Homeउत्तर बस्तर (कांकेर) : कांकेर जिले के पुरातात्विक महत्व के स्थानों का विकास और संरक्षण किया जायेगा - मुख्यमंत्री

Secondary links

Search

उत्तर बस्तर (कांकेर) : कांकेर जिले के पुरातात्विक महत्व के स्थानों का विकास और संरक्षण किया जायेगा - मुख्यमंत्री

Printer-friendly versionSend to friend

कांकेर में ’’रमन के गोठ’’ कार्यक्रम को हजारों लोगों ने सुना
 

उत्तर बस्तर (कांकेर) 11 अक्टूबर 2015

आकाशवाणी से प्रत्येक माह के द्धितीय रविवार को प्रसारित होने वाले लोकप्रिय कार्यक्रम ’’रमन के गोठ’’ में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि कंाकेर जिले में जितने भी पुरातात्विक महत्व के स्थान है, उनके संरक्षण और विकास किए जायेंगे। मुख्यमंत्री का आकाशवाणी कार्यक्रम रमन के गोठ का अगाज कंाकेर जिले के चारामा विकासखंड के ग्राम चारभाठा के श्री दिनेश वर्मा के पुरातात्विक महत्व के संरक्षण पर आधारित प्रश्न से संबंधित था। मुख्यमंत्री ने बताया कि शासन के सर्वेक्षण से पता चला है कि कंाकेर जिले के दुर्गम और दूरस्थ वनांचल क्षे़त्रों उड़कुड़ा, गोटीटोला, खैरखेड़ा, कुलगांव, उड़कुड़ा आदि जगहों में गुफावासी मानवयुग की शैलचित्रों के सबूत मिले है उन्होंने बताया कि चारामा सहित कंाकेर जिले के सभी वनक्षे़त्रों में जितने भी पुरातात्विक महत्व के स्थल है, उनके संरक्षण और विकास के लिए संस्कृति और पुरातत्व विभाग को निर्देश दिए गये है।
कंाकेर में हजारों लोंगों ने सुना रमन के गोठ - मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्धारा आज ’’आकाशवाणी’’ से प्रसारित रमन के गोठ कार्यक्रम को हजारों लोगों द्धारा श्रवण किया गया। जिला प्रशासन द्धारा कंाकेर में जिला स्तरीय श्रवण कार्यक्रम नरहरदेव उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय प्रांगण में आयोजित किया गया। रमन के गोठ कार्यक्रम के प्रसारण के दौरान कलेक्टर श्रीमती शम्मी आबिदी, पुलिस अधीक्षक श्री जितेन्द्रसिंह मीणा, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री चंदनकुमार, अपर कलेक्टर श्री विपीन माझी, पार्षदगण, प्रतिष्ठित नागरिक, श्री भरत मटियारा, सहित नागरिकगण, पत्रकार, छात्र-छात्राएॅं और बड़ी संख्या में शहर वासी उपस्थित थे।
मेरा पत्र शामिल होना मेरे लिए अकाल्पनिक रहा - कंाकेर जिले के चारामा विकासखण्ड़ निवासी श्री दिनेश वर्मा पहले व्यक्ति है जिनका पत्र आज के रमन के गोठ में शामिल किया गया। श्री वर्मा ने बताया कि उन्हे बिल्कुल यकीन नही था कि उनका पत्र आज के रमन के गोठ कार्यक्रम में शामिल होगा। उन्होंने कहा कि उन्हें इस बात की बेहद खुशी हो रही है कि उनके द्धारा कंाकेर के चारामा विकासखण्ड के ग्राम गोटीटोला चंदेली, उड़कुड़ा, गाड़ागौरी में उपलब्ध प्रागैतिहासिक कालीन शैलचित्रों के संरक्षण का पहल करनें पत्र के माध्यम से अनुरोध किया गया था। श्री वर्मा ने पत्र को रमन के गोठ कार्यक्रम में शामिल करने तथा मुख्यमंत्री द्धारा उनके अनुरोध को स्वीकार करने पर अपार खुशी जाहिर की। श्री वर्मा ने कहा कि ’’रमन के गोठ’’ आाकाशवाणी कार्यक्रम में आज जनता का प्रश्न शामिल होना और सुझावों पर कार्यवाई होने से आम जनता तथा शासन के बीच की दूरी समाप्त हो रही है। उन्होंने ’’रमन के गोठ’’ कार्यक्रम श्रोताओं से अपील की कि वे आम जनता संस्कृति सार्वजनिक महत्व के मुद्धों पर आधारित प्रश्न प्रेषित करें। उन्होंने आकाशवाणी के रमन के गोठ कार्यक्रम को दिनोंदिन उपयोगी और लोक प्रिय होने की बात कही।
