Homeगरियाबंद : चौपाल लगाकर ग्रामीणों सहित कलेक्टर ने सुनी रमन के गोठ

Secondary links

Search

गरियाबंद : चौपाल लगाकर ग्रामीणों सहित कलेक्टर ने सुनी रमन के गोठ

Printer-friendly versionSend to friend

  गरियाबंद 13 दिसम्बर 2015

गरियाबंद विकासखण्ड के ग्राम पंचायत नहरगॉव में ग्रामीणों द्वारा आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में जिले के कलेक्टर सहित बड़ी संख्या में ग्रामवासियों ने रमन के गोठ कार्यक्रम को सुना। सरपंच चिंताराम ध्रुव, महिला स्व-सहायता समूह के सदस्यों, बुजुर्ग, गांव के मुखिया, युवा, महिलाएं व बच्चों द्वारा इस कार्यक्रम का बेसब्री से इंतजार किया जा रहा था। कार्यक्रम सुनने के बाद अधीन राम ध्रुव ने कहा कि मुख्यमंत्री ने अपने रेडियो संवाद में विभिन्न नई योजनाओं से अवगत कराया। मिट्टी परीक्षण और प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना का जिक्र महत्वपूर्ण है। किसान भीखम ठाकुर ने कहा कि रमन के गोठ से काम करने की प्रेरणा मिलती है।  डिगेश्वर दीवान ने कहा कि यह जनता से संवाद और संपर्क स्थापित करने का यह अच्छा प्रयास है। सेलून का काम करने वाले विष्णु सेन ने बताया कि यह कार्यक्रम अत्यन्त सराहनीय है और इससे डॉ रमन सिंह सीधे जनता से जुड़ जाते हैं। बी. ए. प्रथम वर्ष में पढ़ने वाली छात्रा कुमारी रीना सिन्हा ने कहा कि उसे इस कार्यक्रम का सुबह से इंतजार था, वह अपने सहपाठियों के साथ रेडियो कार्यक्रम सुनने आई है। सरपंच चिंताराम ध्रुव ने कहा कि यह बहुत ही सराहनीय प्रयास है। डॉ रमन सिंह के उद्बोधन से हमें उत्साह मिलता है और अच्छे कार्य करने की प्रेरणा मिलती है।
 
चौपाल में कलेक्टर ने सुनी ग्रामीणों की समस्याएं
    रेडियो कार्यक्रम के समापन पश्चात कलेक्टर श्री निरंजन दास ने लोगों से चर्चा कर ग्रामीणों की समस्याओं की जानकारी ली। ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम नहरगॉव 10 दिसम्बर को ही खुले मे शौच मुक्त ग्राम बन गया है। कलेक्टर ने इस पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुये ग्रामीणों को बधाई दी। उन्होनें कहा कि हाईस्कूल में विज्ञान और गणित के शिक्षको के पूर्ति के लिये कार्यवाही की जायेगी, साथ ही स्कूल भवन में पेयजल की व्यवस्था भी किया जायेगा। ग्रामीणों ने गोठान की आवश्यकता और श्मशानघाट जाने के लिये रास्ता निर्माण की आवश्यकता से भी कलेक्टर को अवगत कराया। कलेक्टर श्री दास ने किसानों को रबी सीजन में दलहन और तिलहन के लाभकारी फसलो को लेने का आग्रह किया। उन्होंने कौशल उन्नयन प्रशिक्षण के माध्यम से युवाओं को प्रशिक्षण प्राप्त करने की समझाईश भी दी।  सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रकरण, महिला समूह का पंजीयन और नये आंगनबाड़ी भवन के लिये प्रस्ताव बनाकर प्रस्तुत करने के निर्देश भी संबंधित विभागीय अधिकारी को कलेक्टर द्वारा दिये गये।

 

समाचार क्रमांक - 1452/पोषण-सुरेन्द्र
 

Date: 
13 Dec 2015