Homeजगदलपुर : डिलमिली में ग्रामीणों ने सुना रमन के गोठ

Secondary links

Search

जगदलपुर : डिलमिली में ग्रामीणों ने सुना रमन के गोठ

Printer-friendly versionSend to friend

जगदलपुर 14 अगस्त 2016

माह के हर दूसरे रविवार को प्रसारित होने वाले लोकप्रिय कार्यक्रम रमन के गोठ को सुनने के लिए बस्तरवासियों में काफी उत्साह देखा गया। दरभा विकास खण्ड के ग्राम डिलमिली में ग्रामीण रमन के गोठ सुनने के लिए ग्राम पंचायत भवन के सामने स्थित सामुदायिक भवन में जुटे। यहां सरपंच श्री आयतूराम मंडावी सहित ग्रामीणों ने रमन के गोठ को सुना।

सरपंच श्री आयतूराम ने मुख्यमंत्री द्वारा स्वतंत्रता संग्राम में छत्तीसगढ़ और बस्तर के योगदान पर प्रकाश डालने पर आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश और बस्तर के महानायकों के स्वतंत्रता संग्राम में दिए गए योगदान का उल्लेख करने पर नई पीढ़ी को इनके बारे में जानने की इच्छा जगेगी। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम में हमारे पूर्वजों ने बिना किसी स्वार्थ के अपना योगदान दिया और अपने प्राणों की आहूति दी। ऐसे राष्ट्रनायकों से प्रेरणा लेकर ही हमारा देश महान बन सकता है।

मुख्यमंत्री द्वारा स्वतंत्रता संग्राम में महिलाओं के योगदान पर खेमबती ने कहा कि देश को आजाद कराने में निश्चित तौर पर महिलाओं ने भी अपना अमूल्य योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि आजादी के इस आंदोलन में अपना सर्वस्व अर्पित करने वाली महिलाओं को मुख्यमंत्री द्वारा याद किए जाने पर महिलाओं का सम्मान और आत्मविश्वास बढ़ा है। उन्हांेंने कहा कि आज की महिलाओं को भी आजादी की इन वीरांगनाओं से प्रेरणा लेने की आवश्यकता है, तभी वे समाज मंे व्याप्त बुराईयों से समाज को आजादी दिला सकती हैं।

मुख्यमंत्री द्वारा आदिवासी अंचलों में शिक्षा, सुरक्षा और समग्र विकास की भावना के साथ कार्य किए जाने की बात कहने पर मंगलूराम ने प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा बस्तर में नक्सल समस्या के निर्णायक समाधान की बात कहने पर बस्तरवासियों का मनोबल बढ़ा है। उन्होंने बस्तर बटालियन के गठन पर भी खुशी जाहिर करते हुए कहा कि इससे बस्तर के युवाओं को रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि इससे बस्तर के युवाओं को बरगलाकर गलत राह में ले जाने वालों की मंशा चकनाचुर हो जाएगी।

लच्छु करता रहा झंडा फहराने की तैयारी

इधर मुख्यमंत्री के संदेश रमन के गोठ का प्रसारण हो रहा था, उधर गांव का युवा लच्छु पूरी तल्लीनता के साथ झंडा फहराने की तैयारी कर रहा था। मुख्यमंत्री द्वारा आज के संदेश में स्वतंत्रता संग्राम के वीर सिपाहियों को याद किया गया, वहीं लच्छु भी मुख्यमंत्री का संदेश सुनने के साथ स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराने की तैयारी करता रहा। स्वतंत्रता पर्व में लच्छु जैसे युवाओं की भागीदारी देखकर बस्तर के सुदूर अंचलों मंे भी इस पर्व के प्रति उत्साह का नजारा दिखा।

क्रमांक-924/अर्जुन

 

Date: 
14 Aug 2016