Home दंतेवाड़ा : कैशलेस ट्रांजेक्‍शन को बढ़ावा देने मुख्‍यमंत्री के प्रयासों को देंगे बल : रमन के गोठ सुन गीदम निवासियों ने दी प्रतिक्रिया

Secondary links

Search

दंतेवाड़ा : कैशलेस ट्रांजेक्‍शन को बढ़ावा देने मुख्‍यमंत्री के प्रयासों को देंगे बल : रमन के गोठ सुन गीदम निवासियों ने दी प्रतिक्रिया

Printer-friendly versionSend to friend

दंतेवाड़ा, 11 दिसंबर 2016

कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने मुख्‍यमंत्री डॉ रमन सिंह ने आज रमन के गोठ में आम जनता से अपील की और कैशलेस ट्रांजेक्शन से जुड़े लाभों के संबंध में आम जनता को अवगत कराया। रमन के गोठ को दंतेवाड़ा जिले के विभिन्‍न पोटाकेबिनों तथा आश्रम शालाओं के साथ ही गीदम स्थित साप्‍ताहिक बाजार में भी सुनाया गया। गीदम साप्‍ताहिक बाजार में खरीदारी करने पहुंचे श्री सन्‍नू मंडावी ने बताया कि वो हर हफ्ते रमन के गोठ सुनते है। इस दिन साप्‍ताहिक बाजार का दिन होता है अतएव वे रेडियो भी साथ लेकर पहुंचते है। इस बार मुख्‍यमंत्री ने स्‍वाइप मशीनों का इस्‍तेमाल करने की सलाह दी। हम दंतेवाड़ा निवासी भी स्‍वाइप मशीन को तेजी से अपना रहे है। गीदम में ही खरीदारी करने पहुंचे श्री राजेश पॉल ने बताया कि दंतेवाड़ा जैसे जिले में भी केशलेस ट्रांजेक्शन के प्रति कमाल की जागरूकता भी आई है। बस स्‍टैड की दुकानों में पेटीएम से लोग भुगतान कर रहे है। आटो वाले भी पेटीएम अपना रहे है। श्री पॉल ने बताया कि वे भी अपनी दुकान के लिए पीओएस मशीन खरीदेगे।

आजकल ग्राहक चिल्‍हर लेकर नही चलते और बैंक में बार-बार पैसा जमा करने में भी परेशानी होती है। ऐसे में पीओएस मशीन और पेटीएम के माध्‍यम से भुगतान स्‍वीकार करना दुकानदारों के लिए अच्‍छा है। श्री पॉल ने बताया कि सरकार भी पीओएस मशीन के इस्‍तेमाल के लिए प्रोत्‍साहित कर रही है और 2000 रूपए तक की खरीदी का सेवा शुल्‍क से मुक्‍त कर दिया है। पेटीएम जैसे मोबाइल ऐप कैशबैंक का लाभ भी ग्राहकों को उपलब्‍ध करा रहे है। एसे में बदलते समय के अनुरूप कैशलेस ट्रांजेक्शन को अपनाना उपयोगी है। गीदम में ही खरीदारी करने पहुंचे श्री महेश सिन्‍हा ने कहा कि दंतेवाड़ा जिले में कैशलेस ट्रांजेक्शन को सबसे तेजी से अपनाया गया है। पालनार का बाजार पूरी तरह वाई-फाई युक्‍त प्रदेश का कैशलेस ट्रांजेक्शन का पहला मॉडल गॉव बन गया है। अब जब प्रधानमंत्री अपने मन की बात में और मुख्‍यमंत्री अपने रमन के गोठ में कैशलेस ट्रांजेक्शन को अपनने कहते है तो इसका निश्चित ही सकारात्‍मक असर पड़ेगा।

Date: 
11 Dec 2016