Homeउत्तर बस्तर (कांकेर) : बेटी की शिक्षा पर समान रुप से ध्यान दें -मुख्यमंत्री

Secondary links

Search

उत्तर बस्तर (कांकेर) : बेटी की शिक्षा पर समान रुप से ध्यान दें -मुख्यमंत्री

Printer-friendly versionSend to friend

कांकेर में उत्साह से सुना गया रमन के गोठ

गोविंदपुर में सामूहिक श्रवण का कार्यक्रम

उत्तर बस्तर (कांकेर) 10 जुलाई 2016 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज आकाशवाणी से प्रसारित रमन के गोठ कार्यक्रम में कहा कि वर्षा के साथ-साथ नया शिक्षा सत्र प्रारंभ हो चुका है। उन्होंने कहा कि शिक्षा जीवन को संवारने का सबसे बड़ा माध्यम है । उन्होंने गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा पर जोर देते हुए कहा कि पालक बेटे और बेटियों को शिक्षा और विकास के समान अवसर उपलब्ध कराएं । शिक्षा की गुणवत्ता और शिक्षा के महत्व की अलख जगाने छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिले में हो रहे सफल प्रयोग की मुख्यमंत्री ने प्रशंसा की । उन्होंने गरियाबंद जिले की अकलवारा में शिक्षक श्री वी.पी.वर्मा का उदाहरण दिया ।  जो प्रतिदिन 04 बजे भोर में सीटी बजाकर गांव के बच्चों को पढ़ाई के लिए प्रेरित करते हैं । 19 जुलाई को गुरु पूर्णिमा की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा बच्चों के भविष्य को संवारने में गुरुओं की भूमिका अहम होती है। उन्होंने गुरुओं का सम्मान करने और गुरु शिक्षा की गौरव पूर्ण भारतीय परंपरा को बनाए रखने का आवाहन श्रोताओं से किया।
किशोरों युवाओं के विकास पर ध्यान एवं युवा नीति-
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार युवकों को उच्च स्तरीय गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा का अवसर उपलब्ध कराने वचनबद्ध है । उन्होंने कहा कि नक्सल हिंसा प्रभावित बच्चों की बेहतर शिक्षा के लिए ‘‘प्रयास विद्यालय’’ प्रारंभ किए गए हैं। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने इस बात की खुशी जाहिर की कि छत्तीसगढ़ के ग्रामों एवं वनांचल क्षेत्रों से बच्चों को आईआईटी, इंजीनियरिंग, आईआईएम, ट्रिपलआईटी जैसी संस्थानों में प्रवेश पाने में सफलता मिली है । उन्होंने उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश में सफलता पाने वाले ग्रामीण क्षेत्रों के छात्रों के नाम की भी श्रोताओं को जानकारी दी । मुख्यमंत्री ने कहा कि बेटियों को शिक्षा और विकास के समान अवसर मुहैया कराने स्नातक स्तर तक मुक्त शिक्षा की व्यवस्था की गई है।
कौशल विकास उन्नयन का कानून बनाने वाला छत्तीसगढ़ पहला राज्य-
मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ पहला राज्य है जहां शिक्षित बेरोजगार युवकों को कौशल उन्नयन प्रशिक्षण पाने का कानूनी अधिकार मिला है । उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना में राज्य के 3 लाख युवकों को विभिन्न ट्रेडों में कौशल विकास का प्रशिक्षण दिया जा चुका है। उन्होंने छत्तीसगढ़ के युवकों, बुद्धिजीवियों का आव्हान कर कहा कि वे राज्य में बेहतर युवा नीति के निर्माण के लिए अपना श्रेष्ठतम सुझाव दें।

