Homeधमतरी : शिक्षा के प्रति संवेदनशील है शासन: महापौर : ‘रमन के गोठ‘ के तृतीय प्रसारण पर नागरिकों ने दी प्रतिक्रिया

Secondary links

Search

धमतरी : शिक्षा के प्रति संवेदनशील है शासन: महापौर : ‘रमन के गोठ‘ के तृतीय प्रसारण पर नागरिकों ने दी प्रतिक्रिया

Printer-friendly versionSend to friend

धमतरी 08 नवम्बर 2015

‘रमन के गोठ कार्यक्रम आमजनता से संवाद और समसामयिकी मुद्दों की प्रतिक्रियाओं का बेहतर मंच है। मुख्यमंत्री द्वारा आज दिए गए संवाद से यह स्पष्ट है कि सरकार और शासन किसानों की बेहतरी और शिक्षा के प्रति संवेदनशील है।‘ इस आशय के विचार नगर निगम धमतरी की महापौर श्रीमती अर्चना चौबे ने आज सुबह स्थानीय मेनोनाइट स्कूल में आयोजित ‘रमन के गोठ‘ कार्यक्रम की प्रतिक्रिया में व्यक्त की।
    आज सुबह 10.45 बजे से 11.00 बजे तक आकाशवाणी तथा विभिन्न चैनलों में आयोजित ‘रमन के गोठ‘ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को दीपावली, गोवर्धन पूजा, भाई दूज और पुन्नी मेला की शुभकामनाएं देते हुए प्राप्त पत्रों पर अपनी बातें रखी। उन्होंने डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम शिक्षा गुणवत्ता वर्ष की चर्चा करते हुए शासन-प्रशासन के साथ-साथ समाज के सभी वर्गों द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना की। मुख्यमंत्री ने पिछले दिनों गरियाबंद जिले में घटित हादसे में मृत स्कूली छात्र-छात्राओं तथा घायलों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति नहीं होने देने की अपील पालकों तथा आमजनता से की।  कार्यक्रम के उपरांत नागरिकों व जनप्रतिनिधियों ने अपनी प्रतिक्रियाएं भी दीं। पार्षद श्री नीलेश भारद्वाज ने इसे सराहनीय प्रयास निरूपित किया। ग्राम रावनगुड़ा से आए श्री रेखराज साहू ने कार्यक्रम की अवधि में वृद्धि करते हुए कक्षा आठवीं तक परीक्षा पद्धति पुनः लागू करने की मांग की। ग्राम परेवाडीह के श्री करणसिंह साहू ने कहा कि इस कार्यक्रम से शासन की योजनाओं की जानकारी मिलती है और मुख्यमंत्री द्वारा जनता के पत्रों का निदान करने की सराहना की। पूर्व पार्षद श्री दयाशंकर सोनी ने अगले कार्यक्रम में नगरीय निकायों की समस्याओं पर विचार करने की मांग की। शासकीय बी.सी.एस. पी.जी. कॉलेज के प्राचार्य डॉ. चंद्रशेखर चौबे ने ‘रमन के गोठ‘ को जनता से संवाद का प्रभावी माध्यम बताते हुए अनूठी पहल की सराहना की। इस दौरान नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष डॉ., एनपी गुप्ता, एस.पी. श्री मनीष शर्मा, सी.ई.ओ. जिला पंचायत श्री पी.एस. एल्मा, ए.एस.पी. श्री अशोक पीपरे सहित विभिन्न विभागों के अधिकारीगण मौजूद थे। इसके अलावा जनपद पंचायत नगरी, कुरूद, मगरलोड में भी प्रसारण की व्यवस्था की गई, जिसे स्थानीय नागरिकों और ग्रामीणों ने सुना।

 

क्रमांक-41/1208/सिन्हा
 

Date: 
08 Nov 2015