Homeदुर्ग : रमन के गोठ से मिली शहीदों के संघर्ष और बलिदान की जानकारी : रमन के गोठ पर जन प्रतिक्रिया

Secondary links

Search

दुर्ग : रमन के गोठ से मिली शहीदों के संघर्ष और बलिदान की जानकारी : रमन के गोठ पर जन प्रतिक्रिया

Printer-friendly versionSend to friend

दुर्ग, 14 अगस्त 2016

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का मासिक रेडियों कार्यक्रम रमन के गोठ के 12वीं कड़ी का प्रसारण आज किया गया। कार्यक्रम को जिले के शहरी क्षेत्रों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम पंचायतों के सरपंचों, पंचों एवं ग्रामीणजनों के साथ-साथ जनपद पंचायत के प्रतिनिधियों एवं नगरीय निकायों के प्रतिनिधियों, पार्षदों और आम नागरिकांे ने उत्साहपूर्वक सुना।
विकासखण्ड धमधा के ग्राम पंचायत टेमरी के सरपंच श्री थानेश्वर प्रसाद शरण ने कार्यक्रम को सुनकर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि पहली बार उन्हें छत्तीसगढ़ के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों और उनके बलिदानों की गरिमामय इतिहास की इतनी अच्छी जानकारी मिली। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के निवासी छत्तीसगढ़ के महान वीर सपूतों द्वारा स्वतंत्रता के लिए उनके द्वारा किए गए संघर्षों और योगदान से रू-ब-रू हुए हैं। उन्होंने आगे कहा कि रमन के गोठ के माध्यम से नई-नई जानकारी मिलती है जिसके बारे में अनेक लोगों को जानकारी नहीं होती है। कार्यक्रम से ग्रामीण और पिछड़े क्षेत्रों के लोगों को ज्ञानवर्धक जानकारी मिल रही है जिससे लोग उत्साहपूर्वक सुनने के लिए सुबह से ही कार्यक्रम का इंतजार करते हैं।
कार्यक्रम को नगर पंचायत पाटन और नगर पंचायत उतई, भिलाई नगर निगम क्षेत्र के कातुल बोर्ड के स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ ही बड़ी संख्या में लोगों ने सुना। इन लोगों का भी कहना है कि कार्यक्रम से मिलने वाली जानकारी और ज्ञान के परिणामस्वरूप युवा, महिला, पुरूष, बुजुर्ग, विद्यार्थी सहित सभी वर्ग के लोग कार्यक्रम को सुनने में अपनी रूचि दिखाते हैं। आज के कार्यक्रम से छत्तीसगढ़ के स्वतंत्रता आंदोलन लम्बे संघर्ष और अंग्रेजों को भारत छोड़ने के लिए किए गए प्रयासों की जानकारी मिली है। छत्तीसगढ़ की वीर सपूतों की बलिदान को जानकर वे गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।क्रमांक-723/प्रभाकर

Date: 
14 Aug 2016