Homeदुर्ग : राज्य की ढाई करोड़ जनता से जुड़ने का माध्यम है ’’रमन के गोठ’’

Secondary links

Search

दुर्ग : राज्य की ढाई करोड़ जनता से जुड़ने का माध्यम है ’’रमन के गोठ’’

Printer-friendly versionSend to friend

दुर्ग,  08 नवम्बर 2015

क्षेत्र की प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता और स्वच्छता अभियान की नवरत्न श्रीमती शानू मोहनन ने आकाशवाणी के माध्यम से प्रसारित होने वाले ’’रमन के गोठ’’ कार्यक्रम को राज्य की ढाई करोड़ जनता से जुड़ाव का सशक्त माध्यम बताया है। वे बच्चों के व्यक्तित्व विकास के लिए स्कूली परीक्षाओं को जरूरी बताती है, और बालिका सशक्तिकरण के लिए राज्य शासन द्वारा चलाए जा रहे योजनाओं के लिए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को साधुवाद देती है।
    क्षेत्र के प्रसिद्ध साहित्यकार श्री पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी जी की पोती एवं साहित्य प्रेमी श्रीमती नलिनी श्रीवास्तव ने मुख्यमंत्री के भीतर छुपे आम संवेदनशील नागरिक की पहचान बताते हुए कहा कि स्कूली बच्चों की अकाल मृत्यु के प्रति उनकी संवेदना उन्हें सहृदय बनाती है। वे त्यौहारों को भारत की आत्मा मानती है और राज्य के मुखिया के द्वारा त्यौहारों की शुभकामना दिए जाने पर त्यौहार की खुशी दुगुनी होना बताती है। श्रीमती श्रीवास्तव की माने तो राज्य के मुखिया का दायित्व सही तरीके से निभाया जा रहा है।
    क्षेत्र के प्रसिद्ध पत्रकार श्री प्रशांत कानस्कर का कहना है कि अच्छी परम्परा की शुरूवात हुई है। रेडियो की पहुंच ग्रामीण क्षेत्रों तक हैं। वहां के घर-घर तक रमन सरकार की योजनाओं की जानकारी पहुंच रही है। राज्य के मुखिया की बातें सुनने का अवसर आम जनता को भी प्राप्त हो रहा है, इससे अपनत्व का भाव पैदा होता है। उन्होंने मुख्यमंत्री को सौम्य और संवेदनशील बताया है।
क्रमांक- 1178/नायक

Date: 
08 Nov 2015