Homeजगदलपुर : हम भी लगाएंगे पेड़ और बचाएंगे पानी : ‘रमन के गोठ‘ सुनकर बोले लाईवलीहुड कॉलेज के प्रशिक्षणार्थी

Secondary links

Search

जगदलपुर : हम भी लगाएंगे पेड़ और बचाएंगे पानी : ‘रमन के गोठ‘ सुनकर बोले लाईवलीहुड कॉलेज के प्रशिक्षणार्थी

Printer-friendly versionSend to friend

जगदलपुर 12 जून 2016

लाईवलीहुड कॉलेज में ‘रमन के गोठ‘ सुनने के बाद प्रशिणार्थियों ने भी पेड़ लगाने और पानी बचाने का संकल्प लिया। रविवार को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के रेडियो वार्ता ‘रमन के गोठ‘ की दसवीं कड़ी का प्रसारण किया गया, जिसे प्रदेश के साथ ही बस्तर जिले के श्रोताओं ने भी बड़े उत्साह के साथ सुना। बस्तर जिले के आड़ावाल में स्थित लाईवलीहुड कॉलेज में विभिन्न आजीविकामूलक प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे युवाओं ने भी ‘रमन के गोठ‘ की इस कड़ी को पूरे उत्साह के साथ सुना।
युवाओं ने मुख्यमंत्री द्वारा जल और पर्यावरण संरक्षण के लिए किए जा रहे प्रदेश सरकार व स्कूली विद्यार्थियों द्वारा किए जा रहे प्रयासों को प्रेरणास्पद बताते हुए अपने-अपने गांवों में जाकर पौधे लगाने और जल संरक्षण का प्रयास करने की बात कही। यहां कम्प्यूटर टेली का प्रशिक्षण प्राप्त कर रही ग्राम उपनपाल की रुक्मणी कश्यप ने कहा कि वे गांव वालों को प्रेरित करने के लिए खुद पौधे लगाकर पहल करेंगी। राजमिस्त्री का प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे कुमाकोलेंग के प्रेमसिंह यादव ने कहा कि वे भविष्य में जिन घरों को बनाएंगे, वहां सोख्ता गड्ढ़ा बनाने के लिए जरुर प्रेरित करेंगे, जिससे जल का संरक्षण हो।
पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी के सपनों के छत्तीसगढ़ को साकार करने के लिए प्रदेश के डेढ़ लाख से अधिक जनप्रतिनिधियों के साथ मुख्यमंत्री द्वारा चर्चा करने और प्रदेश की राजधानी नया रायपुर में प्रदेश के कोने-कोने से लाई गई मिट्टी और पौधे पहुंचाने के लिए हमर छत्तीसगढ़ योजना बनाए जाने की भी युवाओं ने भरपूर प्रशंसा की। मुख्यमंत्री द्वारा बारिश के दौरान जहरीले जीव-जंतुओं और कीटों से सावधानी बरतने के साथ ही मच्छरदानी का उपयोग करने और बीमार होने पर सीधे अस्पताल पहुंचने की अपील पर अमल करने की बात मोंगरापाल की अंजलि सोनवानी ने कही। केन्द्र सरकार द्वारा गरीब परिवारों को मात्र दो सौ रुपए में एक सिलेण्डर सहित डबल बर्नर का गैस चुल्हा दिए जाने की जानकारी मुख्यमंत्री द्वारा रेडियो में दिए जाने पर इन युवाओं ने प्रसन्नता व्यक्त की। अधिकतर गरीब परिवारों से संबंधित इन युवाओं ने इस योजना को गरीब माताओं और बहनों के लिए एक अच्छा उपहार बताया। इस योजना के संबंध मंे चांदामेटा के गंगो कोर्राम ने कहा कि एलपीजी कनेक्शन के कारण हमारी माताओं और बहनों को धुएं से आजादी मिलेगी, वहीं हर रोज होने वाली पेड़ों की बलि भी रुकेगी। स्वच्छ छत्तीसगढ़ के निर्माण के साथ ही स्वस्थ छत्तीसगढ़ के निर्माण के लिए मुख्यमंत्री ने आम जनता से अपील की और प्रतिदिन 20 से 25 मिनट योग के लिए देने का आह्वान किया। सिलाई का प्रशिक्षण ले रही योगेन्द्री कश्यप ने इस पर कहा कि पिछले वर्ष से 21 जून को विश्व योग दिवस के रुप में विश्व भर में मनाया जा रहा है, इससे भारतीय होने के नाते निश्चित तौर पर गर्व की अनुभूति हुई है। उन्होंने कहा कि अब सेहत को लेकर काफी जागरुकता आ रही है और गांवों में भी योग के प्रति आकर्षण बढ़ा है। युवाओं ने कहा कि प्रतिमाह जनता से रेडियो के माध्यम से वार्ता करने का मुख्यमंत्रीजी द्वारा सराहनीय प्रयास किया जा रहा है। इस रेडियो वार्ता के माध्यम से मुख्यमंत्रीजी द्वारा न केवल शासन की अनेक योजनाओं की जानकारी दी जा रही है बल्कि इसके साथ ही जनसरोकार से जुड़े कई विषय भी मुख्यमंत्री द्वारा सतत चर्चा की जा रही है। जल और पर्यावरण संरक्षण के लिए जनता को जुड़ने की अपील के साथ ही मुख्यमंत्रीजी द्वारा नशा, दहेज, बाल विवाह जैसी बुराईयों को खत्म करने के लिए भी अपील की जा रही है, जिससे अच्छे समाज के निर्माण का सपना साकार हो रहा है।


क्रमांक 644/अर्जुन
 

Date: 
12 Jun 2016