Homeकवर्धा : बालिकाओं ने कहा-बोर्ड परीक्षाओं में इस बार फिर बेटियां अव्वल रहेंगी

Secondary links

Search

कवर्धा : बालिकाओं ने कहा-बोर्ड परीक्षाओं में इस बार फिर बेटियां अव्वल रहेंगी

Printer-friendly versionSend to friend

’सखी-वन स्टाप सेंटर’ प्रारंभ होने से छात्राओं का आत्मविश्वास बढ़ा
रमन के गोठ को लेकर कन्या छात्रावास में अभूतपूर्व उत्साह
छात्राओं ने कहा- बोर्ड परीक्षा की तैयारी और सुरक्षा संबंधित मिली अनेक जानकारियां


    कवर्धा, 14 फरवरी 2016

रमन के गोठ की छठवीं प्रसारण को लेकर कबीरधाम जिले में अभूतपूर्व उत्साह देखा गया। आज कवर्धा में संचालित राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा मिशन सौ सीटर कन्या छात्रावास सहित सभी बालक, बालिका और आश्रमों में रमन के गोठ कार्यक्रम को टेलीविजन के माध्यम से सुना गया। इस छठवीं कड़ी में मुख्यमंत्री द्वारा दसवीं-बारहवीं बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियों के लिए दिए गए मार्गदर्शन से स्कूली बालिकाएं गदगद हुई। मुख्यमंत्री के स्कूली जीवन में उनके द्वारा किए गए परीक्षा तैयारियों की भी जानकारी मिली। छात्राओं ने बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियों को लगन, कडी मेहनत से करने के लिए अपने विचार भी व्यक्त किए। बालिकाओं ने विश्वास दिलाया कि इस बार प्रदेश के दसवीं तथा बारहवीं  बोर्ड परीक्षाओं में प्रदेश की बेटियां ही फिर अव्वल रहेंगी। इसके अलावा प्रदेश की महिला तथा बालिकाओं की सुरक्षा के लिए राज्य शासन द्वारा उठाए गए सखी-वन स्टॉप संेटर प्रारंभ होने की जानकारी मिलने से बालिकाओं ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के प्रति आभार व्यक्त किया। उल्लेखनीय है कि देश की राजधानी दिल्ली में देश की बेटी ’निर्भया’ के साथ दुर्भाग्य से जो घटना हुई,ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए प्रदेश में ’सखी-वन स्टाप सेंटर’ शुरू किया गया है। पीड़ित महिलाओं को सखी-वन स्टाप सेंटर में एक ही स्थान पर सभी प्रकार की सुविधाएं जैसे-चिकित्सा, कानूनी सहायता, पुलिस सहायता और परामर्श आदि के साथ अस्थायी रूप से पांच दिनों तक आवासीय सुविधा भी दी जाती है। सखी-वन स्टाप सेंटर के हेल्प लाइन (टोल फ्री नम्बर) 181 और कार्यालय के टेलीफोन नम्बर 0771-4061215 हैं। इस कार्यक्रम का उद्देश्य पीड़ित महिलाओं को त्वरित न्याय दिलाना है।
    कक्षा दसवीं की ललिता धुर्वे ने कहा कि बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियों के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री ने हमे जानकारियां दी। बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियों के संबंध में अपने विचार व्यक्त कर बोर्ड परीक्षा में शामिल हो रहे छात्राओं का आत्मविश्वास बढ़ाया है और उनके द्वारा दिए गए मार्गदर्शन का हम अनुसरण कर अच्छे अंक अर्जित करेंगें। उन्होने कहा कि इस बार प्रदेश के सभी बोर्ड परीक्षाओं में फिर प्रदेश की बेटियां अव्वल रहेगी ऐसा मुझे विश्वास है। कक्षा नवमीं में अध्यनरत कुमारी गेतेश्वरी बंजारे ने प्रदेश के सभी महिलाओं तथा बालिकाओं के लिए सुरक्षा की दृष्टि से तथा महिलाओं के खिलाफ अपराध रोकने प्रारंभ किए गए ’सखी-वन स्टाप सेंटर’ को अभिनव पहल बताते हुए कहा कि इस सेंटर के प्रारंभ होने से महिलाओं के साथ-साथ स्कूली बालिकाओं में भी आत्मविश्वास बढ़ा है। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री ने महिलाओं, बालिकाओं की सुरक्षा की दृष्टि से स्थापित इस सेंटर से हमे अनेक कानूनी सलाह और मार्गदर्शन मिल सकता है। दिव्यारानी गेंड्रे ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि हम सब लोग यहां प्रत्येक माह के दूसरे रविवार को मुख्यमंत्री डॉ.रमन के गोठ को सुनते हैं और ये बाते उन्हे ही बताते है। जो लोग किसी कारणवश इस कार्यक्रम को सुन नहीं पाएं है। इस कार्यक्रम के माध्यम से हमे सभी कड़ी में अलग-अलग जानकारी मिलती है,जो हमारे शिक्षा, स्वास्थ्य, खेल, तथा विविधि गतिविधियों से भी जुड़ी रहती है, जो हमारे लिए बहुत उपयोगी भी साबित हो रहे है।  छात्रावास की अधीक्षिका श्रीमती कामिनी जोशी बताया कि आयोजन के छठवीं प्रसारण में प्रदेश के बालिकाओ, शिक्षित युवक,युवतियों के कौशल विकास उन्नयन कार्यक्रम तथा तेंदूपत्ता संग्राहक परिवारों के हित के फैसलों की जानकारी मिली। साथ ही प्रदेश के प्रयाग के नाम से प्रचलित राजिम में माघ पूर्णिमा के अवसर पर 22 फरवरी से शुरू हो रहे छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध राजिम कुंभ की जानकारी मिली। मुख्यमंत्री ने कक्षा दसवीं तथा बारहवीं की बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियों के संबंध में अपने विचार व्यक्त किए। उनके यह विचार छात्राओं के लिए बहुत ही उपयोगी साबित हो सकते है। उन्होने कहा कि सभी स्कूलों में 23 फरवरी से बोर्ड तथा इसी बीच घरेलू परीक्षाएं भी शुरू होने वाली हैं। छात्रावास के चौकीदार के पद पर कार्यरत श्रीमती नीतू खान ने भी अपने विचार व्यक्त किए। उन्होने कहा कि प्रत्येक माह के दूसरे रविवार को इस कार्यक्रम को सूनने और यहां के छात्राओं को देखने की ललक रहती है। छात्राओं के साथ-साथ हमें यह कार्यक्रम देखने और सुनने का अच्छा अवसर मिल जाता है और शासन के जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी भी मिल जाती है,जो अपने जीवन के लिए अत्यंत उपयोगी हो सकते है।  


        समाचार क्रमांक 0001/ गुलाब डडसेना     
 

Date: 
14 Feb 2016