक और कलेक्टर ने चौपाल : ग्राम कुम्हड़ा (बनरौद) में जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर आयोजित

Secondary links

Search

धमतरी : ग्रामीणों के बीच लगाई विधायक और कलेक्टर ने चौपाल : ग्राम कुम्हड़ा (बनरौद) में जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर आयोजित

Printer-friendly versionSend to friend
हितग्राहियों को चेक, रेडियो-छाता और नैपियर रूट वितरित किए गए
 
धमतरी 19 जुलाई 2017
 
नगरी विकासखण्ड के ग्राम कुम्हड़ा (बनरौद) में आयोजित जिला स्तरीय जनसमस्या निवारण शिविर में विधायक श्री श्रवण मरकाम और कलेक्टर डॉ. सी.आर. प्रसन्ना ने ग्रामीणों के बीच चौपाल लगाकर उनकी समस्याएं सुनीं। इस अवसर पर विशेष पिछड़ी जनजाति के सात हितग्राहियों रेडियो व छाता वितरित किए गए, साथ ही मनरेगा के तहत महिला श्रमिकों को मातृत्व अवकाश भत्ता के तौर पर चेक बांटे गए तथा छह पशुपालकों को नैपियर रूट प्रदान किया गया। इस दौरान जनपद पंचायत नगरी के उपाध्यक्ष श्री रामदयाल साहू सहित स्थानीय जनप्रतिनिधिगण मौजूद थे।
शिविर स्थल पर कलेक्टर ने ग्रामीणों के बीच चौपाल लगाकर सीधे आवेदन लेकर उनकी समस्याएं सुनीं। इस दौरान पेयजल के लिए नलकूप खनन, स्कूलों में विषय शिक्षकों की कमी, प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास स्वीकृति, इंदिरा गांधी मातृत्व सहायता योजना के तहत राशि दिलाने, सौर सुजला योजना के तहत नलकूप खनन सहित मनरेगा की लंबित मजदूरी के भुगतान व एनीकट निर्माण जैसी मांगें कलेक्टर के समक्ष रखीं, जिस पर कलेक्टर ने फौरी तौर पर कार्रवाई के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया। साथ ही युवाओं को कौशल विकास प्रशिक्षण लेने तथा प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत ऋण लेकर व्यवसाय करने के लिए प्रोत्साहित किया। इस अवसर पर विधायक श्री मरकाम ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि ग्रामीणों और आमजनता की समस्याएं सुनने के लिए शिविर एक बेहतर माध्यम है जिसके तहत जिला स्तर के अधिकारी शिविर लगाकर मांगों व शिकायतों के समाधानकारक हल निकालने का प्रयास करते हैं। ऐसे शिविरों का लाभ ग्रामीणों का जरूर उठाना चाहिए। 
ग्राम बनरौद के मिडिल स्कूल प्रांगण में आयोजित शिविर में कुल 69 आवेदन प्राप्त हुए, जिनमें से 60 प्रकरणों का निराकरण मौके पर किया गया। इसमें सर्वाधिक 43 आवेदन पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग को प्राप्त हुए। इसी प्रकार शिक्षा विभाग को 10, राजस्व विभाग को छह, जल संसाधन विभाग और आदिवासी विकास विभाग को दो-दो तथा लोक निर्माण विभाग को तीन और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, स्वास्थ्य और उद्योग विभाग को एक-एक आवेदन प्राप्त हुए। शिविर में विधायक श्री मरकाम द्वारा महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजनांतर्गत ग्राम पंचायत सियादेही की महिला श्रमिक श्रीमती तुलेश्वरी को, ग्राम माकरदोना की सुहानबाई को तथा ग्राम सियारीनाला की श्रीमती फुलेश्वरी बाई को मनरेगा श्रमिक मातृत्व अवकाश के भत्ते के तौर पर 5,160 रूपए प्रति हितग्राही के मान से चेक प्रदान किए गए। इसी तरह पशुचिकित्सा विभाग छह हितग्राही को नैपियर रूट बांटे गए और आदिवासी विकास विभाग की ओर से सात हितग्राहियों ग्राम कुम्हड़ा के श्री हिरदेराम, चमरूराम, हीरासिंह, दयालुराम, हीरालाल, चिंताराम और ग्राम केरेगांव के श्री मन्नूराम को रेडियो और छाता वितरित किए गए। इसके अलावा उद्यानिकी विभाग की ओर से 300 फलदार पौधे ग्रामीणों को बांटे गए। कलेक्टर एवं जिले के अन्य अधिकारी शिविर स्थल तक सिटी बस से गए थे। इस अवसर पर एसडीएम नगरी श्री सोरी सहित विभिन्न विभाग के अधिकारी और काफी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।  
 
         क्रमांक-79/526/सिन्हा
 
Date: 
19 Jul 2017