Homeउत्तर बस्तर (कांकेर) : आकाशवाणी से ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम को सभी वर्ग के लोगों ने सुना, कांकेर के न्यू कम्युनिटी हॉल में जिला स्तरीय आयोजन

Secondary links

Search

उत्तर बस्तर (कांकेर) : आकाशवाणी से ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम को सभी वर्ग के लोगों ने सुना, कांकेर के न्यू कम्युनिटी हॉल में जिला स्तरीय आयोजन

Printer-friendly versionSend to friend

उत्तर बस्तर (कांकेर) 13 सितंबर 2015

मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह के आकाशवाणी से आज प्रातः प्रसारित ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम को सभी वर्ग के लोगों ने सुना और इस कार्यक्रम को शासन और आम जनता के लिए महत्वपूर्ण बताया।
    कांकेर के न्यू कम्यूनिटी हॉल में आज ‘‘रमन के गोठ’’ का जिला स्तरीय रेडियो श्रवण कार्यक्रम आयोजित किया गया । इस कार्यक्रम को पंचायत, जनप्रतिनिधि, प्रशासनिक, विभागीय अधिकारियों, व्यावसायियों, नागरिकों, छात्र-छात्राओं सहित सभी वर्ग के लोगों ने सुना और इसकी प्रशंसा की । श्रोताओं ने ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम को बहुत उपयोगी बताया। श्रोताओं ने इसे शासन और आम जनता में सीधा संवाद का एक बेहतर और पारदर्शी माध्यम निरूपित किया। आज प्रसारित ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने श्रोताओं का अभिवादन करते हुए कहा कि रेडियो छत्तीसगढ़ की ढाई करोड़ जनता से सीधे संवाद स्थापित करने का श्रेष्ठ माध्यम है। उन्होंने कहा कि वे प्रत्येक माह के दूसरे रविवार को नियमित रूप से आम जनता से रेडियो के माध्यम से सीधे संवाद करेंगे और आम जनता की समस्याएं, प्रतिक्रियाएं, सुझाव सुनकर इसका संवेदनशीलता से निराकरण किया जाएगा।
अल्पवर्षा की स्थिति में शासन किसानों के साथ-
आकाशवाणी से आम जनता को संबोधित कर मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में अल्पवर्षा की स्थिति है। राज्य शासन संकट की इस घड़ी में किसानों के साथ हैं। उन्होंने आश्वस्त किया कि राज्य में सिंचाई के जो भी साधन है उनसे किसानों को खरीफ फसल के लिए पानी हर संभव उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि इसके लिए जलसंसाधन विभाग को निर्देश पूर्व में ही जारी किए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि अल्प वर्षा प्रभावित क्षेत्रों में पर्याप्त सूखा राहत कार्य खोले जायेंगे। उन्होंने सिंचित किसानों से अपील की है कि वे 15 सितंबर तक फसल बीमा अवश्य करायें ताकि उन्हें इसका लाभ मिल सके।
छत्तीसगढ़ की सांस्कृतिक विरासत की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने सभी बहनों को तीजा पर्व की बधाई दी और उनके सुहाग की सुरक्षा के लिए मंगल कामना की। उन्होंने ईद-उल-अदाह त्यौहार के लिए मुस्लिम भाईयों को भी अपनी अग्रीम बधाई और शुभकामनाएं दी।
शिक्षागुणवत्ता सुधार और स्कूलों में बुनियादी सुविधाएं-
छत्तीसगढ़ी के विद्यार्थियों को राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धा के योग्य बनाने पूर्व राष्ट्रपति डॉ.ए.पी.जे.अब्दुल कलाम शिक्षा गुणवत्ता अभियान का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके तहत् शालाओं की चार स्तर पर ग्रेडिंग की जाएगी। सी.डी.ग्रेड शालाओं में शिक्षा के स्तर को बढ़ाने के प्रयास होंगे। उन्होंने कहा कि शालाओं में शिक्षकों की नियुक्ति, उपस्थिति, पेयजल, स्वच्छता और अन्य आवश्यक अधोसंरचना का विकास सुनश्चित किया जाएगा। उन्होंने शिक्षा गुणवत्ता अभियान के लिए शालाओं में आयोजित होने वाली ग्राम सभाओं में प्रत्येक व्यक्ति को उपस्थित होने का अनुरोध किया। आकाशवाणी से आम जनता से सीधे संवाद में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने राज्य में मुख्यमंत्री जनधन, दुर्घटना बीमा सुरक्षा योजना में लक्ष्य से अधिक सफलता के लिए छत्तीसगढ़ के लोगों का धन्यवाद ज्ञापित किया।
