Homeउत्तर बस्तर (कांकेर) : छत्तीसगढ़ की सफल योजनाएँ लोक सुराज के चौपालों की देन- मुख्यमंत्री : कांकेर के ब्यासकोंगेरा में सुना गया रमन के गोठ

Secondary links

Search

उत्तर बस्तर (कांकेर) : छत्तीसगढ़ की सफल योजनाएँ लोक सुराज के चौपालों की देन- मुख्यमंत्री : कांकेर के ब्यासकोंगेरा में सुना गया रमन के गोठ

Printer-friendly versionSend to friend

ग्रामीणों ने कहा रमन के गोठ कार्यक्रम से आयी योजनाओं से लाभ लेने की जागरूकता

उत्तर बस्तर (कांकेर) 08 मई 2016 

रमन के गोठ कार्यक्रम की 9वीं कड़ी का प्रसारण का आज जिले के कांकेर विकासखण्ड के ग्राम ब्यासकोंगेरा में सामूहिक श्रवण का कार्यक्रम आयोजित किया गया । आज के प्रसारण में लोक सुराज अभियान के महत्व की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा कि लोक सुराज अभियान के दौरान उन्हें गांवों में वृक्ष के नीचे चौपाल में ग्रामीणों से चर्चा में उपयोगी और महत्वपूर्ण सुझाव मिलते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री खाद्यान्न योजना, चरण पादुका वितरण, लघु वनोपजों  की खरीदी सहित छत्तीसगढ़ की सभी फसल योजनाएं लोक सुराज अभियान के चौपालों की देन है। उन्होंने कहा कि गांव केे चौपाल में योजनएं दिल से बनती है। उन्होंने कहा कि लोक सुराज अभियान के दौरान योजनाओं समीक्षा होती है। योजनाओं की जो भी कमियां है उसका पता चलता है। जिसे दूर कर उसे बेहतर बनाने की कोशिश की जाती है। उन्होंने कहा कि लोक सुराज सरकार को अपने कार्यों के मूल्यांकन का एक प्रभावी अभियान है। डॉ रमन सिंह ने कहा कि लोक कल्याणकारी योजनाओं कार्यक्रमों को जनोन्मुखी और पारदर्शी बनाना लोक सुराज अभियान का उद्देश्य है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित संवेदनशील जिला सुकमा के अंतर्गत बनने वाले 250 करोड़ की लागत के पुल का जिक्र करते हुए कहा कि यह पुल छत्तीसगढ़ राज्य को महाराष्ट्र और आन्ध्रप्रदेश को जोड़ेगा। इसी प्रकार 28 किलोमीटर लंबी संवेदनशील क्षेत्र में बन रही सीसी रोड़ का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि लोक सुराज में वे अचानक भेज्जी पहुंचे और स्वयं निर्माणाधीन रोड का लगभग 02 किलोमीटर दूरी तक मोटर सायकल से सफर किया । उन्होंने कहा कि नक्सल प्रभावित भेज्जी गांव उजड़ने के बाद कैसे बस रहा है और गांव बसने से ग्रामीणों को जो खुशी हो रही है उसकी उन्होंने स्वयं अनुभूति की। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोक सुराज अभियान के दौरान अबूझमांड क्षेत्र के 53 ग्रामों में उनके द्वारा विद्युतीकरण की घोषणा की गई। इससे ग्रामीणों में खुशी की लहर दौड आई।
तीन माह में बी.वन खसरे का वितरण-
रमन के गोठ की 9वीं कड़ी में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि राज्य के सभी लोगों को अभियान चलाकर आगामी तीन माह के भीतर बी.वन नक्शा और खसरे की प्रतियां निःशुल्क वितरित कर दी जाएगी। इसी प्रकार उन्होंने आबादी ग्रामीण पट्टा भी निःशुल्क वितरण योजना की शुरूवात भी शीघ्र ग्रामीण क्षेत्रों में करने की बात कही।
जन औषधि केन्द्र से जेनरिक दवाएँ-
आकाशवाणी कार्यक्रम रमन के गोठ में मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य के लोगों को सस्ती गुणवत्ता जेनरिक दवाएं मुहैया कराने राज्य में 108 दुकानें खोली जा रही है। जिसमें 400 प्रकार की जेनरिक दवायं सस्ती कीमत पर उपलब्ध होगी। उन्होंने श्रोताओं से कहा कि वे जरूरत पर जन औषधि केन्द्र से दवा क्रय करें। चिकित्सकों को निर्देश्ति कर मुख्यमंत्री ने कहा कि वे मरीजों के लिए जेनरिक दवा लिखें।
    मुख्यमंत्री ने अक्षय तृतीया की राज्य के लोगों को बधाई देते हुए कहा कि वे राज्य में एक भी बाल विवाह न हो इसके लिए स्थानीय प्रशासन का सहयोग करें। उन्होंने बुद्धपूर्णिमा सेन महराज जयंती, परशुराम जयंती की राज्य के लोगों को बधाई दी और लोगों को दया करूणा, मानवता के मार्ग पर चलकर अपनी जीवन को सार्थक बनाने का आव्हान किया।
रमन के गोठ को मिला अच्छा प्रतिसाद-
कांकेर जिले में रमन के गोठ की 9वीं कड़ी को अच्छा प्रतिसाद मिला। कांकेर के श्री लक्ष्मण कावड़े, व्यासकोंगेरा के श्री जगदीश सलाम, श्री पंकज कुमार श्रीवास, श्री रामेश्वर नागर, पितांबर सोम, सजील नरेटी, श्री कुंजाम, संतकुमार मसीह, भारत सिंह, देवसिंह पोटाई, पुनीतराम, पोटाई आदि ने आज रमन के गोठ कार्यकम का श्रवण किया। उन्होंने कहा कि रमन के गोठ कार्यक्रम में उन्हें राज्य के कोने कोने में हो रहे विकास कार्यों और जनहित की योजनाओं तथा राज्य सरकार की भावी नीति कार्यक्रमों की अच्छी जानकारी मिली। इन श्रोताओं ने कहा कि रमन के गोठ कार्यक्रम शासन प्रशासन के कार्यों में पारदर्शिता लाने महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।
कांकेर के श्री लक्ष्मण कावड़े ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा दंतेवाड़ा जिले में जैविक खेती से किसानों की उन्नति की जानकारी दी । इससे राज्य के अन्य क्षेत्र के किसानों को जैविक खेती की प्रेरणा मिलेगी।
ब्यास कोंगेरा के श्री पंकज कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा परीक्षाओं में असफल छात्रों का हौसला बढ़ाया और अधिक मेहनत कर पढ़ाई करने का सुझाव उन्हें अच्छा लगा।
ब्यासकोंगेरा के ही श्री रामेश्वर ने कहा कि रमन के गोठ कार्यकम में सरकार द्वारा पूर्व में संचालित योजनाओं तथा भावी योजनाओं कार्यक्रमों की उपयोगी जानकारी मिलती है। श्री सुनील नरेटी ने कहा कि जैविक खेती से जानकारी किसानों के लिए प्रेरणा का काम करेगी। इस अवसर पर ब्यासकोंगेरा की सरपं श्रीमती रायबरीन, अपर कलेक्टर श्री विपिन मांझी, एसडीएम डॉ.रेणुका श्रीवास्तव, डिप्टी कलेक्टर श्री परगनिहा, कांकेर जनपद सीईओ श्री उइके, खंड शिक्षा अधिकारी सहित अन्य विभागीय अधिकारी कर्मचारी, ग्रामीण और छात्र-छात्राएं उपस्थित थीं।


क्रमांक/756/सहारे
 

Date: 
08 May 2016