Homeदंतेवाड़ा : एक बार फिर सराही गई दंतेवाड़ा की जैविक खेती : मुख्यमंत्री ने रमन के गोठ में बाँटे कारली में जैविक खेती करने वाले किसानों के अनुभव

Secondary links

Search

दंतेवाड़ा : एक बार फिर सराही गई दंतेवाड़ा की जैविक खेती : मुख्यमंत्री ने रमन के गोठ में बाँटे कारली में जैविक खेती करने वाले किसानों के अनुभव

Printer-friendly versionSend to friend

 दंतेवाड़ा, 08 मई, 2015

कलेक्टर श्री सौरभ कुमार ने ग्राम कासोली की देवगुड़ी में ग्रामीणों के साथ रमन के गोठ की नवीं कड़ी सुनी। इस बार मुख्यमंत्री ने एक बार पुन: दंतेवाड़ा में जैविक खेती कर रहे किसानों की मेहनत को रमन के गोठ के माध्यम से सराहा। गोठ समाप्त होने के पश्चात कलेक्टर ने ग्रामीणजनों से कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह जैविक खेती को लेकर किए जा रहे आपके प्रयासों से काफी खुश हैं। हमारे लिए खुशी की बात है कि उन्होंने इसे अपने गोठ के माध्यम से व्यक्त भी किया। खेती को आगे बढ़ाने के लिए किए जा रही किसानों की हर कोशिश को शासन-प्रशासन की ओर से प्रोत्साहन और मदद मिलेगी। उन्होंने रमन के गोठ सुनने आए पहुँचे किसानों से पूछा कि आप लोग मोचो बाड़ी कर रहे हैं अथवा नहीं। कासोली के ग्रामीणों ने बताया कि यहाँ 7 समूह है जो मोचो बाड़ी कर रहे हैं। कलेक्टर ने कहा कि जो किसान मोचो बाड़ी के लिए इच्छुक हैं वे अपना प्रस्ताव दें। उन्होंने कहा कि खरीफ के साथ रबी फसल लेना भी लक्ष्य है। इसके लिए पानी की दिक्कत दूर की जाएगी। तालाबों का गहरीकरण किया जाएगा। इरीगेशन लाइन का विस्तार किया जाएगा। रबी फसल के लिए भरपूर पानी सुनिश्चित किया जाएगा। जहाँ डबरी की माँग आ रही है वहाँ डबरी उपलब्ध कराई जाएगी। जहाँ संभव हो वहाँ कुँआ खोदा जाएगा। कलेक्टर ने किसानों से कहा कि वे खेती में नये प्रयोग करें। सब्जी उत्पादन करें, नई प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करें। खेती-किसानी की बहुत सी योजनाएँ हैं जिनमें शासकीय अनुदान काफी अधिक है। रमन के गोठ पर प्रतिक्रिया देते हुए जिला पंचायत सदस्य श्री चैतराम अटामी ने कहा कि हमें बहुत खुशी होती है जब मुख्यमंत्री सबसे पहले हमारे जिले का जिक्र करते हैं और जैविक खेती करने वाले किसानों की सराहना करते हैं। जब वे कारली आए तो उन्होंने हमसे समस्याएँ पूछीं और तुरंत ही हल किया। जैसे मुख्यमंत्री ने 3 महीने के भीतर नक्शा खसरा की प्रतियाँ उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। आबादी जमीन का पट्टा नि:शुल्क दिए जाने की घोषणा की। इन सारी घोषणाओं से आम आदमी को काफी राहत मिलेगी। रमन के गोठ सुनने पहुँचे हीरानार के प्रगतिशील कृषक श्री लुदरू ने कहा कि पिछली बार हमारे किसान समूह ने मेरे खेत में रमन के गोठ सुना था। मुख्यमंत्री ने जैविक खेती की प्रशंसा की थी, इस बार वे कारली में आए और कहा कि जैविक कृषकों का सम्मेलन बुलाएंगे और उसमें प्रधानमंत्री भी आएंगे। हम किसानों के लिए इससे बड़े सौभाग्य की क्या बात है कि मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री स्वयं दंतेवाड़ा में हो रहे कृषि संबंधी प्रयोगों की प्रशंसा कर रहे हैं।


स.क्र./ 313/जनसंपर्क
 

Date: 
08 May 2016