Homeधमतरी : ‘एक व्यक्ति, तीन पौधे के संकल्प से साकार होगा हरियर छत्तीसगढ़ का सपना‘ : ‘रमन के गोठ‘ की दसवीं कड़ी के प्रसारण पर नगरवासियों ने व्यक्त की प्रतिक्रियाएं

Secondary links

Search

धमतरी : ‘एक व्यक्ति, तीन पौधे के संकल्प से साकार होगा हरियर छत्तीसगढ़ का सपना‘ : ‘रमन के गोठ‘ की दसवीं कड़ी के प्रसारण पर नगरवासियों ने व्यक्त की प्रतिक्रियाएं

Printer-friendly versionSend to friend

धमतरी 12 जून 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का आकाशवाणी के माध्यम से संबोधन का मासिक प्रसारण ‘रमन के गोठ‘ का आज सुबह 11.45 बजे आकाशवाणी तथा विभिन्न समाचार चैनलों के माध्यम से किया गया, जिसमें उन्होंने विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी, साथ ही पर्यावरण संरक्षण, पौधरोपण और जल संरक्षण जैसे सामाजिक सरोकारों की अपील भी की। जिला स्तर पर इसका प्रसारण स्थानीय मेनोनाइट स्कूल परिसर में किया गया, जिसमें स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने इसका अनुश्रवण किया, साथ ही अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं भी व्यक्त की।
    ‘रमन के गोठ‘ सुनने के बाद अपनी प्रतिक्रिया देते हुए महापौर श्रीमती अर्चना चौबे ने कहा कि हमर छत्तीसगढ़ तथा उज्ज्वला योजना की प्रशंसा करते हुए कहा कि इन दोनों योजनाओं से पर्यावरण संरक्षण और घरेलू महिलाओं के हितों की रक्षा होगी। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 20 हजार गांवों के जनप्रतिनिधियों का नया रायपुर में भ्रमण कराकर उनके द्वारा हजार पौधे रोपे जाएंगे। इससे पर्यावरण के प्रति शासन की संवेदनशीलता प्रकट होती है। श्रीमती चौबे में केन्द्र शासन की उज्ज्वला योजना की भी प्रशंसा करते हुए कहा कि भारत में अभी भी काफी संख्या में महिलाएं रसोई में लकड़ी, कण्डे, कोयले आदि का प्रयोग करती हैं, जो उनकी सेहत पर प्रतिकूल प्रभाव डालते हैं। इससे विभिन्न प्रकार की बीमारियां भी होती हैं। इस योजना के तहत रसोई गैस का वितरण शासन द्वारा किया जाएगा, जो ऐसी महिलाओं के लिए वरदान साबित होगी। नगर निगम के सभापति श्री राजेन्द्र शर्मा ने कहा कि प्रदेश के मुखिया द्वारा किसानों को खाद-बीज उठाव की अपील अच्छी लगी। साथ ही अग्रिम उठाव पर ब्याजरहित ऋण देने की जानकारी भी दी गई, जो किसानों को प्रोत्साहित करेगी।
नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष डॉ. एन.पी. गुप्ता ने कहा कि प्रदेशवासियों को मौसमी बीमारियों से सचेत रहने का मुख्यमंत्री का आव्हान सर्वश्रेष्ठ रहा। उन्होंने कहा कि बारिश का मौसम आते ही विभिन्न प्रकार की बीमारियां सिर उठाने लगती हैं। डॉ. सिंह की स्वस्थता और स्वच्छता संबंधी अपील से निश्चय ही लोगों में जागरूकता आएगी। पार्षद श्रीमती दमयंतीन गजेन्द्र ने कहा कि उज्ज्वला योजना से धुंआरहित रसोई का निश्चय ही प्रदेश और जिले की महिलाओं को लाभ मिलेगा। उन्होंने आश्चर्य प्रकट करते हुए कहा कि ‘रमन के गोठ‘ से पता चला कि परंपरागत रसोई के लिए प्रतिवर्ष एक करोड़ पेड़ों को काटा जाता है। इससे सचमुच पर्यावरण की सुरक्षा होगी। डॉ. अंबेडकर वार्ड के पार्षद श्री अशोक सिन्हा ने कहा कि ‘रमन के गोठ‘ से वास्तव में आमजनता को एक नई उर्जा मिलती है। इससे न सिर्फ सरकार की मंशा और योजनाओं का पता चलता है, बल्कि विभिन्न विषयों पर मुख्यमंत्री की अपील का जनमानस पर व्यापक प्रभाव पड़ता है। सिविल लाइन्स निवासी श्री शेषनारायण गोस्वामी ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि प्रदेश सरकार का एक व्यक्ति द्वारा तीन पौधे लगाने का संकल्प मुख्यमंत्री की प्रकृति और पर्यावरण के प्रति जागरूकता को प्रकट करता है। यदि सभी व्यक्ति पौधरोपण और उनके संरक्षण का संकल्प लें तो पूरा प्रदेश हरियर छत्तीसगढ़ का अनूठा उदाहरण बन जाएगा।

