Homeउत्तर बस्तर (कांकेर) : महिलाएं रसोई गैस के सुरक्षित उपयोग में पारंगत बने- मुख्यमंत्री

Secondary links

Search

उत्तर बस्तर (कांकेर) : महिलाएं रसोई गैस के सुरक्षित उपयोग में पारंगत बने- मुख्यमंत्री

Printer-friendly versionSend to friend

छत्तीसगढ़ की चारों दिशाओं में मेडिकल कॉलेज खोलने का संकल्प पूरा
चिटफंड कंपनियों में राशि जमा नहीं करने का आव्हान
रमन के गोठ की 13वीं कड़ी का प्रसारण


उत्तर बस्तर (कांकेर) 11 सितम्बर 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य में उज्जवला योजना से लाभान्वित बी.पी.एल. परिवारों की महिलाओं का आव्हान कर कहा कि वे रसोई गैस के उपयोग अत्यंत सुरक्षित ढंग से करें। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना का क्रियान्वयन राज्य के सभी जिलों में प्रारंभ हो गया है। इस योजना का त्वरित क्रियान्वयन करने वाला छत्तीसगढ़ देश का अग्रणी राज्य बन गया है।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज अपने लोकप्रिय आकाशवाणी कार्यक्रम ‘‘रमन के गोठ’’ में राज्य की जनता से अपने विचार साझा किए। इस दौरान उन्होंने गणेशोत्सव, तीज सहित विभिन्न धर्मावलंबियों के पर्वों की बधाई और शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री के रमन के गोठ कार्यक्रम के सामूहिक श्रवण का कार्यक्रम कांकेर विकासखण्ड के ग्राम दसपुर में आयोजित किया गया । उज्जवला योजना की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ के 25 लाख बीपीएल परिवारों की महिलाओं को योजना का लाभ दिया जा रहा है ताकि उन्हें धुएं से मुक्ति मिल सके। उन्होंने गृहणियों का आव्हान कर कहा कि वे रसोई गैस के सुरक्षित उपयोग का गहन प्रशिक्षण प्राप्त करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि एलपीजी के सुरक्षित उपयोग हेतु टोल फ्री नम्बर घर के दीवारों में दो तीन जगह अंकित करें और उसके उपयोग में किसी भी प्रकार के संदेह का तत्काल समाधान करें।
    मुख्यमंत्री ने चिटफंड कंपनियों द्वारा जमा राशि के एवज में अधिक ब्याज मिलने के झांसे में नहीं आने और अपनी मेहनत से जमा पूंजी बैंकों में ही सुरक्षित जमा कराने का आव्हान किया। मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ के युवकों का आव्हान कर कहा कि वे चिटफंड कंपनियों में अपनी सेवाएं न दें और धोखाधड़ी का शिकार होने से बचें। मुख्यमंत्री ने राज्य में स्वच्छता अभियान के प्रति आई जागरूकता की प्रशंसा की । उन्होंने कवर्धा में स्कूली बच्चों द्वारा अपने पालकों को शौचालय बनाने पत्र प्रेषण और राजनांदगांव जिले के महिला स्व सहायता समूह द्वारा स्वच्छता को स्वरोजगार से जोड़ने की तारीफ की।
    छत्तीसगढ़ के मजदूरों के काम की तलाश में बाहर जाने और जनसुरक्षा के सामाजिक आर्थिक प्रशासनिक पहलूआंे की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि ह्युमन ट्रैफिकिंग के क्षेत्र में राज्य में उल्लेखनीय काम हुए हैं। उन्होंने बताया कि बालोद जिले के पुलिस अधीक्षक श्री आरिफ हुसैन द्वारा इस दिशा में बेहतर काम करते हुए उत्तर प्रदेश में राज्य की 32 बेटियों को उनके घर तक सुरक्षित पहुंचाने का प्रशंसनीय काम किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मानव तस्करी के प्रति जिला प्रशासन को चौकस तथा सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं। छत्तीसगढ़ के श्रमिकों के अधिकारों की सुरक्षा के लिए दिल्ली में प्रकोष्ठ बनाया गया है। जहां श्रमिकों को जरूरत पड़ने पर इलाज की भी सुविधा मुहैया कराई जाती है।
अंबिकापुर में मेडिकल कॉलेज के शुभारंभ के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार का छत्तीसगढ़ की चारों दिशाओं में मेडिकल कॉलेज खोलने का संकल्प पूरा हो गया है। इसके साथ ही राज्य की चारो दिशाओं में चिकित्सा सुविधा का किला तैयार हो गया है। मुख्यमत्रंी ने कहा कि राज्य के वनांचल जिले दंतेवाड़ा, सुकमा और बीजापुर में भी स्वास्थ्य सुविधाओं में इजाफा हुआ है। मुख्यमंत्री ने इन जिलों में लाईफ लाईन एक्सप्रेस से स्वास्थ्य सेवाएं देने कार्यक्रम की जानकारी दी।
 झुनियापारा निवासी पूर्णिमा पटेल ने कहा कि इस कार्यक्रम में घर घर में शौचालय बनाने में जागरूकता हेतु प्रेरित किया गया । चिटफंड कंपनियों से दूर रहने, बैंकों में पैसा जमा कर अपने धन को सुरक्षित रखने की जानकारी दी गई। उज्जवला योजना के बारे मे रसोई गैस सुरक्षित उपयोग की विधि की बारे में जानकारी दी गई। छात्र जीवन में राजनैतिक ज्ञान विकसित करने एवं लोक तंत्र की जडों को मजबूत किए जाने का आव्हान किया गया ।
 महेश कुमार साहू दसपुर ने बताया चिटफंड की जगह अपने धन को सुरक्षित बैंक में रखने की जानकारी मिली जो महत्वपूर्ण है। दसपुर के देवलाल साहू ने कहा कि उज्जवला योजना और चिटफंड कंपनी के बारे में जानकारी अतिमहत्वपूर्ण है। दसपुर के सुखचंद्र निषाद ने रमन के गोठ प्रसारण को सुनकर कहा कि शौचालय की उपयोगिता के संबंध में मिली जानकारी को महत्वपूर्ण बताया। दसपुर के राम प्रसाद पटेल, शारदा साहू, प्रशांत गिरी, नीरा साहू, बाबूलाल नाग आदि श्रोताओं ने आज के रमन के गोठ कार्यक्रम को बहुत ही उपयोगी और महत्वपूर्ण बताया।
 कार्यक्रम में सरपंच श्रीमती रंजना सलाम, पूर्व उप सरपंच श्री ईश्वर लाल साहू, पंच देव लाल साहू, शिव कुमार नेताम, अनुसुईया कुंजाम, सावित्री साहू, कमला कौशल, जिला पंचायक के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री शिव अनंत तायल, अपर कलेक्टर द्वय श्री बिपिन मांझी, श्री अरविंद शर्मा, संयुक्त कलेक्टर श्री सी.एस.परगनिहा, तहसीलदार श्री टी.एस.साहू, सीईओ जनपद पंचायत श्री गोवधर्न गजबल्ला, करारोपण अधिकारी श्री संतोश कौशिक सहित ग्रामीणजन उपस्थित थे।

                                    क्र/ /सहारे/संत
 

Date: 
11 Sep 2016