Homeधमतरी : जिले में पदस्थ राजस्व अधिकारियों के बीच कार्यविभाजन

Secondary links

Search

धमतरी : जिले में पदस्थ राजस्व अधिकारियों के बीच कार्यविभाजन

Printer-friendly versionSend to friend

धमतरी 20 मार्च 2017

कलेक्टर डॉ.सी.आर. प्रसन्ना ने नव पदस्थ डिप्टी कलेक्टर कुमारी योगिता देवांगन की पदस्थापना के मद्देनजर अपर कलेक्टर, संयुक्त कलेक्टर एवं डिप्टी कलेक्टरों के बीच पूर्व में सौंपे गए दायित्वों में आंशिक संशोधन किया है। उन्होंने अपर कलेक्टर एवं अपर जिला दण्डाधिकारी श्री के.आर.ओगरे को दांडिक कार्य के तहत् जिला दण्डाधिकारी के पर्यवेक्षण, निर्देशन के अधीन जिले में कानून व्यवस्था बनाए रखने का दायित्व सौंपा है। राजस्व कार्य के तहत् भू-राजस्व संहिता 1959 राजस्व पुस्तक परिपत्र एवं कृषि खातों की उच्चतम सीमा अधिनियम के तहत् मूल, अपील, पुनरीक्षण एवं पुनर्विचार के तहत् प्राप्त होने वाले प्रकरणों का 2/3 भाग, सूचना के अधिकार से संबंधित अपील की जिम्मेदारी दी गई है। साथ ही 2/3 भाग का निर्धारण करने के लिए उपरोक्तानुसार प्राप्त सभी प्रकरण पहले कलेक्टर को प्रस्तुत होगा। वहां से 2/3 भाग प्रकरण का निर्धारण करने अपर कलेक्टर के न्यायालय में भेजा जाएगा। विशेष विवाह अधिनियम के तहत् मामले, छत्तीसगढ़ विवाह का अनिवार्य पंजीयन नियम-2006 संबंधी कार्य भी उन्हें सौंपा गया है। भू-आबंटन के ऐसे मामले जिसमें प्रतिवेदन अंकित करने अथवा निराकरण करने के लिए अपर कलेक्टर सक्षम हैं। नजूल प्रकरणों का निपटारा, विभागीय जांच अधिकारी एवं शिकायत शाखा की नस्तियों के निराकरण की जिम्मेदारी अपर कलेक्टर को सौंपी गई है।
उन्हें उप जिला निर्वाचन अधिकारी, सामान्य एवं स्थानीय निर्वाचन शाखा, वित्त शाखा, स्टेशनरी एवं प्रपत्र शाखा, लोकसभा, राज्यसभा, विधानसभा, स्थगन, ध्यानाकर्षण प्रश्नों का समयावधि में निराकरण एवं पर्यवेक्षण, एस.डब्ल्यू., पासपोर्ट, भू-अभिलेख, परिवर्तित शाखा, आवास आबंटन शाखा की जिम्मेदारी भी दी गई है। साथ ही वे अनुज्ञप्ति शाखा, विस्फोटक आर्म्स, भारसाधक अधिकारी, कृषि उपज मंडी समिति धमतरी का कार्य देखेंगे। श्री ओगरे द्वारा परिवीक्षा अवधि वाले डिप्टी कलेक्टर, नायब तहसीलदार के प्रशिक्षण कार्यक्रम का टीप प्रतिवेदन प्राप्त कर प्रशिक्षण की समीक्षा की जाएगी। किराया निर्धारण  के मामले (पांच हजार रूपए प्रतिमाह से अधिक होने पर कलेक्टर को प्रस्तुत करेंगे।) इसके अलावा उत्तराधिकार प्रमाण पत्र संबंधी आवेदन और प्रकरण अपर कलेक्टर न्यायालय में प्रस्तुत किए जाएंगे। जाति प्रमाण पत्र संबंधी अपील प्रकरणों की सुनवाई, अध्यक्ष जिला स्तरीय छानबीन समिति के दायित्वों का निर्वहन भी उनके द्वारा किया जाएगा। छत्तीसगढ़ लोकसेवा अनुसूचित जाति, जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षण अधिनियम 1994 की धारा 16 के तहत् संपर्क अधिकारी की जिम्मेदारी के साथ ही उनके द्वारा छत्तीसगढ़ पंचायत राज अधिनियम 1993 के तहत् मूल अपील, पुनरीक्षण, पुनर्विलोकन के ऐसे मामले जो मत्स्य पालन के लिए तालाब आबंटन तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, रोजगार सहायक, शिक्षाकर्मी इत्यादि विभिन्न नियुक्तियों से संबंधित सुनवाई की जाएगी। वे विविध कार्यों के तहत् कलेक्टर द्वारा अनुमोदिन रोस्टर अनुसार कार्यालयों का निरीक्षण, राजस्व अधिकारियों का दौरा कार्यक्रम, दौरा, दैनंदिनी का अनुमोदन (अनुविभागीय अधिकारी, अनुविभागीय दण्डाधिकारी को छोड़कर) करेंगे। संयुक्त कलेक्टर श्री गोविन्दराम राठौर को अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं अनुविभागीय दण्डाधिकारी धमतरी का सम्पूर्ण प्रभार तथा जिला सत्कार अधिकारी का दायित्व दिया गया है।
