Homeगरियाबंद : महिलाओं के सम्मान के लिए डॉ रमन को धन्यवाद : रमन के गोठ कार्यक्रम सुनकर महिलाएं हुई गदगद

Secondary links

Search

गरियाबंद : महिलाओं के सम्मान के लिए डॉ रमन को धन्यवाद : रमन के गोठ कार्यक्रम सुनकर महिलाएं हुई गदगद

Printer-friendly versionSend to friend

गरियाबंद, 09 अक्टूबर 2016

मुख्यमंत्री आज सवेरे आकाशवाणी के रायपुर केन्द्र से प्रसारित अपनी मासिक रेडियो वार्ता ’रमन के गोठ’ में महिलाओं के विकास के लिए किये जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू किए गए ’बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ अभियान को छत्तीसगढ़ में हम सब मिलकर जनआंदोलन बना रहे है। स्त्री-पुरूष जनसंख्या के मामले में छत्तीसगढ़ राष्ट्रीय अनुपात से भी आगे है। महिलाओं की सुरक्षा के लिए टोल फ्री नम्बर और अनेक उपायो के बारे में जानकारी दी, जिसे सुनकर ग्राम मरौदा की महिलाएं गदगद हो गई। महिला सरपंच श्रीमती उमा बाई पुजारिन ने कहा कि आज डॉ रमन के राज में महिला सुरक्षित है और हर कार्य में आगे बढ़ रही है। पंचायतों में 50 प्रतिशत महिलाओं को आरक्षण देने से महिलाएं पंचायत के जिम्मेदारियों को बखूबी निभा पा रही है। महिला स्व सहायता समूह के सदस्य मन्टोरा बाई ने कहा कि डॉ रमन ने बालिकाओं के विकास के लिए नोनी सुरक्षा योजना के तहत बेटी के 18 वर्ष के होने पर उसे एक लाख रूपए देने की व्यवस्था की है, साथ ही कक्षा पहली से कॉलेज तक बालिकाओं के लिए निःशुल्क पढ़ाई की व्यवस्था किया है। गांव की ही डामिन बाई ने कहा कि हम महिलाओं के लिए रोजगार और स्वावलंबन की दिशा में भी कई इंतजाम किये हैं। सस्ती ऋण सुविधा, राशन दुकान, आंगनबाड़ी, कुपोषण मुक्ति, गणवेश सिलाई जैसी योजनाओं से महिला स्व-सहायता समूहों को जोड़ा गया है।
कार्यक्रम में ग्राम के किसान किसुन राम, सरजू राम, भगवान सिंह, त्रिभूवन लाल ध्रुव, प्रेमलाल, रामजीवी, पारस राम ने भी रमन क गोठ कार्यक्रम को उत्सुकता से सुना। उन्होंने बताया कि डॉ सिंह का स्वच्छता के प्रति संदेश प्रेरणादायी रहा। ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम मरौदा को पहले ही खुले में शौचमुक्त गांव बना लिये है और शत प्रतिशत नागरिक शौचालय का उपयोग कर रहे हैं।
    कलेक्टर श्रुति सिंह ने इस अवसर पर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। उन्होंने ग्रामीणों की मांग पर माध्यमिक शाला के परिसर में लगे विद्युत पोल को हटाने के निर्देश दिये। मनरेगा के तहत बकाया मजदूरी भुगतान को अतिशीघ्र देने के निर्देश दिये गये। मरौदा ग्राम के वार्ड क्रमांक 03 और ग्राम बम्हनी के प्राथमिक शाला में स्थित हेण्डपंप में मटमैला पानी आने की शिकायत ग्रामीणों द्वारा की गई, जिसके निराकरण के निर्देश दिये गये।


समाचार क्रमांक - 711/पोषण

Date: 
09 Oct 2016