Homeजगदलपुर : हर घर में बनाएंगे शौचालय : मुख्यमंत्री के संदेश ‘रमन के गोठ‘ को सुनकर सरगीपाल वासियों ने लिया संकल्प

Secondary links

Search

जगदलपुर : हर घर में बनाएंगे शौचालय : मुख्यमंत्री के संदेश ‘रमन के गोठ‘ को सुनकर सरगीपाल वासियों ने लिया संकल्प

Printer-friendly versionSend to friend

जगदलपुर, 11 सितम्बर

माह के हर दूसरे रविवार को प्रसारित होने वाले लोकप्रिय कार्यक्रम रमन के गोठ को बस्तरवासियों ने उत्साह के साथ सुना। जगदलपुर विकास खण्ड के ग्राम सरगीपाल में ‘रमन के गोठ‘ सुनने के लिए ग्राम पंचायत भवन में बड़ी संख्या में ग्रामीण पहुंचे और सरपंच श्री मोहन सिंह के साथ मुख्यमंत्री के संदेश को सुना। इस अवसर पर जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री निर्भय साहू भी उपस्थित थे।
    मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश में स्वच्छता को लेकर आई जागरुकता के संबंध में चर्चा करने पर सरपंच श्री मोहन सिंह ने कहा कि स्वच्छता अब निश्चित तौर पर जनआंदोलन बन चुका है और लोग अपने-अपने घरों में शौचालय का निर्माण कर खुले में शौच की प्रवृत्ति को त्याग रहे हैं। उन्होंने कहा कि आगामी कुछ ही दिनों में सरगीपाल ग्राम पंचायत के सभी घरों में शौचालय का निर्माण कर उसका उपयोग किया जाएगा और स्वच्छता के इस जनांदोलन में सरगीपाल ग्राम पंचायत के ग्रामीणों का भी पूरा सहयोग मिलेगा। महेश नेताम ने मुख्यमंत्री द्वारा मानव तस्करी के प्रति सचेत रहने के संदेश को महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने बताया कि आज से कुछ वर्ष पूर्व सरगीपाल क्षेत्र के युवा भी रोजगार के लिए बड़े शहरों में जाते थे। मानव तस्करी या मजदूरों को बंधक बनाने के समाचार मिलने पर उनके परिजन बहुत चिंतित रहते थे, किन्तु अब इसी क्षेत्र में विकास के कई कार्य हो रहे हैं। इससे क्षेत्र के युवाओं को रोजगार के लिए बाहर जाने की आवश्यकता नहीं हो रही है। उन्होंने कहा कि बस्तर में रह रहे भोले-भाले लोगों को निश्चित तौर पर सतर्क रहना चाहिए और यदि कोई व्यक्ति रोजगार के लिए बाहर ले जाने का लालच दे तो उसकी जानकारी पुलिस के साथ जनप्रतिनिधियों को भी देना चाहिए। वृंदा ने चिटफंड कम्पनियों से सतर्क रहने की मुख्यमंत्री की अपील के संबंध में कहा कि चिटफंड कम्पनियों से सबसे अधिक नुकसान महिलाओं को होता है। उन्होंने कहा कि महिलाएं एक-एक पैसा बचाकर इसलिए रखती हैं, कि वह मुसीबत के समय काम आएंगे। उन्होंने कहा कि चिटफंड कम्पनियों से न केवल स्वयं सावधान रहने की आवश्यकता है, बल्कि अपने जान-पहचान वालों को भी सावधान किए जाने की जरुरत है, ताकि ऐसी फर्जी कम्पनियों में कोई अपना पैसा निवेश न करे और ये कम्पनियां खुद-ब-खुद बंद हो जाएं। लक्ष्मीनाथ ने उज्जवला योजना के संबंध में मुख्यमंत्री द्वारा जानकारी दिए जाने पर कहा कि यह योजना महिलाओं के लिए ही नहीं पुरुषों के लिए भी लाभकारी है। उन्होंने कहा कि एलपीजी गैस के उपयोग से महिलाओं का स्वास्थ्य तो बेहतर रहेगा ही, पुरुषों को भी लकड़ी के लिए जंगल-जंगल भटकना नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पुरुषों को जंगलों से जलावन लकड़ियां लाना पड़ता है। अब जंगल धीरे-धीरे सिमट रहे हैं और जलावन लकड़ियां ढंूढना आसान काम नहीं रह गया है।    क्रमांक- 1024/अर्जुन

 

Date: 
11 Sep 2016