Home कवर्धा : रमन के गोठ को लेकर कबीरधाम जिले में अभूतपूर्व उत्साह के साथ देखा और सुना : रमन के गोठ कार्यक्रम की आठवीं कड़ी का प्रसारण हुआ : नवमीं कड़ी का प्रसारण अब 8 मई को होगा

Secondary links

Search

कवर्धा : रमन के गोठ को लेकर कबीरधाम जिले में अभूतपूर्व उत्साह के साथ देखा और सुना : रमन के गोठ कार्यक्रम की आठवीं कड़ी का प्रसारण हुआ : नवमीं कड़ी का प्रसारण अब 8 मई को होगा

Printer-friendly versionSend to friend

कवर्धा, 10 अप्रैल 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने रमन के गोठ कार्यक्रम के तहत आज अप्रैल माह के दूसरे रविवार 10 अप्रैल को पूर्वान्ह 10.45 बजे से 11.00 बजे तक आकाशवाणी के माध्यम से राज्य की जनता के साथ अपने विचारों को आज साझा किया। मुख्यमंत्री डॉ.रमन के गोठ के आठवीं कड़ी का सीधा आकावाणी सहित आईबीसी 24 और ईटीवी तथा सभी एफएम रेडियो में भी प्रसारित किया गया। कबीरधाम जिले के सभी ग्राम पंचायतों, लोक शिक्षण केन्द्रों में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के गोठ कार्यक्रम को सुनने की व्यवस्था की गई थी। इसके अलावा जिले की सभी ग्राम पंचायतों के साथ-साथ शासकीय स्कूल,नगर जिला सेनानी परिसर छिरहा कवर्धा सहित कवर्धा के बस स्टैण्ड, नवीन बाजार चौक, गुरूगोविंद सिंह चौक,भारत माता चौक सहित ग्राम पंचायत भवनों में व्यवस्था की गई थी। इसके अलावा जिले के दूर-दराज के अंचलों, आदिवासी इलाकों में भी इस कार्यक्रम के सुनने की व्यवस्था की गई थी।
    आठवीं कड़ी का प्रसारण प्रदेश के साथ साथ कबीरधाम जिले के लोगों ने रूचि लेकर सुना और इस पर अपने विचार भी व्यक्त किए। इसके तहत आज यहां जिला नगर सेनानी परिसर छिरहा के नगर सैनिकों द्वारा पूर्व की भांति आज भी सूना और इस पर भी अपनी प्रतिक्रियां भी दी। उन्होने अपने ड्यूटी के साथ-साथ इस कार्यक्रम की हर माह रूचि के साथ सुनने की बात बताई और कहा कि माननीय मुख्यमत्री जी के इस कार्यक्रम के माध्यम से जहां उन्हे तीज-त्यौहार और समाजिक परंपराओं लोकरीतियों से जुड़ी जानकारियां मिलती है वही दूसरी ओर राज्य शासन की विकास मूलक योजनाओं निर्माण कार्यो एवं समाजिक हितग्राही मूलक योजनाओं की जानकारी मिलती है। उन्होने बताया कि इस कड़ी में मुख्यमंत्री के ये विचार की विश्व जल दिवस को ध्यान में रखते हुए जलसंरक्षण पर विशेष जोर देना है से प्रभावित हुए। उन्होने बताया कि जब भी अपने गांव में जाएंगे वहां इसके बारे में लोगों को प्रेरित करेंगे कि वे भविष्य के लिए जल बचाए। वर्षा के जल का अधिक से अधिक उपयोग करें और उसे संरक्षण करने के उपायों को अपनाएं। बस स्टेेण्ड में रमन के गोठ प्रसारण को सुनने के बाद नगर के कौशल साहू ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री रमन रमन सिंह द्वारा रमन के गोठ के माध्यम से अपने राज्य शासन द्वारा संचालित होने वाले जनकल्याणकारी योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी देने तथा अपने विचारों को प्रदेश की जनता के बीच सांझा करने का अभिनव प्रयास किया गया जा रहा है और अभिनव प्रसास को कबीरधाम जिले में अपार लोकप्रिता भी मिल रही है। उन्हानेे ने कहा कि मुख्यमंत्रंी डॉ. सिंह द्वारा प्रदेश के मुख्यछत्तीसगढ़ी बोली को आगे बढ़ाने को प्रसास भी किया जा रहा है। इस कार्यक्रम को छत्तीसगढ़ भाषा में प्रसारित कर जनमानस के बीच एक अच्छी लोकप्रियता भी मिल रही है।
    आज के प्रसारण में मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने रमन सिंह ने रामनवमीं के साथ लोगों को महावीर जयंती के अवसर पर भी प्रदेश वासियों को हार्दिक बधाइयां दी। उन्होने विचारों को व्यक्त करते हुए अगामी 14 अप्रैल से 24 अप्रैल तक ग्राम उदय से भारत उदय कार्यक्रम का शुभारंभ किया जा रहा है। तीन चरणों में संपादित होने वाले इस कार्यक्रम के अंतर्गत 14 अप्रैल से 16 अप्रैल तक सामाजिक समरसता का कार्यक्रम, 17 अप्रैल से 20 अप्रैल के मध्य ग्राम किसान सभा एवं तीसरे चरण के अंतर्गत 21 से 24 अप्रैल के मध्य विशेष ग्राम सभा का आयोजन एवं देश के प्रधानमंत्रीजी के समस्त ग्राम पंचायतों के संबोधन एवं अन्य कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा। उन्होंने विश्व जल दिवस के लिये प्रदेश के सभी लोगों को आव्हान करते हुए कहा कि हम सभी को जल संरक्षण पर विशेष ध्यान देना और इसके लिये हम सभी को प्रतिबद्ध होना है। उन्होने यह भी कहा कि जल संरक्षण के तहत हम सभी को भू-जल का विशेष संरक्षण करने के लिए प्रयास करना है, ताकि भावी पीढ़ी के लिए पानी को बचा सके। साथ ही उन्होने वर्षा जल को रोकने के लिए गांवों में गांवों के पानी को गांव में रोक कर उसका समूचित उपयोग करने और इसके लिए आधार भूत संरचनाओं के माध्यम से व्यस्था बनाने के लिए भी जोर दिया। उन्होने आगे कहा कि शाला प्रवेश उत्सव प्रारंभ है, और निःशुल्क पाठ्यपुस्तक के तहत पाठ्य पुस्तकें बच्चों को दे दी गई है। अभिभावगण इन पुस्तकों के अध्ययन के लिए बच्चों को विशेष रूप से प्रेरित करेंगे ताकि घर में छुट्टियों के समय पढ़लिख सके और और स्कूल जाने और पढ़ने की झिझक खत्म हो सकें। कवर्धा उपजेल में कैदियों ने भी इस कड़ी के संबंध में अपनी प्रतिक्रियां दी है और बताया कि वे हर बार ध्यान से सुनते है। इसके अलावा कबीरधाम जिले के दूर-दराज के अंचलों में भी मुख्यमंत्रीजी के इस लोकप्रिय कार्यक्रम के सुनने की व्यवस्था आमजनों के लिये की गई थी।  
समाचार क्रमांक-273/एस.शुक्ल-गुलाब

Date: 
10 Apr 2016