Homeउत्तर बस्तर (कांकेर) : धान बेचने आए किसानों से सद्व्यवहार और सहयोग करें : समर्थन मूल्य पर धान खरीदी अमले को मुख्यमंत्री के निर्देश

Secondary links

Search

उत्तर बस्तर (कांकेर) : धान बेचने आए किसानों से सद्व्यवहार और सहयोग करें : समर्थन मूल्य पर धान खरीदी अमले को मुख्यमंत्री के निर्देश

Printer-friendly versionSend to friend

रमन के गोठ का सामूहिक श्रवण तेलावट में

उत्तर बस्तर (कांकेर) 13 नवम्बर 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अपनी मासिक रेडियो वार्ता की आज प्रसारित 15वीं कड़ी में राज्य में 15 नवंबर से प्रारंभ हो रहे किसानों से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की व्यवस्था की जानकारी दी । उन्होंने किसानों से अपील कर कहा कि वे अपना धान सुखा कर, साफ-सुथरा कर खरीदी केंद्र लाएं । उन्होंने धान खरीदी केंद्रों के अमलों  का आव्हान कर कहा कि वे अपनी उपज बेचने आए अन्नदाताओं के साथ सहयोग और सदव्यवहार करें । उन्हें खरीदी केंद्र में निर्देशित सुविधाएं मुहैया कराएं ।
आज कांकेर विकास खंड के ग्राम तेलावट में रमन के गोठ का सामूहिक श्रवण का कार्यक्रम आयोजित किया गया । मुख्यमंत्री ने बताया कि खरीफ विपणन वर्ष 2016-17 में राज्य के 14 लाख 54 हजार किसानों का पंजीयन किया गया है जो गत वर्ष की तुलना में लगभग डेढ़ लाख अधिक है । उन्होंने बताया कि राज्य में 1986 खरीदी केंद्र और 41 मंडियों, उप मंडियों में धान खरीदी की व्यवस्था की गई है । मोटा धान 1470 और पतला 1510 रुपए प्रति क्विंटल की दर से खरीदी की जाएगी । उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में धान खरीदी की व्यवस्था से किसानों के साथ-साथ देश की सेवा का कार्य किया जा रहा है । धान के साथ-साथ 1365 रुपए प्रति क्विंटल की दर से मक्के की भी खरीदी31 मई 2017 तक की जाएगी । धान खरीदी 15 नवंबर से 31 जनवरी 2017 तक की जाएगी ।
14 नवंबर बाल दिवस पर मुख्यमंत्री ने राज्य के बच्चों को अपनी बधाई और शुभकामनाएं दी । उन्होंने राज्य के विभिन्न जिलों के प्रतिभाशाली बच्चों का जिक्र किया और उनके शोध की प्रशंसा की मुख्यमंत्री ने पालकों का आवाहन कर कहा कि वे बेटा और बेटियों में भेदभाव न करें । दोनों को शिक्षा और विकास के समान अवसर मुहैया कराएं ।
श्रोताओं को सौर सुजला योजना की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे 15 से 30 हजार के अंशदान पर किसानो को 04 से 05 लाख रुपए तक सौर ऊर्जा से चलित पंप प्रदाय किए जाएंगे । योजना के तहत प्रदेश के इन 52 हजार किसानों को सौर सुजला योजना से लाभान्वित किया जाएगा । मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के ऐसे क्षेत्र जहां सिंचाई के साधन उपलब्ध नहीं है, परंपरागत विद्युत लाइन नहीं पहुंच पाई है,में सौर सुजला योजना खेती किसानी के लिए मील का पत्थर साबित होगी।
पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जन्म शताब्दी वर्ष की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने अंत्योदय को राज्य की सभी नीतियों योजनाओं और कार्यक्रमों को मूलमंत्र बताया है । उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा नया रायपुर में एकात्म का शुभारंभ तथा पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा का अनावरण राज्य स्थापना दिवस पर किया गया।
एक हजार और 500 के करेंसी नोट बंद करने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के फैसले को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने देश में कालेधन भ्रष्टाचार और आतंकवाद की समाप्ति के लिए ऐतिहासिक और साहसिक कदम बताया । उन्होंने कहा कि राष्ट्रहित में उठाए गए इस कदम का सभी को स्वागत करना चाहिए।
प्रतिक्रियाएं-
    ग्राम तेलावट के श्री संतोष कुमार जैन ने कहा कि आज के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने बेटा बेटियों के मध्य भेदभाव नहीं करने का सुझाव दिया वह सराहनीय है। इसके साथ धान खरीदी हेतु प्रदेश में साढ़े 14 लाख किसानों का पंजीयन और 09 नवम्बर से 500 और एक हजार के नोट बंद होने से देश में काले धन की समाप्ति की पहल की प्रशंसा की।
    श्री मानूराम हिचामी ने रमन के गोठ कार्यक्रम के श्रवण पश्चात अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कालाधन की समाप्ति हमारे देश को उन्नत के पथ पर ले जाएगा।
    श्री उत्तम कुमार राणा ने बताया कि जबसे रमन सरकार आई है हमारा राज्य शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि आदि की क्षेत्र में प्रगति कर रहा है। इनके साथ प्राचार्य हाईस्कूल श्री एस.आर.स्वेता, श्री सुरज अहिर, श्री रविशंकर जैन, श्री रामेश्वर सलाम, श्रीमती सावित्री साहू, श्री काशीराम सलाम और श्री मनोहर लाल ने भी अपनी सकारात्मक प्रतिक्रियाएं दी।
    आज के रमन के गोठ श्रवण कार्यक्रम जनपद अध्यक्ष श्रीमती पुष्पा सलाम, सरपंच श्री पवन कुमार सलाम, उपसरपंच काशीराम सलाम, सरपंच आलबेड़ा श्री रामेश्वर सलाम, पंच श्री रविशंकर जैन, संतोष कुमार भुआर्य, सेवती सलाम, विनोद सलाम, ठाकुर राम, मनोहर सलाम, उपसरपंच आलबेड़ा श्रीमती तिजाई बाई, संयुक्त कलेक्टर श्री सी.एस.परगनिहा, डिप्टी कलेक्टर डॉ अनुप्रिया मिश्रा, तहसीलदार श्री टी.पी.साहू, सीईओ जनपद श्री जी.डी.गजबल्ला, श्री संतोष कौशिक, करारोपण अधिकारी श्री इंद्रजीत सिंह ठाकुर, आंगनबाड़ी कार्यक्रता, पटवारी सहित ग्रामीणजन एवं स्कूली छात्र-छात्राएं उपस्थित थीं।                       

       सहारे

 

Date: 
13 Nov 2016