चिटफंड कंपनियों की धोखाधड़ी के विरुद्ध कानून-
चिटफंड कंपनियों द्वारा राज्य के भोले भाले लोगों को अधिक पैसा वापसी का लालच देकर पैसा जमा कराने और धोका देकर भाग जाने की शिकायत पर मुख्यमंत्री ने बताया कि ऐसी धोखाधड़ी रोकने कानून बनाया गया है । उन्होंने बताया कि कानून ऐसी संस्थाओं के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई और सजा का प्रावधान है।  मुख्यमंत्री ने बताया कि धोखाधड़ी करने वाली संस्थाओं के विरूद्ध गत 04 वर्षों में 199 एफआईआर दर्ज किए गए हैं और 333 लोगों के विरुद्ध कार्यवाही की गई है । मुख्यमंत्री ने कहा कि जिले में बिना कलेक्टर की अनुमति के कोई भी निजी संस्था, कंपनी चिटफंड का कारोबार नहीं कर सकती।
सभी किसानों को फसल बीमा कराने का आव्हान-
रमन के गोठ आकाशवाणी कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने किसानो का आव्हान कर कहा कि वे किसानों के लिए संचालित सभी योजनाओं का लाभ लें और कृषि कार्य में पूरे लगन और उत्साह के साथ जुट जाएं । उन्होंने कहा कि फसल बीमा योजना का लाभ लेने सभी किसान अपना पंजीयन और बीमा कराएं। उन्होंने बताया कि फसल बीमा कराने के लिए किसानों को केवल 02 प्रतिशत राशि जमा करनी होगी । मुख्यमंत्री ने रमन के गोठ कार्यक्रम के श्रोताओं की प्रतिक्रिया और कार्यक्रम के प्रसारण के संबंध में प्राप्त सुझावों के प्रति श्रोताओं का धन्यवाद दिया।
श्रोताओं की प्रतिक्रिया-
10 जुलाई को प्रसारित रमन के गोठ कार्यक्रम के श्रोताओं ने मुख्यमंत्री द्वारा की गई जानकारियों को उपयोगी और महत्वपूर्ण बताया । श्रोता श्रीमती धन्वंतरी माली गोविंदपुर ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह जी ने जो किसानों को बारिश और खेती के बारे में सुझाव दिया है वह बहुत अच्छा लगा । वही गोविंदपुर छोटे पारा की श्रीमती पुष्पा रामटेके ने शिक्षा एवं किसान भाइयों के लिए बताए गए सुझावों मार्गदर्शन की सराहना की । उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने गुरु पूर्णिमा के अवसर पर शिक्षक और छात्र छात्राओं के बीच के संबंध पर प्रकाश डाला है इस से शिक्षा की गुणवत्ता में बढ़ोत्तरी होगी उन्होंने किसानों को फसल बीमा कराने की अपील की है यह किसानों के लिए बहुत लाभदायक होगा। गोविंदपुर के श्री बद्री नारायण पाल ने आज के रमन के गोठ में मिली जानकारी को महत्वपूर्ण बताया जिसमें उन्होंने जीवन के सभी पहलुओं को प्राथमिकता दी है और समस्याओं का हल करने का निदान बताया है। गोविंदपुर की श्रीमती राधिका चंद्राकर का कहना है की रमन के गोठ कार्यक्रम हम सब के लिए प्रेरणादायक व उपयोगी सूचना से भरपूर है मुझे यह सुनकर बहुत अच्छा लगा कि उन्होंने हम युवाओं के लिए युवा नीति के निर्माण की जानकारी दी। बालिकाओं के लिए स्नातक तक मुफ्त शिक्षा व किसानों के लिए ऋण सुविधा आदि सभी नीति एवं कार्यक्रम हमारे छत्तीसगढ़ को उन्नति की ओर अग्रसर करने में सहायक सिद्ध हो रहे हैं। साकेत नगर गोविंदपुर की वार्ड पंच जयमिला कोर्राम ने कहा की आज के कार्यक्रम में मिली जानकारी एवं सुझाव प्रेरणादायक है। वार्ड पंच जया बघेल ने इस कार्यक्रम में शिक्षा और कृषि से मिली जानकारी एवं सुझाव को महत्वपूर्ण बताया।    
    आज रमन के गोठ श्रवण कार्यक्रम का आयोजन हायर सेकेण्डरी स्कूल और सामुदायिक भवन गोविंदपुर में किया गया। इस अवसर पर भरत मटियारा, सरपंच गीता जुर्री, जनपद सदस्य गजमोतिन गजबल्ला, अपर कलेक्टर श्री अरविंद शर्मा, एसडीएम डॉ.रेणुका श्रीवास्तव, संयुक्त कलेक्टर सी.एस.परगनिहा, डिप्टी कलेक्टर यु.एस.साहू, उप संचालक समाज कल्याण डी.के.कुर्रे, जनपद सीईओ ओम प्रकाश उइके, खनिज अधिकारी श्री सोनकर सहित ग्रामीणजन और छात्र-छात्राएं उपस्थित थीं।

 

                 क्र/सहारे/संत
 

Date: 
10 Jul 2016