Homeउत्तर बस्तर (कांकेर) : छत्तीसगढ़ योजना से होगा विकसित छत्तीसगढ़ राज्य की परिकल्पना साकार-मुख्यमंत्री, रमन के गोठ कार्यक्रम मनकेशरी में सामूहिक श्रवण

Secondary links

Search

उत्तर बस्तर (कांकेर) : छत्तीसगढ़ योजना से होगा विकसित छत्तीसगढ़ राज्य की परिकल्पना साकार-मुख्यमंत्री, रमन के गोठ कार्यक्रम मनकेशरी में सामूहिक श्रवण

Printer-friendly versionSend to friend

उत्तर बस्तर (कांकेर) 12 जून 2016 

मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा की छत्तीसगढ़ के चहुमुखी विकास और राज्य को उन्नत बनाने ढ़ाई वर्ष की कार्य योजना बनाई गई है। रायपुर में राज्य के बीस हजार गांवों को लोग एकत्रित होंगे। सभी गांव से 1-1 पौधा नया रायपुर में रोपित होगा । यहां छत्तीसगढ़ के विकास की आगामी ढ़ाई वर्ष की कार्ययोजना के क्रियान्वयन पर चर्चा होगी। राज्य के लोगों से चर्चा कर छत्तीसगढ़ को उन्नत राज्य बनाने की परिकल्पना को आगामी ढाई साल में मूर्त रूप दिया जाएगा।
उक्त बातें रमन के गोठ कार्यक्रम की आज प्रसारित रेडियो वार्ता में मुख्यमंत्री ने कही।  मुख्यमंत्री ने कहा कि 2000 से 2016 तक छत्तीसगढ़ में विकास का बहुआयामी प्रतिमान स्थापित किए गए है । इससे हमने आम विश्वास में इजाफा हुआ है। उन्होंने कहा कि नया रायपुर में आगामी माह में राज्य के बीस हजार गांव से मिट्टी पौधा लेकर पंचायत प्रतिनिधि उपस्थित होंगे और यहां वृक्षारोपण करेंगे इन पौधों से हमारी भावी पीढ़ी को पर्यावरण संरक्षण की प्रेरणा मिलेगी और छत्तीसगढ़ के विकास के प्रति उनमें भावनात्मक लगाव बढ़ेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य का निर्माण वर्ष 2000 में पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेई ने राज्य के ढाई करोड़ लोगों की सुख समृद्धि और विकास की परिकल्पना के साथ किया था। उन्होंने कहा कि उनकी इस परिकल्पना को सभी छत्तीसगढ़ी मिलकर साकार करेंगे।
किसानो का आव्हान करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह खुशी की बात है कि इस वर्ष अच्छी वर्षा का अनुमान है । सभी किसान भाई खेती की अच्छी तैयारी कर ले । उन्होंने कहा कि राज्य के प्रत्येक जिले में खाद बीज का पर्याप्त भंडारण है। किसान भाई इसका उठाव कर लें। उन्होंने कहा कि किसान एक माह पूर्व खाद बीज का उठाव करलें ताकि उन्हें अतिरिक्त व्याज ना देना पड़े।
आपदा प्रबंधन हेतु कलेक्टरों को राशि जारी
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने बताया कि आगामी मानसून में अतिवृष्टि से होने वाली क्षती की पूर्ति करने एवं प्रभावितों को राहत पहुंचाने 84 करोड़ रुपए की राशि कलेक्टरों को जारी कर दी गई है । मुख्यमंत्री ने राज्य के लोगों को वर्षा ऋतु में बिच्छू दंश, सर्प काटने की घटनाओं के मद्देनजर कहा कि पीड़ित व्यक्ति झाड़फूंक के चक्कर में ना पड़ें और तत्काल अपना इलाज निकट के स्वास्थ्य केंद्र में कराए।ं मुख्यमंत्री ने पर्यावरण के संरक्षण के लिए इको कलब बिलासपुर और पंडरवाही के विद्यार्थियों के कार्य की सराहना की और इन से प्रेरणा लेकर पर्यावरण संरक्षण के कार्य के लिए सभी का आह्वान किया। डॉ. रमन सिंह ने कहा कि उज्जवला योजना से राज्य के 25 लाख परिवारों को 200 रूपये में दो बरना वाला चूल्हा और गैस कनेक्शन दिया जा रहा है । उन्होंने कहा कि इससे राज्य की 25 लाख गृहणियों को धुएं और उससे होने वाली बीमारियों से मुक्ति मिलेगी। उन्होंने उज्जवला योजना को लागू करने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के प्रति आभार जतायां
संयुक्त राष्ट्र संघ के तत्वाधान में 21 जून को मनाया जाने वाले विश्व योग दिवस का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने योगाभ्यास में राज्य के लोगों की भागीदारी का आवाहन किया।  मुख्यमंत्री ने कहा कि अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रत्येक व्यक्ति को नियमित 20 से 30 मिनट का योग अभ्यास जरुरी है
पर्यावरण बचाओ पानी बचाओ अभियान के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा की छत्तीसगढ़ में एक व्यक्ति द्वारा 3 पौधे रोपने का संकल्प लिया गया है। इसी प्रकार मुख्यमंत्री ने राज्य में भूमिगत जलस्तर में बढ़ोतरी करने और जल के संरक्षण के लिए राज्य में 45000 से अधिक तालाब और डबरिया बनाने की जानकारी दी।
कांकेर विकासखंड के ग्राम मनकेशरी में रमन के गोठ के सामूहिक श्रवण कार्यक्रम में कलेक्टर श्रीमती शम्मी आबिदी, अपर कलेक्टर श्री विपिन मांझी, सरपंच और पंचायत मनकेशरी श्रीमती अहिल्या कोर्राम, उप सरपंच श्रीमती सरस्वती देंवागन, पंचगण, एसडीएम डॉ.रेणुका श्रीवास्तव, जनपद सीईओ श्री ओम प्रकाश उइके, सहित अन्य विभागीय अधिकारी कर्मचारी ग्रामीण जन उपस्थित थे।
एकता के साथ विकास की बात सराहनीय-संतोष कुमार
ग्राम मन केसरी के रमन के गोठ कार्यक्रम के श्रोता श्री संतोष कुमार ने कहा कि रायपुर में राज्य के विकास की रुपरेखा तैयार करने छत्तीसगढ़ के 20 हजार गांवों के लोग की सहभागिता प्रशंसनीय है उन्होंने कहा कि इससे राज्य के विकास की गति बढ़ेगी और छत्तीसगढ़ एक उन्नत राज्य बनेगा।
प्रमेंद्र देवांगन ने कहा कि राज्य के 25 हजार बीपीएल परिवारों की गृहणियों को धुएं से मुक्ती दिलाने उज्जवला योजना का क्रियान्वयन संवेदनशील और जन हितेषी कार्य है। मनकेशरी शिवप्रसाद ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिए वृक्षारोपण और जल संरक्षण का मुख्यमंत्री का आवाहन महत्वपूर्ण है । इसी प्रकार रमन के गोठ श्रोता महेंद्र कोडोपी,  मेहत्तर राम मंडावी, पुनउराम मंडावी और मारूती छोटू ने आज प्रसारित रमन के गोठ कार्यक्रम में मिली जानकारी को महत्वपूर्ण एवं आम जनता के लिए उपयोगी बताया।           

     क्र/922/सहारे

 

Date: 
12 Jun 2016