Homeगरियाबंद : मुख्यमंत्री ने राज्योत्सव, नोटबंदी, धान खरीदी का रमन के गोठ में किया जिक्र : ग्राम कुकदा में ग्रामीणों ने सुना रमन के गोठ कार्यक्रम

Secondary links

Search

गरियाबंद : मुख्यमंत्री ने राज्योत्सव, नोटबंदी, धान खरीदी का रमन के गोठ में किया जिक्र : ग्राम कुकदा में ग्रामीणों ने सुना रमन के गोठ कार्यक्रम

Printer-friendly versionSend to friend

प्रधानमंत्री के 500 और 1000 नोटबंदी के निर्णय का किया

गरियाबंद, 13 नवंबर 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा आज सवेरे आकाशवाणी के रायपुर केन्द्र से प्रसारित अपनी मासिक रेडियो वार्ता ‘रमन के गोठ’ को जिलेभर में उत्साह से सुना गया। विकसखण्ड छुरा के ग्राम पंचायत कुकदा के ग्रामीणों ने आज सामुहिक रेडियों श्रवण किया। अपर कलेक्टर रोक्तिमा यादव भी इस अवसर पर रमन के गोठ सुनने मौजूद थी। इस अवसर पर क्षेत्र की जनपद सदस्य दुलेश्वरी साहू, सरपंच परिक्षित ध्रुव, उप सरपंच नन्दिनी यादव मौजूद थे।
ग्रामीणों ने इस अवसर को यादगार बताते हुए कहा कि रमन के गोठ सुनने के लिए हमसब लालायित रहते हैं। ग्रामीणों ने 500 और एक हजार के नोटों को प्रचलन से बाहर किये जाने का स्वागत करते हुए कहा कि इससे भ्रष्टाचार रूकेगी और भारत में गरीबी कम होगी। गांव के किसान रामजानी सिंह, युवा लोमश राम ध्रुव और देवलाल ने साफ तौर पर कहा कि यह हमारे प्रधानमंत्री का ऐतिहासिक कदम है। बड़े कार्य के लिए थोडी़ सी दिक्कत जरूर आती है। परन्तु भविष्य के लिए सुखद परिणाम आयेंगे। जब मुख्यमंत्री ने अपने प्रसारण में बच्चों को बाल दिवस की बधाई दी, उस दौरान रेडियो प्रसारण सुनने आई स्कूली बालक-बालिकाओं ने खुशी व्यक्त की। ग्राम के शासकीय प्राथमिक शाला में पढ़ने वाली कक्षा तीसरी की दामिनी निषाद, शीला, देवेन्द्र और कक्षा पांचवी के छात्र ठाकुर राम खुशी से उछल पड़े। इन बच्चों ने कहा कि मुख्यमंत्री जी ने हम बच्चों को याद करके अपना आगाध स्नेह बच्चों के प्रति दर्शाया है। आगामी 15 नवम्बर से होने वाले धान खरीदी की जानकारी पर गांव के किसानों ने खुशी जाहिर की। सीमान्त किसान पियारी राम, बिसराम, बसंत राम, अवध राम ने कहा कि हम लोगों ने धान विक्रय हेतु सहकारी समिति में पंजीयन कराया है और समर्थन मूल्य पर धान बेचेंगे। इन किसानों ने सौर सुजला योजना के तहत पात्र होने पर लाभ उठाने की बात भी कही। किसानों ने कहा कि वास्तव में सौर सुजला योजना से सिंचाई के रकबे में वृद्धि होगी और किसान खुशहाल होंगे।
मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने अपने 15वीं रेडियो प्रसारण कार्यक्रम में आज प्रदेश के किसानों को राज्य सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर 15 नवम्बर से धान खरीदी के लिए की गई तैयारियों की जानकारी दी। उन्होंने राज्य निर्माण के सोलह साल पूर्ण होने पर तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी को राज्य निर्माता के रूप में याद किया और राज्योत्सव के अवसर पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी तथा केन्द्रीय गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह के आगमन, पूरे देश में मनाए जा रहे पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जन्म शताब्दी वर्ष की भी चर्चा की। डॉ. सिंह ने प्रधानमंत्री द्वारा काले धन की विकराल समस्या पर अंकुश लगाने के लिए पांच सौ और एक हजार के नोटों को बंद करवाने के निर्णय का स्वागत करते हुए रेडियो प्रसारण में कहा - श्री नरेन्द्र मोदी ने भारत की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए एक ऐतिहासिक कदम उठाया है। डॉ. रमन सिंह ने सभी लोगों को गुरूनानक जयंती, कार्तिक पूर्णिमा और पुन्नी मेला सहित सभी तीज-त्यौहारों की शुभकामनाएं दी।
मुख्यमंत्री ने रमन केे गोठ में धान उपार्जन केन्द्रों में तैनात कर्मचारियों और उपार्जन व्यवस्था में लगे अधिकारियों तथा कर्मचारियों से अपील करते हुए कहा कि किसानों से अच्छा और सम्मानजनक व्यवहार किया जाए। धान उपार्जन केन्द्रों में मक्के की खरीदी भी 15 नवम्बर से शुरू हो रही है, जो 31 मई 2017 तक चलेगी। इस वर्ष मक्के का समर्थन मूल्य 1365 रूपए निर्धारित किया गया है।
मुख्यमंत्री ने अपनी आज की रेडियो वार्ता में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा छत्तीसगढ़ राज्योत्सव में शुरू की गई सौर सुजला योजना की चर्चा करते हुए कहा - इस योजना के तहत दो साल में राज्य के 51 हजार किसानों को सौर ऊर्जा से चलने वाले सिंचाई पम्प बहुत ही रियायती दरों पर दिए जाएंगे। लगभग साढ़े तीन लाख से साढ़े चार लाख रूपए तक लागत वाले सोलर सिंचाई पम्प किसानों को सिर्फ 15 हजार से 30 हजार रूपए में उनकी पात्रता के अनुसार मिलेंगे। इस दौरान गांव के गणमान्य नागरिक, तहसीलदार छुरा इंदिरा मिश्रा, जनपद पंचायत छुरा के मुख्य कार्यपालन अधिकारी विजय नारायण तिवारी सहित महिलाएं एवं बच्चे बड़ी संख्या में मौजूद थे।


क्रमांक - 801/पोषण
 

Date: 
13 Nov 2016