Homeदुर्ग : ’रमन के गोठ’ का शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में उत्साहपूर्वक श्रवण : स्वच्छता के लिए मुख्यमंत्री ने दुर्ग जिले की भारती महिला स्व-सहायता समूह और गीता स्व-सहायता समूह की तारीफ की

Secondary links

Search

दुर्ग : ’रमन के गोठ’ का शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में उत्साहपूर्वक श्रवण : स्वच्छता के लिए मुख्यमंत्री ने दुर्ग जिले की भारती महिला स्व-सहायता समूह और गीता स्व-सहायता समूह की तारीफ की

Printer-friendly versionSend to friend

दुर्ग, 11 सितम्बर 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के रेडियों कार्यक्रम ’रमन के गोठ’ के 13वीं कड़ी का श्रवण आज दुर्ग जिले के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में उत्साहपूर्वक किया गया। विभिन्न ग्राम पंचायतों के सरपंचों, पंचों एवं ग्रामीणजनों के साथ-साथ पंचायत एवं नगरीय निकायों के प्रतिनिधियों और आम नागरिकांे ने रेडियों और टेलीविजन के माध्यम से इसे सुना और देखा। अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि दुर्ग जिले की भारती महिला स्व-सहायता समूह और गीता स्व-सहायता समूह ने तो स्वच्छता को रोजगार से जोड़ लिया। इन समूहों ने 100-100 घरो में शौचालय निर्माण का ठेका लिया और समय पर पूरा करके दिखाया है। मुख्यमंत्री ने इसके लिए भारती चन्द्राकर और गीता सोनी को बधाई दी।
मुख्यमंत्री ने अपने संदेश में कहा कि हमारे शिक्षक-शिक्षिकाएं अपने जीवन को ऐसा उदाहरण बनाएं, जिससे उन्हें सिर्फ शिक्षक दिवस पर ही नहीं, बल्कि हमेशा याद किया जाए। उन्होंने कहा कि हमारे यहां सभी धर्मों, समुदायों के पर्व-त्यौहारों को मिल जुलकर मनाने की आदर्श परम्परा है। इससे समाज में समरसता और सद्भाव बनी रहती है। छत्तीसगढ़ में मातृ शक्ति के सम्मान की परम्परा है, जिसे प्रदेश में महिलाओं के मान-सम्मान, उनके अधिकारों की रक्षा और सशक्तीकरण को बल मिलता है। उन्होंने कहा कि
जिला प्रशासन ने इन बेटियों के रोजगार परक प्रशिक्षण और ऋण दिलाने की व्यवस्था की है। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत इन बेटियों को बैंक से ऋण दिलाया गया है ताकि वे अपना रोजगार स्थापित कर सकें। मुख्यमंत्री ने कहा कि बहुत दुःखद स्थिति होती है, कि आदमी एक-एक रूपया जोड़ता है और जोड़कर अपनी जमा.पूंजी तैयार करता है। ज्यादा ब्याज के लालच में वह ऐसी चिटफंड कम्पनियों के जाल में फंस जाता है। उन्होंने नागरिकों से अपील की अपनी जमा-पूंजी सुरक्षित बैंकों में ही रखें। बिना जांच.पड़ताल किए किसी भी संस्था में पैसा जमा न करें। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में हमने एक कड़ा कानून बनाया है, जो चिटफंड कम्पनियों के गोरखधंधों से राहत दिलाएगा। इस कानून के तहत हमने प्रावधान किया है कि किसी भी संस्था को जनता से पैसे इकट्ठा करने के पहले जिला कलेक्टर से अनुमति लेनी होगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि माताएं-बहनें और उनके परिवार के सदस्य सब लोग रसोई गैस का सुरक्षित उपयोग करना सीखें। वे गैस सिलेण्डर के रेगुलेटर की कार्यप्रणाली को समझें। गैस चूल्हे को चालू.बंद कैसे करते हैंए यह सीखें। गैस सिलेण्डर खुले रहने पर आने वाली गंध को तुरंत पहचानें। सिलेण्डर खड़ा रखना है। सिलेण्डर को चूल्हे से जोड़ने वाली प्लास्टिक की पाइप की सुरक्षा को समझना है। यदि गैस सिलेण्डर खुला रह गया है और उसके कारण रसोई घर में गैस भर गई हैए तो वहां घुसकर न तो बिजली के स्विच चालू करें, न लाइटर या माचिस का उपयोग करें। ऐसा कोई भी काम न करेंए जिससे कि आग लग जाए। गैस सिलेण्डर के साथ एजेंसी का टोल फ्री नम्बर दिया जा रहा है, उसे घर में 2-3 जगह लिखकर रखें, ताकि कभी भी आशंका होने पर टोल फ्री नम्बर पर फोन करें। इसमें कोई संकोच न करें।
इस अवसर पर पुलगांव स्कूल के पास स्कूल में रमन के गोठ का श्रवण करने के उपरांत पूर्व पार्षद श्री मोतीलाल साहू ने कहा कि उन्हें दुर्ग जिले में चलाए जा रहे स्वच्छता अभियान की जानकारी प्राप्त करने पर काफी गर्व हुआ है। इसी तरह नगर निगम भिलाई-चरोदा के नागरिकों ने कहा है कि रमन के गोठ का सुनना हमेशा से शिक्षाप्रद रहा है और इस कार्यक्रम में आज पूरे प्रदेश के योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी।
क्रमांक-841/पंकज/नोहर    

 

Date: 
11 Sep 2016