Homeधमतरी : महिला सशक्तिकरण को लेकर प्रदेश सरकार कृत्संकल्पित : ‘रमन के गोठ‘ की 19वीं कड़ी के प्रसारण पर लोगों ने दी प्रतिक्रिया

Secondary links

Search

धमतरी : महिला सशक्तिकरण को लेकर प्रदेश सरकार कृत्संकल्पित : ‘रमन के गोठ‘ की 19वीं कड़ी के प्रसारण पर लोगों ने दी प्रतिक्रिया

Printer-friendly versionSend to friend

धमतरी 12 मार्च 2017

 ‘प्रदेश की सरकार महिलाओं के विकास और सशक्तिकरण को लेकर कृत्संकल्पित है। शासन की ज्यादातर योजनाएं महिलाओं को संबल व मजबूती प्रदान करने को लेकर केन्द्रित हैं।‘ रमन के गोठ की 19वीं कड़ी के प्रसारण के अवसर पर उक्त बातें जनप्रतिनिधियों तथा ग्रामीणों ने कही। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता ‘रमन के गोठ‘ के प्रसारण की जिला स्तर पर सुनने की व्यवस्था इस बार धमतरी विकासखण्ड की ग्राम पंचायत पुरी के स्कूल परिसर में की गई थी।
‘रमन के गोठ‘ के प्रसारण के तुरंत बाद अपनी प्रतिक्रिया देते हुए जनपद पंचायत धमतरी की अध्यक्ष श्रीमती रंजना साहू ने कहा कि सूचना क्रांति और संचार के नवीन साधनों व संसाधनों से जोड़ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अगुवाई में प्रदेश सरकार बेहतर कार्य कर रही है। उन्होंने इसके लिए 200 करोड़ रूपए के बजट का भी प्रावधान किया गया है। इसी तरह नारी सशक्तिकरण को लेकर उनका रूख स्पष्ट है कि विशेष तौर पर महिलाओं के सर्वांगीण विकास में शासन द्वारा अनेक नवाचार किया जा रहा है। जिला पंचायत के पूर्व अध्यक्ष ग्राम पुरी निवासी श्री बालाराम साहू ने अपनी बात रखते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने सभी तबके के लिए योजनाएं बना रखी हैं। योजनाओं का क्रियान्वयन गांव-गली तक परिलक्षित हो रहा है। श्री साहू ने कहा कि होली पर्व के अवसर पर लकड़ी के बजाय कंडे और कचरे को जलाने की मुख्यमंत्री की अपील उन्हें अच्छी लगी। उन्होंने पीड़ित महिलाओं के लिए राजधानी सहित जिलों में भी सखी वन स्टॉप सेंटर खोले जाने के निर्णय को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि यह संवेदनशील सरकार की वास्तविक पहचान है। ग्राम पंचायत पुरी के सरपंच श्री चिरौंजीलाल साहू ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत बीपीएल परिवार के हितग्राहियों को दिए जाने वाली रसोई गैस का लक्ष्य 25 लाख से बढ़ाकर 35 लाख कर दिया गया है, यह जानकारी अभी ‘रमन के गोठ‘ से मिली। श्री साहू ने बताया कि 39 लाख ग्रामीणों को स्मार्ट फोन वितरित करने की योजना सराहनीय है। इससे ग्रामीणजन नई तकनीकी से खुद को जोड़ सकेंगे। ग्रामीण महिला श्रीमती रानी राजपूत ने रमन के गोठ सुनने के बाद कहा कि प्रदेश शासन महिलाओं की सुरक्षा और विकास को लेकर काफी चिंतित और सतर्क है। सखी वन स्टॉप सेंटर के खुलने से निश्चय ही बेसहारा महिलाओं को सहारा मिलेगा। ग्रामीण श्री फत्तेलाल नेताम ने कहा कि डॉ. रमन सिंह की अगुवाई में एक से एक बेहतर कार्य हो रहे हैं। रमन के गोठ के माध्यम से मुख्यमंत्री की सीधी वार्ता सुनने को मिली, जो काफी बेहतर रहा। ग्रामीणों ने भी अपनी-अपनी प्रतिक्रिया देते हुए ‘रमन के गोठ‘ कार्यक्रम की सराहना की।
रमन के गोठ के 19वें प्रसारण में आज प्रदेश के मुख्यमंत्री ने रेडियो-वार्ता के माध्यम से होली पर्व की बधाई देते हुए सामाजिक बुराइयों को जलाकर अच्छाइयां अपनाने की अपील की। उन्होंने लकड़ी के स्थान पर अनुपयोगी वस्तुआंे, कंडे तथा कचरे को जलाने की बात कही। साथ ही अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं देते हुए नारी सशक्तिकरण पर चर्चा करते हुए प्रदेश की दो महिलाओं को राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित किए जाने का भी जिक्र किया। उन्होंने बताया कि बेटियों को स्कूल भेजने के मामले में छत्तीसगढ़ राज्य नौवंे स्थान पर है। उन्होंने सखी वन स्टॉप सेंटर का भी उल्लेख इस दौरान किया। इसके अलावा वित्तीय वर्ष 2017-18 में महिलाओं के लिए प्रावधानित किए गए बजट पर भी संक्षिप्त में प्रकाश डाला। इसके अलावा प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत बीपीएल परिवारों को रसोई गैस वितरण का लक्ष्य 25 लाख से 35 लाख तक बढ़ाए जाने के बारे में भी उन्होंने बताया। साथ ही ग्रामीण क्षेत्र में नए टॉवर लगाने और 39 लाख ग्रामीणों को स्मार्ट फोन प्रदान करने का भी जिक्र मुख्यमंत्री ने किया। प्रदेश में इस वर्ष तीन चरणों में आयोजित लोक सुराज अभियान का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने बताया कि ग्रामीणों से प्राप्त आवेदनों का तीसरे चरण में तीन अप्रैल से 20 मई के मध्य समाधान किया जाएगा और वे इस दौरान ग्रामों का औचक निरीक्षण भी करेंगे। इसके अलावा डायल-112 सहित कतिपय योजनाओं के बारे में भी संक्षेप में जानकारी दी। इस अवसर पर कलेक्टर डॉ. सी.आर. प्रसन्ना, अपर कलेक्टर श्री के.आर. ओगरे, एसडीएम धमतरी श्री जी.आर. राठौर सहित जिला स्तर के अधिकारियों ने ग्राम पंचायत पुरी में ‘रमन के गोठ‘ का अनुश्रवण किया।


क्रमांक-47/1681/सिन्हा



 

Date: 
12 Mar 2017