Homeजगदलपुर : ‘रमन के गोठ’ कार्यक्रम के प्रति लोगों का उत्साह : जन लोगों ने दी अपनी प्रतिक्रियाएं

Secondary links

Search

जगदलपुर : ‘रमन के गोठ’ कार्यक्रम के प्रति लोगों का उत्साह : जन लोगों ने दी अपनी प्रतिक्रियाएं

Printer-friendly versionSend to friend



    जगदलपुर 11 अक्टूबर 2015


    मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के आज आकाशवाणी के माध्यम से प्रसारित कार्यक्रम ‘रमन के गोठ’ पर समाज के विभिन्न वर्गों, साहित्यकारों, जनप्रतिनिधियों, स्वयंसेवी संगठनों, उद्योग एवं व्यापार से जुड़े लोगों, किसानों, महिलाओं और छात्र-छात्राओं ने अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं दी है।
    नगर पालिका जगदलपुर के पूर्व अध्यक्ष श्री सतपाल शर्मा ने कहा कि आकाशवाणी गांव-गांव तक अपनी बात पहंुचाने का अच्छा माध्यम है। खुशी की बात है मुख्यमंत्री इसके माध्यम से राज्य की जनता को महत्वपूर्ण शासकीय योजनाओं की सीधी जानकारी दे रहे है। शिल्पी सांस्कृतिक संस्था के अध्यक्ष श्री सुबीर नंदी ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा बस्तर दशहरा तथा राज्य के शक्तिपीठों की जानकारी जनता को एक अच्छा संदेश दिया है। उन्होंने कहा चिरायु योजना बस्तर जैसे क्षेत्रों के बच्चों के स्वास्थ्य सुधार के लिए काफी उपयोगी हो सकती है। वरिष्ठ अधिवक्ता श्री प्रताप अग्रवाल ने कहा कि उन्हें इस बात की प्रसन्नता है कि मुख्यमंत्री जनप्रतिक्रियाओं के आधार पर सुझावों पर अमल कर रहें हैं तथा उन्होंने इस कार्यक्रम के माध्यम से श्रोताओं के पत्र को पढ़ने, उनके उत्तर देने तथा प्रश्नोत्तर की शैली में बात प्रस्तुत करने जैसे नवाचार को अपनाया है। यह प्रयास जारी रहना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री सरल स्वभाव के सादगी पसंद व्यक्ति है और अपने इच्छाओं को सत्ता के बल पर दूसरों पर लादने की कोशिश नहीं करते। यहीं उनकी सफलता का राज है।
    दण्डकारण्य समाचार पत्र के प्रधान संपादक श्री तुषारकांति बोस ने कहा कि मुख्यमंत्री ने अनेक अच्छी योजनाओं की जानकारी दी। अगर इन योजनाओं का अच्छे से अमल हो तो इससे बस्तर अंचल विशेषकर ग्रामीण जनता को काफी लाभ मिलेगा। प्रेस क्लब बस्तर के अध्यक्ष श्री करीमुद्दीन ने कहा कि बस्तर क्षेत्र की अनेक विशिष्टताएं हैं और जिस तरह मुख्यमंत्री ने इस बार बस्तर दशहरा पर विशेष बात कही है वैसी ही हर बार इस क्षेत्र के लिए कुछ ना कुछ विशेष बात कही जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने अनेक योजनाओं की जानकारी दी है, ऐसे अधिक से अधिक प्रेरणादायी और लाभकारी योजनाओं की जानकारी नागरिकों को दी जानी चाहिए। बस्तर चेम्बर ऑफ कामर्स के पूर्व अध्यक्ष तथा नई दुनिया के ब्यूरो चीफ श्री भंवर लाल बोथरा ने कहा कि प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के माध्यम से ऐसे युवाओं, आमजनों और ग्रामीणजनों को बैंक ऋण के माध्यम से राशि मिल सकेगी, जो स्वयं का रोजगार एवं व्यापार करना चाहते