स्वच्छता अभियान से सभी जुड़ें-
स्वच्छ भारत अभियान के महत्व की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह ने कहा कि स्वच्छता से ही स्वस्थ जीवन और विकास संभव है। उन्होंने इस अभियान में सभी लोगों की भागीदारी की अपील की और कहा कि स्वच्छता के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ की पहचान स्थापित करने सभी का सहयोग जरूरी है।
    मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह ने कहा कि वे आकाशवाणी से रेडिया के माध्यम से प्रति माह के दूसरे रविवार को राज्य की जानता से रूबरू होते रहेंगे। वे ‘‘रमन के गोठ’’ में आगामी माह की 11 अक्टूबर को आम जनता से मुख़ातिब होंगे। उन्होंने कार्यक्रम के संबंध में आम जनता से सुझाव प्रतिक्रिया मार्गदर्शन देने का अनुरोध किया। आज आयोजित ‘‘रमन के गोठ’’ को कांकेर में अच्छा प्रतिसाद मिला।
योजनाअें के प्रभावी क्रियान्वयन में उपयोगी- सी.ई.ओ. जिला पंचायत
जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री चंदन कुमारने कहा कि मुख्यंत्री डॉ रमन सिंह का ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम आम जनता के साथ-साथ प्रशासन के लिए भी उपयोगी है। इस कार्यक्रम से राज्य शासन की जनहितैषि सभी योजनाआंे के सकारात्मक क्रियान्वय में मदद मिलेगी।
कार्यक्रम पारदर्शी शासन प्रणाली का प्रतीक-श्री भरत मटियारा
कांकेर के श्री भरत मटियारा ने कहा कि ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम से राज्य के गांव-गांव  के लोग राज्य शासन की योजना, समस्या पर शासन की मंशा, उनके निराकरण के उपाय सहित योजनाओं की सीधे जानकारी आम जनता को मिलेगी। इससे शासन और आम जनता के बीच की दूरी मिटेगी। वहीं शासन की कार्यप्रणाली में पूरी पारदर्शिता आएगी और आम जनता जागरूक बनेगी।
    कांकेर के ही श्री दीपक खटवानी ने कहा कि ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम आम जनता के लिए उपयोगी और महत्वपूर्ण कार्यक्रम है।
श्री सरस मेहरा ने कहा कि बस्तर जैसे पिछड़े क्षेत्र के लिए इस कार्यक्रम का विशेष महत्व है। उनहोंने कहा कि इसे राज्य शासन की योजनाओं के प्रति इस क्षेत्र के लोग जागरूक होंगे। शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय की छात्राएं शालिनी मंडावी, सुष्मा उसेण्डी ने कहा कि शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने का शासन का कार्यक्रम छात्रों के हित में है इससे शिक्षा का स्तर बढ़ेगा। श्रीमती शालिनी राजपूत ने ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम को आमजनता के लिए महत्वपूर्ण और उपयोगी कार्यकम कहा। उन्होंने कहा कि बहनों को तीजा की बधाई और उनके सुहाग की रक्षा की मंगल कामना महिलाओं के प्रति मुख्यमंत्री की संवेदनशीलता का प्रतीक है।    
सामूहिक रेडिया श्रवण कार्यक्रम के अवसर पर अपर कलेक्टर श्री एम.एल.सिरदार, संयुक्त कलेक्टर श्री प्रकाश सर्वे, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्री संकल्प साहू, जिला शिक्षा अधिकारी श्री राजेन्द्र झा, प्राचार्य लाईवलीहुड कॉलेज श्री बघेल, उप संचालक समाज सेवा श्री दिलीप कुर्रे, अन्य विभागीय अधिकारी, पार्षद श्री पप्पु मोटवानी, अन्य पार्षद गण, गणमान्य नागरिक, शिक्षकगण, छात्र-छात्राएं, पत्रकारगण तथा बड़ी संख्या में शहर के नागरिक उपस्थित थे।                           

     क्रमांक/887/सहारे
 

Date: 
13 Sep 2015