नागरिक श्री डिपेन्द्र साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा इस साल अच्छी बारिश की भविष्यवाणी से निश्चित ही किसानों को मार्गदर्शन व प्रोत्साहन मिलेगा। अच्छी फसल के लिए प्रदेश के मुखिया की शुभकामनाएं किसानों में नई उर्जा का संचार पैदा करेगी। इस अवसर पर जनपद पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रंजना साहू, पूर्व पार्षद श्री दयाशंकर सोनी सहित विभिन्न वार्डों के जनप्रतिनिधि व जिला स्तर के अधिकारीगण मौजूद थे।
उल्लेखनीय है कि प्रत्येक माह के दूसरे रविवार को प्रसारित होने वाले कार्यक्रम ‘रमन के गोठ‘ की दसवीं कड़ी का प्रसारण आज आकाशवाणी तथा विभिन्न समाचार चैनलों के माध्यम से किया गया गया। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ के विख्यात गीत ‘अरपा पैरी के धार..‘ का उल्लेख करते हुए हरियर और उन्नत छत्तीसगढ़ की कामना की। अपने उद्बोधन में मुख्यमंत्री ने किसानों को इस वर्ष अच्छी बारिश की शुभेच्छा प्रकट करते हुए कहा कि प्रदेश के किसान खाद-बीज का अग्रिम उठाव कर लें, जिससे अनावश्यक ब्याज वहन करना नहीं पड़ेगा। उन्होंने जिला स्तर पर गठित बाढ़ आपदा नियंत्रण प्रकोष्ठ के गठन की जानकारी दी तथा इस प्रकोष्ठ की राशि का कलेक्टर द्वारा समुचित उपयोग करने की नसीहत दी। डॉ. सिंह ने मौसमी बीमारियों का जिक्र करते हुए स्वच्छ और स्वस्थ भोजन और विभिन्न बीमारियों के प्रति सचेत रहने की बात कही। साथ ही पांच जून को मनाए गए विश्व पर्यावरण दिवस का उल्लेख करते हुए पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्द्धन की अपील प्रदेशवासियों से की।
उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी उज्ज्वला योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि 200 रूपए में घरेलू गैस कनेक्शन दिया जाएगा। इससे प्रदेश के पांच लाख परिवारों की महिलाओं को रसोई में धुएं से जूझना नहीं पड़ेगा, साथ ही इससे होने वाली अस्थमा, टी.बी., कैंसर जैसी जानलेवा बीमारियों का सामना नहीं करना पड़ेगा। यह भी बताया गया कि रसोई के लिए पूरे देश के प्रतिवर्ष एक करोड़ पेड़ों की कटाई होती है। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री की एक व्यक्ति, एक पेड़ के संकल्प की तर्ज पर प्रदेश सरकार छत्तीसगढ़ में एक व्यक्ति, तीन पेड़ का संकल्प लिया जाएगा। उन्होंने कतिपय स्कूलों में पर्यावरण संरक्षण के प्रति किए जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए हरियर छत्तीसगढ़ के सपने को साकार करने की मंशा दोहराई। इसके अलावा विभिन्न ग्रामों में कुएं, तालाब, सोख्ता, झरिया आदि का निर्माण कर ग्रामीणों द्वारा किए जा रहे जल संरक्षण के उपायों की सराहना भी की। मुख्यमंत्री ने आगामी 21 जून को विश्व योग का उल्लेख करते हुए कहा कि भारतवर्ष एक बार फिर विश्वगुरू बनने जा रहा है और इस परम्परा को आगे बढ़ाना हम सबकी महती जिम्मेदारी है। इसके अलावा विभिन्न पर्वों की अग्रिम बधाइयां देते हुए प्रदेशवासियों को अपनी शुभकामनाएं प्रदेश के मुखिया ने दीं। इस अवसर पर जिले की सभी नगर पंचायतों व जनपद पंचायतों में रमन के गोठ का अनुश्रवण किया गया, जिस पर लोगों ने अपनी सकारात्मक प्रतिक्रियाएं भी दीं।


क्रमांक-47/355/सिन्हा
 

Date: 
12 Jun 2016