Homeकोण्डागांव : किसान मेला सह-कृषि प्रदर्शनी में आए किसानों ने भी सुना ‘‘रमन के गोठ‘‘

Secondary links

Search

कोण्डागांव : किसान मेला सह-कृषि प्रदर्शनी में आए किसानों ने भी सुना ‘‘रमन के गोठ‘‘

Printer-friendly versionSend to friend

मुख्यमंत्री जी के पानी बचाव मुहिम को किसानो ने भी सराहा

कोण्डागांव 10 अप्रैल 2016

    दिनांक 10 अप्रैल 2016 को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता ‘‘रमन के गोठ‘‘ के प्रसारण की आठवी कड़ी जिला मुख्यालय कोण्डागांव के फारेस्ट के नीलामी हॉल चल रहे किसान मेला सह-कृषि प्रदर्शनी एवं प्रशिक्षण में आए किसानों के मध्य बड़ी उत्सुकतापूर्वक सुना गया।

भू-जल स्तर की गिरावट को लेकर डॉ. सिंह ने चिंता जताई:- भू-जल स्तर में गिरावट पर चिन्ता प्रकट करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने कहा था कि हमें पर्याप्त संसाधन अपनी आवश्यकता की पूर्ति के लिए देती है। लोभ की पूर्ति के लिए नहीं। उन्होंने जिला राजनांदगांव का उदाहरण देते हुए बताया कि वहां जल के अत्यधिक दोहन से भू-जल स्तर सामान्य से नीचे स्तर पर चला गया है। अतः हमें भू-जल को आने वाली पीढ़ी के लिए सुरक्षित रखना होगा। अपने रेडियो वार्ता की आठवी कड़ी में आज मुख्यमंत्री ने जहां प्रदेशवासियों को चैत्र नवरात्रि, रामनवमी, संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर की 125वीं जयंती और महावीर जयंती की बधाई दी। वहीं उन्होंने अम्बेडकर जयंती पर 14 अप्रैल से 24 अप्रैल तक राष्ट्रीय स्तर पर शुरु हो रहे ‘‘ग्राम उदय से भारत उदय अभियान के तहत होने वाले विशेष ग्राम सभाओं की अधिक से अधिक भागीदारी का भी आव्हान किया। इसके साथ ही उन्होंने अपने रेडियो प्रसारण में 14 अप्रैल से ही प्रदेशभर में सरकारी स्कूलों के सामाजिक अंकेक्षण की शुरुवात करने का भी ऐलान किया।
    डॉ. सिंह ने अपने उद्बोधन में कहा कि 24 अप्रैल को राष्ट्रीय पंचायत दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी दूरदर्शन से लोगो को संबोधित करेंगे। उन्होंने सभी छत्तीसगढ़ के ग्रामीणों से ग्रामसभा के आयोजन के बाद उस दिन प्रधानमंत्री के प्रसारण को सुनने की अपील की।

गर्मियों के मौसमी बीमारियों से बचाव हेतु आवश्यक सावधानी बरते - डॉ. सिंह
    डॉ. सिंह ने गर्मी के मौसम को ध्यान में रखते हुए लोगो को ‘लू‘ और पीलिया, उल्टी-दस्त जैसी मौसमी बीमारियों से बचाव के लिए विशेष सावधानी बरतने की नसीहत दी है। इसके साथ ही उन्होंने इन बीमारियों के इलाज के लिए मितानिनों और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को तत्काल सूचित करने को कहा। इसके अलावा उन्होंने कहा कि सरकार ने नागरिकों को स्वास्थ्य से संबंधित निःशुल्क सलाह देने के लिए टोल फ्री नम्बर 104 पर स्वास्थ्य परामर्श सुविधा की भी शुरुवात कर दी गई है। लोगो को इसका लाभ लेना चाहिए।      

अम्बेडकर जयंती पर 14 अप्रैल से प्रदेश में शुरु होगा स्कूलो का सामाजिक अंकेक्षण

    मुख्यमंत्री ने शिक्षा गुणवत्ता अभियान, स्कूलों के सामाजिक अंकेक्षण और शाला प्रवेश उत्सव का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि 01 अप्र्रैल से 30 अप्रैल तक स्कूलों में बच्चे पढ़ने जायेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य शासन द्वारा पिछले शिक्षा सत्र में शिक्षा गुणवत्ता अभियान चलाया गया था, इस बार स्कूलों के सामाजिक अंकेक्षण से इसकी शुरुवात की जाएगी। सामाजिक अंकेक्षण डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती पर 14 अप्रैल से शुरु होगा। उन्होंने बताया कि सामाजिक अंकेक्षण के तहत प्रदेशवासी अपने बच्चों के स्कूलों में यह देखेंगे कि कक्षाओं में क्या चल रहा है, शिक्षक रोज पढ़ा रहे है या नहीं, बच्चे समझ पा रहे या नहीं। डॉ. सिंह ने इस बार माताओं को भी स्कूलों में बच्चों की शिक्षा में सक्रिय सहयोग के लिए प्रेरित करने का प्रयास किया है। उन्होंने माताओं से आग्रह किया है कि वे अपने बच्चों की रोज पढ़ाई के बारे में शिक्षकों से नियमित रुप से जानकारी ले और अच्छा पढ़ाने के लिए भी प्रेरित करें। डॉ. सिंह ने अपने रेडियो प्रसारण में कहा कि राज्य सरकार ने स्कूली बच्चों के लिए पुस्तको का वितरण 01 अप्रैल से शुरु कर दिया है। उन्होंने बच्चों के माता-पिता और भाई-बहनों से आग्रह किया है कि गर्मी छुट्टियो में घरों में बच्चो को इन पाठ्य-पुस्तिकों को पढ़ाए जिससे उनकी स्कूल जाने की झिझक समाप्त होगी।


ग्राम पुसावण्ड में भी ग्रामीणों की भीड़ जुटी ‘‘रमन के गोठ‘‘ सुनने के लिए

    दिनांक 10/04/2016 को विकासखण्ड कोण्डागांव के ग्राम पुसावण्ड में भी ‘‘रमन के गोठ‘‘ सुनने के लिए ग्रामीणों की भारी भीड़ जुटी। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री द्वारा समसामयिक विषयों पर उठाये गए मुद्दो पर मुख्यमंत्री के विचार जानकर उत्साहवर्धक प्रतिक्रिया दिया गया। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री का आज रेडियो कार्यक्रम जल संरक्षण एवं बच्चों की शिक्षा पर केन्द्रित था। इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत योगिता देवांगन, सरपंच दशरथ कश्यप, जनपद सदस्य सुनारु मण्डावी, पंच बालचंद मेचुराम, सोनसिंह, सोनादई, प्यारी बाई, लच्छनदर के अलावा, कृषि विकास अधिकारी सी.एस.ध्रुव, सचिव ललित सेठिया, सहायक शिक्षक वेद प्रकाश सहित भारी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थें।


क्रमांक/1119/घनश्याम

    





 

Date: 
10 Apr 2016