डिप्टी कलेक्टर श्री प्रेमकुमार पटेल को अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं अनुविभागीय दण्डाधिकारी कुरूद का सम्पूर्ण प्रभार दिया गया है। उन्हें कुरूद एवं मगरलोड विकासखण्ड में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के स्टाफ की उपस्थिति, साफ-सफाई का समुचित निरीक्षण, स्वास्थ्य केन्द्रों में दवाईयों की उपलब्धता संबंधी जांच करना होगा। डिप्टी कलेक्टर श्री खेमलाल सोरी को अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं अनुविभागीय दण्डाधिकारी नगरी का सम्पूर्ण प्रभार सौंपा गया है। श्री प्रवीण कुमार वर्मा को जिला परिवहन अधिकारी, सिटी बस परियोजना के क्रियान्वयन एवं सतत् समीक्षा हेतु नोडल अधिकारी बनाया गया है। साथ ही सी.एस.आर. संबंधी शाखा, जिला कार्यक्रम प्रबंधक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन का प्रभार और जिला चिकित्सालय धमतरी एवं नगरी विकासखण्ड के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के स्टॉफ की उपस्थिति, साफ-सफाई, दवाईयों की उपलब्धता, पेयजल की व्यवस्था का समुचित निरीक्षण करने का दायित्व सौंपा गया है। श्री वर्मा केन्द्रीय विद्यालय धमतरी के सभी कार्यों के प्रभारी अधिकारी होंगे। कलेक्टर को प्रस्तुत की जाने वाली नस्तियां उनके द्वारा ही प्रस्तुत किया जाएगा।
डिप्टी कलेक्टर श्री राजीव कुमार पाण्डेय को नजूल शाखा, विधि, भू-अर्जन, जनगणना, प्रस्तुतकार शाखा, छ0ग0 लोकसेवा गांरटी अधिनियम 2011, 15 एवं 20 सूत्रीय कार्यक्रम का क्रियान्वयन तथा पुनर्वास शाखा का दायित्वा सौंपा गया है। साथ ही वे छ.ग. के निक्षेपकों के हितों के संरक्षण अधिनियम 2005 तथा गंगरेल पर्यटन विकास समिति गंगरेल के प्रभारी अधिकारी होंगे। इसके अलावा उन्हें अनुसूचित जाति, जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत् धारा 10 में विशेष अधिकारी, मुख्यमंत्री सहायता कोष, संजीवनी कोष, आवक-जावक शाखा, समन्वय अधिकारी रैपिड एक्शन फोर्स, ग्राम सुराज, जिला सैनिक, नगर सैनिक का दायित्व सौंपा गया है। इसके अलावा समयावधि संबंधी सभी नस्तियों का समीक्षा कर कलेक्टर को प्रस्तुत किया जाएगा। साथ बंधवा मजदूर, अधिक अन्न उपजाओ शाखा की जिम्मेदारी श्री पाण्डेय को दी गई है।
डिप्टी कलेक्टर कुमारी योगिता देवांगन को सहायक अधीक्षक शाखा, राजस्व एवं आपदा प्रबंधन राहत, स्वेच्छानुदान, ऑडिट निरीक्षण, जिला नाजरात, अल्प बचत, अभिलेख कोष्ठ (हिन्दी एवं आंग्ल), प्रतिलिपिकार शाखा, पर्यटन एवं पुरातत्व, जिला जनसूचना अधिकारी, शिकायत शाखा, वरिष्ठ लिपिक शाखा एवं विविध शाखा, जिला रोजगार अधिकारी का दायित्व सौंपा गया है। इसके साथ ही वे राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस कार्यक्रम के तहत् स्वान, ई-डिस्ट्रिक्स, सी.एस.सी., च्वाईस परियोजना, लोकसेवा केन्द्र तथा जिले के आई.टी.आई से संबंधित सभी कार्यों के लिए पदेन सचिव एवं प्रभारी अधिकारी होंगी। इसके अलावा अंत्यावसायी वित्त एवं विकास निगम के कार्यपालन अधिकारी का दायित्व उन्हें सौंपा गया है। इसके अलावा इन सभी अधिकारियों को कलेक्टर/जिला दण्डाधिकारी द्वारा लिखित/मौखिक निर्देशानुसार समय-समय पर सौंपे गए दायित्व का निर्वहन भी करना होगा।
क्रमांक-71/1705/इस्मत    

Date: 
20 Mar 2017