हैं। अभी तक लोगों को बैंकों तक सवयं जाना पड़ता था, अब बैंक भी लोगों तक पहुंच रहे हैं। उन्होंने ऋण लेने वालों को बैंकांे तथा जिला उद्योग केन्द्र के माध्यम से प्रशिक्षण देना चाहिए, कार्यों की समीक्षा की जानी चाहिए तथा सक्रियतापूर्वक सहयोग किया जाना चाहिए। गजल गायक तथा देशबन्धु समाचार पत्र के ब्यूरो प्रमुख श्री देवशरण तिवारी ने ‘रमन के गोठ’ की सराहना की और इसके लिए जनसम्पर्क विभाग को बधाई दी।
    हल्बी लेखक श्री नरेन्द्र पाढ़ी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने बस्तर के प्रमुख त्यौहार दशहरा पर जो जानकारी दी है वह काफी सराहनीय है। उनके द्वारा चलाई जा रही चिरायु योजना भी उपयोगी साबित हो सकती है। कवि और गीतकार श्री अवधकिशोर शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री का जनता का सीधे जुड़ने का यह प्रयास प्रशंसनीय है। जिस तरह देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने एक पहल प्रारंभ की है, वैसे ही इस पहल को लगातार कायम रखना चाहिए। प्राध्यापक एवं साहित्यकर्मी श्री योगेन्द्र मोतीवाला ने कहा कि मुख्यमंत्री ने जनता से संवाद कर उपयोगी जानकारी देने की पहल की है। इससे ना केवल लोग रेडियों से जुडेंगे बल्कि योजनाओं का लाभ लेने आगे भी आएंगे। कहानीकार सुश्री उर्मिला आचार्य ने कहा कि मुख्यमंत्री ने समसामयिक विषयों तथा सांस्कृति एवं आध्यात्मिक विषयों को काफी अच्छे से प्रस्तुत किया हैं। उन्होंने बताया कि मेरे लिए यह बड़ी महत्वपूर्ण बात थी कि जब मुख्यमंत्री पुरखों और पितरों की बात कह रहें थे, उसी समय मेरे घर में श्राद्ध का कार्यक्रम भी चल रहा था। उन्होंने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों में बस्तर की ज्वलंत समस्याओं पर भी चर्चा होनी चाहिए। कवि एवं कहानीकार श्री एस. तिवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने व्यापक योजनाओं और बातों को समेटा तथा राज्य के चहुंमुखी विकास की बात कही हैं।
    जगदलपुर के किराना दुकानदार श्री बृज निषाद ने कहा कि उन्हें योजनाओं की जानकारी पाकर अच्छा लगा। बस्तर के तीरथगढ़, चित्रकोट और कुटुम्बसर गुफा को पर्यटन की दृष्टि से बढ़ावा देने के लिए विशेष प्रयास किए जाने चाहिए। बस्तर की महिला कृषक श्रीमती महेश्वरी बघेल ने कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से मुख्यमंत्री की किसानों के प्रति चिन्ता झलकती है।
    केन्द्रीय विद्यालय जगदलपुर की छात्रा कुमारी श्रीया भुवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा रेडियो के माध्यम से तीज-त्यौहारों, सामाजिक विकास और समसामयिक विषयों पर जो जानकारी दी, वह उसे ना केवल नई लगी बल्कि इसके कारण संस्कृति के प्रति लगाव भी महसूस हुआ। इसी तरह कार्यक्रम में उपस्थित अनेक छात्र-छात्राओं ने कहा कि मुख्यमंत्री रेडियो के जरिए प्रदेश में शिक्षा, स्वास्थ्य सहित विकास योजनाओं और महत्वपूर्ण जानकारी को आम लोगों तक पहुंचा रहे हैं।
क्रमांक- 1138/पंकज/भुवाल

Date: 
11 Oct 2015