Homeकोण्डागांव : ‘‘रमन के गोठ‘‘ की चौदहवी कड़ी का प्रसारण हुआ ग्राम बड़े कनेरा में प्रदेश में जन आंदोलन बना ‘‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ‘‘ अभियान - डॉ. सिंह

Secondary links

Search

कोण्डागांव : ‘‘रमन के गोठ‘‘ की चौदहवी कड़ी का प्रसारण हुआ ग्राम बड़े कनेरा में प्रदेश में जन आंदोलन बना ‘‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ‘‘ अभियान - डॉ. सिंह

Printer-friendly versionSend to friend

प्रदेश के हर जिले में महिलाओं के लिए टोल फ्री हेल्पलाईन 1091 की शुरुवात की गई
अपने रेडियो वार्ता में बस्तर दशहरे का भी जिक्र किया मुख्यमंत्री ने


कोण्डागांव 09 अक्टूबर 2016

दिनांक 09 अक्टूबर 2016 को ‘‘रमन के गोठ‘‘ का प्रसारण जिले में भी सभी पंचायत भवन, आंगनबाड़ी केन्द्र एवं छात्रावासो में किया गया। इस क्रम में ग्राम बड़े कनेरा में भी ग्रामीणो की भारी भीड़ रमन के गोठ प्रसारण सुनने के लिए जुटी। आज अपने प्रसारण माननीय मुख्यमंत्री ने सर्वप्रथम प्रदेश की जनता को शारदीय नर्वरात्रि के साथ 11 अक्टूबर को मनाये जाने वाले अंतराष्ट्रीय बालिका दिवस, विजया दशमी, करवाचौथ, धनतेरह और दीपावली सहित 1 नवम्बर को मनाये जाने वाले राज्य उत्सव के लिए भी प्रदेश वासियो को बधाई देते हुए अपनी शुभकामनाएं प्रकट की।
    ग्राम बड़े कनेरा के ग्राम पंचायत भवन मे ंआयोजित उक्त जिला स्तरीय सामुहिक रेडियो में जिला कलेक्टर समीर विश्नोई, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत योगिता देवांगन सहित ग्राम सरपंच श्रीमती असपति भण्डारी, उप सरपंच आनंद पवार सहित ग्राम के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
    अपने रेडियो वार्ता में डॉ. रमन सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरु किए गए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान को छत्तीसगढ़ में जन आंदोलन का रुप दिया जा रहा है। स्त्री-पुरुष जनसंख्या के मामले में छत्तीसगढ़ राष्ट्रीय अनुपात से काफी आगे है और यह राज्य में महिलाओं की बेहतर स्थिति का प्रतीक भी है। महिला सशक्तिकरण के संबंध में राज्य में महिलाओं की बेहतर स्थिति और उनके सामाजिक आर्थिक विकास के लिए प्रदेश सरकार द्वारा उठाये गए कदमो की जानकारी देते हुए कहा कि नारी सम्मान की रक्षा के लिए अपने घरो में शौचालय का होना और उसके उपयोग की आदत डालना जरुरी है और इसके लिए सर्वप्रथम पुरुषो को पहल करना होगा। महिलाओं के लिए राज्य के हर जिले में टोल फ्री हेल्पलाईन 1091 शुरु की गई है, जहां कोई भी महिला संकट के समय अपनी शिकायत दर्ज करा सकती है। इसके साथ डॉ. सिंह ने अपने वार्ता में बेहतर कार्य सम्पादन हेतु नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले की महिला स्वास्थ्यकर्ता चन्द्रकांता नीलम का उल्लेख किया।
    रमन के गोठ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री द्वारा कांकेर जिला में चिरायु योजना में की गई प्रगति एवं राजधानी रायपुर में सार्वजनिक स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए युवाओ के समूह ‘‘बंच ऑफ फूल्स‘‘ द्वारा किए जा रहे प्रयासो को सराहनीय और अनुकरणीय बताया।
    रेडियो प्रसारण के अंत में जिला कलेक्टर समीर विश्नोई ने माननीय मुख्यमंत्री द्वारा दिए गए संदेश को ग्रामीणो के मध्य साझा करते हुए कहा कि माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मंशानुरुप पूरे देश में स्वच्छता अभियान को अभूतपूर्व सफलता मिली है और यह राज्य सरकार की प्राथमिकता में है। उन्होंने कहा कि जब हम घर बनाते समय अन्य कक्षों का निर्माण करते है तो शौचालय निर्माण को अन्देखा क्यों किया जाता है घ् जबकि शौचालय पूरे घर में स्वच्छता एवं स्वास्थ्य से संबंध रखता है। शासन द्वारा अब शौचालय निर्माण के बाद ही अनुदान राशि दिए जाने का प्रावधान रखा गया है। अतः सभी ग्रामीण शौचालय निर्माण को सर्वोपरि रखते हुए अपने ग्राम को खुले में शौच मुक्त ग्राम होने का गौरव हासिल करें। इसके साथ ही उन्होंने ग्राम के बच्चों, किशोरो एवं महिलाओं द्वारा स्वेच्छापूर्वक चलाये जा रहे स्वच्छता अभियान की सराहना करते हुए कहा कि यह एक उत्साहित करने वाला प्रयास है और इसमें अधिक से अधिक लोगो को जोड़ा जाना चाहिए।  


क्रमांक/1475/रंजीत


 

Date: 
09 Oct 2016