Homeजांजगीर चांपा : गांव और शहरों में सुना गया ‘रमन के गोठ’ : श्रोताओं ने ‘डायल-112’ योजना को बताया एक अच्छी पहल

Secondary links

Search

जांजगीर चांपा : गांव और शहरों में सुना गया ‘रमन के गोठ’ : श्रोताओं ने ‘डायल-112’ योजना को बताया एक अच्छी पहल

Printer-friendly versionSend to friend

    जांजगीर चांपा 12 मार्च 2017

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के मासिक रेडियो वार्ता ‘रमन के गोठ’ को आज भी जिलेवासियों ने चाव से सुना। नैला निवासी श्री जुगल खेमका ने जांजगीर-चांपा जिले में शुरू होने जा रहे ‘डायल-112’ सेवा को एक बहुत अच्छी पहल बताया है। उन्होंने कहा कि ‘मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने रेडियो वार्ता में डायल-112 में जो जानकारी दी है, वह बहुत उपयोगी है। मुख्यमंत्री ने बताया गया कि नई प्रौद्योगिकी, नेटवर्किंग और प्रबंधन ‘डायल-112’ योजना के तहत शहरी इलाकों में 10 मिनट के भीतर तथा ग्रामीण क्षेत्रों में 30 मिनट के भीतर मदद पहुंचेगी। जुगल के पिता श्री पुरूषोत्तम खेमका ने भी इस योजना की सराहना की है।
उल्लेखनीय है कि सभी प्रकार की आपदाओं जैसे अपराध, दुर्घटना, आगजनी और प्राकृतिक आपदा की स्थिति में योजना के तहत ‘डायल-112’ पर सूचना देने पर त्वरित रूप से घटना स्थल पर मदद पहुंचायी जाएगी। जिले में इस योजना के क्रियान्वयन के लिए सभी प्रारंभिक तैयारियां पूरी भी की जा चुकी है।
जानकर खुशी हुई कि ग्रामीणों के साथ हुई चर्चा के आधार पर बनता है राज्य का बजट
ग्राम सुकली के ग्रामीण श्री रामकुमार करियारे ने कहा कि रमन के गोठ में ‘लोक सुराज अभियान’ का उल्लेख किया गया है और वास्तव में यह अभियान काफी कारगर है, हमारे गांव में ग्रामीणों ने पिछले 26 से 28 फरवरी तक आयोजित शिविरों में शासन के प्रति विश्वास के साथ मांग और शिकायत संबंधी आवेदन जमा किया है। यह जानकर भी खुशी हुई कि गांवों में भ्रमण के दौरान चौपालों में मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह की ग्रामीणों के साथ हुई चर्चा और गांवों की जरूरतों को देखते हुए राज्य का बजट बनाया जाता है। नैला निवासी श्री गणेश प्रसाद अग्रवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह प्रदेश के लिए मसीहा साबित हो रहे हैं। उनके नेतृत्व में आज अनेक कल्याणकारी योजनाओं के संचालन के साथ ही राज्य का चहंुमुखी विकास हो रहा है।
रमन के गोठ में जिले का नाम आने से होती है खुशी
श्री अरविंद कौशिक सहित रमन के गोठ सुनने वाले सभी श्रोताओं ने इस बात पर खुशी जताई कि आज की कड़ी में जांजगीर-चांपा जिले का दो बार उल्लेख हुआ है, पहले भी कैशलेस ट्रांजेक्शन के संबंध में मुख्यमंत्री द्वारा अपने रेडियो वार्ता में जिले के अनेक दुकानदारों और उनके व्यवसाय का उल्लेख किया गया था। श्री कौशिक ने कहा कि मुख्यमंत्री ने आज प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के बारे में चर्चा करते हुए जिले के ग्राम घुरकोट में रहने वाली सुखमनी और उनकी बहू मंजू देवी गढ़ेवाल का जिक्र किया है। वाकई इस योजना से माताओं और बहनों को धुंए से निजात मिल रही है। जांजगीर-चांपा जिला कम वन क्षेत्रफल वाला जिला है, इसलिए यह योजना हमारे जिले के लिए और अधिक उपयोगी है। इस योजना के संचालन से पेड़ कटेंगे नहीं और पर्यावरण का संरक्षण होगा। मुख्यमंत्री द्वारा होली की बधाई के साथ पर्यावरण और पानी बचाने का संदेश भी अनुकरणीय है। नैला के एक कृिष सामग्री की दुकान में रमन के गोठ सुनने बैठे श्री ललित सिंघल पोड़ीवाला सहित अन्य कई लोगों ने मुख्यमंत्री द्वारा दी गई जानकारियों को उपयोगी बताया।


क्रमांक/सुनीता
 

Date: 
12 Mar 2017