Homeजशपुरनगर : रमन के गोठ : कैशलेस ट्रांजेक्शन से नकदी का दुरूपयोग रूकेगा-मुख्यमंत्री

Secondary links

Search

जशपुरनगर : रमन के गोठ : कैशलेस ट्रांजेक्शन से नकदी का दुरूपयोग रूकेगा-मुख्यमंत्री

Printer-friendly versionSend to friend

13 साल के विकास कार्यों का मुख्यमंत्री ने उल्लेख किया
      

 जशपुरनगर 11 दिसम्बर 2016

जशपुर जिले में रमन के गोठ की सोलहवीं कड़ी का प्रसारण उत्साह के साथ सुना गया। रेडियो के साथ विभिन्न समाचार चैनलों में इसके प्रसारण की व्यवस्था होने से जिले भर में इसे सुना गया। जिला मुख्यालय के जिला गं्रथालय में सामूहिक रूप से रमन के गोठ सुनने के लिए प्रोजेक्टर की व्यवस्था की गई थी। कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला, एसडीएम श्री एस.के.दुबे, नगर पालिका सीएमओ श्री पी.सी. कश्यप सहित अन्य अधिकारियों -कर्मचारियों, शिक्षकों, स्कूल एवं छात्रावास के विद्यार्थी सहित बड़ी संख्या में जनसामान्य उपस्थित थे। ’रमन के गोठ’ को सामूहिक रूप से सुनने के लिए जनपद एवं नगर पंचायतों सहित अन्य स्थानों में व्यवस्था की गई थी। लोक शिक्षा केन्द्रों में भी प्रसारण को सुना गया। नवसाक्षरों सहित जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिकों सहित ग्रामीणजनों ने लोक शिक्षा केन्द्रों में रमन के गोठ को सुना। यहां लोगों ने उत्साहपूर्वक मुख्यमंत्री की बातंे सुनी। जिले के सभी अनुभाग और सभी विकासखण्ड के क्षेत्रों में नागरिकों ने टेलीविजन एवं रेडियो पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की वार्ता ’रमन के गोठ’ को बड़े उत्साह एवं उमंग से सुना। नगर एवं गांव में महिलाओं, पुरूषों, बुजुर्गो के अलावा बच्चों ने भी प्रदेश के मुखिया की वार्ता को सुना। सभी ने 20 मिनट के कार्यक्रम ’रमन के गोठ’ का प्रसारण धैर्यपूर्वक सुना।
        मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज सवेरे आकाशवाणी से प्रसारित अपनी मासिक रेडियो वार्ता ‘रमन के गोठ’ में कहा कि आज जब मैं तेरह साल पीछे पलटकर देखता हूं तो मुझे लगता है कि छत्तीसगढ़ में जिन योजनाओं पर अमल किया है, वे देश के लिए भी अनुकरणीय हैं। जनता ने ही मुझे बड़े निर्णय लेने और उनके क्रियान्वयन की ताकत दी। डॉ. रमन सिंह ने कहा - भ्रष्टाचार, आतंकवाद और महंगाई जैसी बड़ी समस्याओं की जड़ काला धन है। इसलिए प्रधानमंत्री ने काले धन के खिलाफ सीधी लड़ाई छेड़ दी है। डॉ. सिंह ने विमुद्रीकरण के विकल्प के रूप में नकदी रहित लेनदेन (कैशलेस ट्रांजेक्शन) के लिए छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य की जनता को दी जा रही विभिन्न सुविधाओं पर भी विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि जब व्यक्तिगत रूप से हम नकद राशि का लेनदेन नहीं करेंगे और जब सभी लोग कार्ड या इंटरनेट के माध्यम से लेन-देन करने लगेंगे तब करेंसी नोटों को अपनी जेब में लेकर घूमने की समस्या ही समाप्त हो जाएगी और कैशलेस सोसायटी का निर्माण होगा और नकदी का भी दुरूपयोग रूकेगा।
        उन्होंने अपनी सरकार के विगत तेरह वर्षों की प्रमुख योजनाओं और उपलब्धियों का भी ब्यौरा दिया। डॉ. सिंह ने मुख्यमंत्री खा़द्यान सहायता योजना, शून्य ब्याज पर ऋण, समर्थन मूल्य पर किसानों से धान खरीदी, मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजना, महतारी एक्सप्रेस, संजीवनी एक्सप्रेस, तेन्दूपत्ता संग्रहण, सरस्वती साइकिल योजना, मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना, बुजुर्गों के लिए मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना का का उल्लेख किया। मुख्यमंत्री ने कौशल विकास योजना और उच्च शिक्षा के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ में प्राप्त सफलताओं का भी उल्लेख किया। उन्होंने बताया कि प्रदेश के सभी 27 जिलों में युवाओं के कौशल उन्नयन के लिए लाइवलीहुड कॉलेज खोले गए हैं।


स.क्र./48/  

Date: 
11 Dec 2016