आत्मीय भावनात्मक लगाव सुदृढ़ होगा- विजय
श्री विजय बोरकर ने कहा कि रमन के गोठ कार्यक्रम से मुख्यमंत्री और आम जनता के बीच भावनात्मक आत्मीय लगाव बढ़ेगा । उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम से मुख्यमंत्री सीधे आम जनता से जुड़ गए हैं।
रमन के गोठ कार्यक्रम की उपयोगिता स्वयं सिद्ध-श्री अनिल शर्मा
उच्च श्रेणी शिक्षक श्री अनिल शर्मा ने कहा कि कांकेर जिले के श्री दिनेश वर्मा के पत्र पर दिए गए सुझाव पर त्वरित अमल से इस कार्यक्रम की सार्थकता सिद्ध हो जाती है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा छत्तीसगढ़ के ओने-कोने में क्या विकास कार्य हो रहे हैं तथा होने वाले है इसकी सीधे जानकारी आम जनता तक पहुंच रही हैं।
सूखा प्रभावित क्षेत्रों में रोजगार के प्रति शासन गंभीर-
रमन के गोठ कार्यक्रम सुनने के बाद कांकेर के श्री के.आर.सिन्हा ने कहा कि मुख्य मंत्री डॉ.रमन सिंह राज्य के अल्पवर्षा प्रभावित क्षेत्रों की समस्याओं के समाधान के लिए गंभीर हैं और समस्याओं पर उनकी सतत् नरज है। उन्होंने सूखाग्रस्त क्षेत्रों में अधिक से अधिक रोजगार मूलक काम खोलने की बात की। सामयिक और प्रभावितों के हित में होना बताया।
शासन आम जनता के बीच सेतु-
साहित्यकार श्री शिवसिंह भदौरिया ने कहा कि रमन के गोठ कार्यक्रम राज्य के मुखिया से सीधे आम जनता के संवाद का सेतु है। उन्होंने कहा कि रमन के गोठ कार्यक्रम मुख्यमंत्री की जनहित में एक अनोखी पहल है।
राज्य का समन्वित विकास का मार्ग प्रशस्त होगा-
कांकेर के बरदेभाठाा वार्ड निवासी श्री राघवेन्द्र रंजन ने कहा कि रमन के गोठ कार्यक्रम से आम जनता सीधे मुख्यमंत्री प्रदेश की योजना, नीति, कार्यक्रमों से अवगत हो रहे हैं। इससे प्रशासनिक विभागीय कार्यों में पारदर्शिता आएगी।
आम जनता से मुख्यमंत्री का सहज भावनात्मक संबंध-संतोष श्रीवास्तव
साहित्यकार श्री संतोष श्रीवास्तव ‘‘सम’’ ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह द्वारा राज्य की संस्कृति, उत्सवों का जिक्र कर आम जनता से उनका सहज जुड़ाव दिखा। उन्होंने चिरायु कार्यक्रम के क्रियान्वयन की जानकारी देने पर राज्य बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति गंभीरता दिखा है।
आम जनता की समस्या समाधान का श्रेष्ठ माध्यम - श्री टंडन
प्राफेसर एवं साहित्यकार श्री आर.पी.टंडन ने कहा कि रमन के गोठ कार्यक्रम छत्तीसगढ़ की जनता के लिए उपयोगी और सार्थक कार्यक्रम है। उन्होंने कहा कि राज्य की योजनाएं कार्यक्रम, नीतियां अब सीधे आम जनता तक पहुंच रहीं है।
महत्वपूर्ण जानकारी मिल रही है-
कांकेर जे.सी.आई. के अध्यक्ष श्री चन्द्रजय मरकाम ने कहा कि रमन के गोठ कार्यक्रम से आम जनता को सीधे उपयोगी और महत्वपूर्ण जानकारियां मिल रही हैं।
बेहतर कार्यसंस्कृति विकसित होगी-मनोज राजपूत
रमन के गोठ कार्यक्रम से आमजनता से सीधे मुख्यमंत्री मुखातिब होने से शासकीय कार्यों में पारदर्शिता आएगी और राज्य में जनहित में बेहरत कार्य संस्कृति का विकास होगा।

Date: 
11 Oct 2015