Homeकवर्धा : मुख्यमंत्री डॉ. रमन के गोठ की 13 कड़ी प्रसारित- कवर्धा विधायक सहित अनेक गणमान्य नागरिकों ने रमन की गोठ सुनी

Secondary links

Search

कवर्धा : मुख्यमंत्री डॉ. रमन के गोठ की 13 कड़ी प्रसारित- कवर्धा विधायक सहित अनेक गणमान्य नागरिकों ने रमन की गोठ सुनी

Printer-friendly versionSend to friend

चिंड़ फंड एवं मानव तस्क लोगों से सतर्क और जागरूक रहनेे की जरूरत - विधायक श्री अशोक साहू

    कवर्धा, 11 सितंबर 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ की 13 कड़ी का प्रसारण आकाशवाणी के रायपुर केन्द्रसे रविवार 11 सितम्बर को सवेरे 10ः45 बजे से 11 बजे तक किया गया। रमन के गोठ कार्यक्रम को कवर्धा के भारत माता चौक के सामने नीम के पेड़ के छांव में नगर के गणमान्य नागरिकों ने उपस्थित होकर सुना। कवर्धा विधायक श्री अशोक साहू ने अपने सवेरे के व्यस्तम के बावजूद समय निकाल कर नगर के गणमान्य नागरिकों के साथ उपस्थित होकर रमन के गोठ कार्यक्रम को सुना। कवर्धा विधायक श्री साहू ने रमन के गोठ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह द्वारा चिंट फंड कंपनियों एवं मानव तस्वर जैसे लोगों से सर्तक रहने तथा अपने विवेक से रहने की महत्वपूर्ण सलाह के लिए कबीरधाम जिले वासियों की तरफ में धन्यवाद ज्ञापित किया है। श्री साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को चिटफंड कम्पनियों के झांसे में नहीं आने और मानव तस्करी करने वालों से सावधान रहने की नसीहत दी है। मुख्यमंत्री के इन विचारों से प्रदेश में निश्चित रूप से इन समस्याओं की रोकथाम के लिए जन-जागरण होगा। उन्होने कहा कि जिले सहित पूरे प्रदेश में चिंट फंड कंपनियों का बड़ा जाल फैला हुआ था, इसे गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री डॉ. सिंह के निर्देश पर बड़ी कार्यवाही की गई है, अथवा की जा रही है। इस अभियान से लोगों की मेहनत की कमाई बज गया है। मुख्यमंत्री जी के संदेश से लोगों में जागरूकता आएगी और चिंटफंड जैसे अनेक कपंनियों के लिए सतर्क रहने की भी जरूरत है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य के मेहनतकश श्रमिकों और ग्रामीणों से अपील की है कि वे मानव तस्करों और फर्जी चिटफंड कंपनियों से सावधान रहें। नगर पालिका उपाध्यक्ष श्री मनोज गुप्ता ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन के गोठ कार्यक्रम की सराहना की। उन्होने कहा कि नगरपालिका परिषद की ओर नियमित रूप से रमन के गोठ कार्यक्र को सुनने की व्यवस्था की जा रही है,और माह के प्रत्येक दूसरे रविवार को नगर के प्रबुद्धजन एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित होकर इस कार्यक्रम को सुन रहे है। उनहोने कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से प्रदेश सरकार द्वारा संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी मिलती है,इस जानकारी से लेागों को आगे बढ़ने में जरूरत लाभ मिलेगा।
    मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अपने गोठ की शुरूआत छत्तीसगढ़ की पारंपरिक तीज त्यौहार, पोरा-तीजा तथा गणेश उत्सव, ईद-उल-जुहा और नवरात्री का जिक्र करते हुए अवगत कराया कि तीज-त्यौहार और पर्व लोगों में सामाजिक समरसता और बंधुत्व की भावना को बढ़ाती है। उन्होंने शिक्षक दिवस का भी जिक्र करते हुए समाज के विकास के लिए शिक्षकों के योगदान का उल्लेख किया। मुख्यमंत्री ने गोठ के दौरान मानव तस्करी को वैश्विक समस्या बताते हुए प्रदेश में बालोद जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन द्वारा मानव तस्करी के खिलाफ किए कार्यों की सराहना की। उन्होंने चिटफंड कंपनियों के संबंध में लोगों को आगाह किया कि वे अपने जमापूंजी बैंकों में सुरक्षित रखें, अधिक ब्याज की लालच में न आये। मुख्यमंत्री ने बताया कि चिटफंड कंपनियों के संबंध में छत्तीसगढ़ राज्य में कानून बनाया गया है, जिसके तहत किसी भी संस्था को जनता से पैसा जमा करने से पहले उस जिले की कलेक्टर से अनुमति लेना होगा। उन्होंने प्रदेश में स्वास्थ्य, शिक्षा के विस्तार के संबंध में बताया कि अंबिकापुर में मेडिकल कॉलेज प्रारंभ होने के साथ ही प्रदेश के दूरस्थ अंचलों में स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार में तेजी आएगी। उन्होंने लोगों को अवगत कराया कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के क्रियान्वयन में छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य बन गया है। छत्तीसगढ़ में चिन्हांकित 25 लाख परिवारों को गैस सिलेण्डर और चुल्हा वितरित किए जाएंगे। मुख्यमंत्री जी ने ग्रामीण माताओं एवं बहनों से गैस सिलेण्डर उपयोग हेतु अपील की। उन्होंने गैस सिलेण्डर के उपयोग हेतु सुरक्षा के उपायों से भी अवगत कराया। मुख्यमंत्री जी ने अपनी गोठ में महाविद्यालय एवं विश्वविद्यालयों में छात्रसंघ चुनाव का जिक्र करते हुए कहा कि युवाओं में नेतृत्व क्षमता विकसित होने के साथ समस्याओं को समझने लीडर के रूप में कार्य कर सकें, साथ ही नेतृत्व कौशल के विकास के साथ उच्च शिक्षा के लिए भी खरी उतर सकें। इस दौरान उन्होंने रमन के गोठ के संबंध में विभिन्न क्षेत्रों के श्रोताओं के प्रतिक्रियाओं को भी व्यक्त किया।
समाचार क्रमांक-922/गुलाब डड़सेना/ढाले

 

Date: 
11 Sep 2016