Homeनारायणपुर : जिले में रमन के गोठ की 9वीं कड़ी को उत्साहपूर्वक सुना गया : कलेक्टर और सीईओ जिला पंचायत ने स्कूली बच्चों और ग्रामीणों के साथ सुना ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम

Secondary links

Search

नारायणपुर : जिले में रमन के गोठ की 9वीं कड़ी को उत्साहपूर्वक सुना गया : कलेक्टर और सीईओ जिला पंचायत ने स्कूली बच्चों और ग्रामीणों के साथ सुना ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम

Printer-friendly versionSend to friend

निःशुल्क मिलेगा किसानों को नक्शा-खसरा, बी-वन की प्रतिलिपि
गांव में आबादी जमीन का मिलेगा पट्टा
मुख्यमंत्री ने अबूझमाड़ के ग्रामीणों की बिजली सुविधा की मांग का किया जिक्र

नारायणपुर, 08 मई

प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह की मासिक रेडियो वार्ता ‘‘ रमन के गोठ’’ की 9वीं कड़ी को आज 8 मई को नारायणपुर जिले में उत्साहपूर्वक सुना गया। इस दौरान कलेक्टर श्री टामनसिंह सोनवानी और सीईओ जिला पंचायत श्री अशोक चौबे सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों ने नारायणपुर ब्लाक के देवगांव पोटाकेबिन में स्कूली बच्चों और पंचायत पदाधिकारियों तथा ग्रामीणों के साथ ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम सुना।
    ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम के जरिये मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह लोक सुराज अभियान के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा कि लोक सुराज अभियान के दौरान दूरस्थ गांव-देहात में वृक्ष के नीचे चौपाल में ग्रामीणों से रूबरू चर्चा के द्वारा उपयोगी और सकारात्मक सुझाव मिलते हैं। मुख्यमंत्री खाद्यान्न योजना, चरण पादुका वितरण, लघु वनोपज खरीदी, मुख्मयंत्री बाल ह्दय सुरक्षा योजना सहित प्रदेश की अनेक सफल योजनां सुराज चौपाल के जरिये बनायी गयी है। उन्होंने कहा कि लोक सुराज अभियान के दौरान योजनाओं की समीक्षा के साथ धरातल पर इन योजनाओं के क्रियान्वयन को देखने का मौका मिलता है। वहीं जिन योजनाओं में कमियां हैं, उन्हें दूर करने सहित बेहतर बनाने प्रयास किया जाता है। मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह ने कहा कि लोक सुराज अभियान सरकार के लिए अपने कार्यों का मूल्यांकन का एक प्रभावी अभियान है। यह अभियान जनकल्याणकारी योजनाओं-कार्यक्रमों को जनोन्मुखी और पारदर्शी बनाने के उद्देश्य को पूरा करती है। मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह ने प्रदेश के नक्सल प्रभावित नारायणपुर, बीजापुर, सुकमा और दंतेवाड़ा जिले के विकास को रेखांकित करते हएु कहा कि इन जिलों की जनता अब विकास में सहभागी बनने आगे आ रही है। उन्होंने लोक सुराज अभियान के दौरान नारायणपुर जिले के अबूझमाड़ के ग्रामीणों की विद्युत सुविधा की मांग पर क्षेत्र के 53 गांवों को आगामी 30 जून तक विद्युत लाईन विस्तार कर जोड़ने की घोषणा की, तो इन ग्रामीणों की आंखों में चमक देखकर एक सुखद अनुभूति हुई। मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह ने लोक सुराज अभियान में घोषणा की गयी कि आगामी तीन महीने के भीतर राज्य के सभी किसानों को निःशुल्क नक्शा-खसरा और बी-वन की प्रति वितरित करने आश्वस्त किया। वहीं गांवों में आबादी जमीन का पट्टा भी निःशुल्क वितरित करने की बात कही। मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह ने बताया कि राज्य की जनता को रियायती दर पर गुणवत्तापूर्व जेनेरिक दवाईयां मुहैय्या कराने के लिए जन औषधि केन्द्र खोले गये हैं, जिसमें करीब 400 प्रकार की विभिन्न जेनेरिक दवाईयां सस्ती कीमत पर सुलभ होगी। उन्होंने श्रोताओं से जन औषधि केन्द्र पर जरूरी जेनेरिक दवाई खरीदने की अपील किया। वहीं चिकित्सकों को मरीजों के लिए जेनेरिक दवाईयां लिखने की समझाईश दी। मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता को छत्तीसगढ़ी में अक्षय तृतीया की बधाई देते हुए कहा कि राज्य में बाल विवाह की प्रथा को रोकने के लिए प्रशासन को सहयोग प्रदान करें। उन्होंने बुद्ध पूर्णिमा, बल्लभाचार्य और परशुराम जयंती की की बधाई प्रदेश की जनता को दी और लोागों को दया, करूणा, मानवता के मार्ग पर चलकर जीवन को सार्थक बनाने का आव्हान किया।



जिले में रमन के गोठ को मिला अच्छा प्रतिसाद - नारायणपुर जिले में ‘‘रमन के गोठ’’ की 9वीं कड़ी को अच्छा प्रतिसाद मिला। जिले के नारायणपुर ब्लाक अंतर्गत देवगांव सरपंच श्री रामसिंग मंडावी सहित फरसगांव के उप सरपंचर श्री सोनारूराम पोटाई तथा पंचायत पदाधिकारी श्री सुखदेव कचलाम, बुधनी नाग, माहंगी कचलाम, धनाय सलाम, कोलेबाई पोटाई आदि ने आज ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम का श्रवण किया। उन्होंने बताया कि ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम के जरिये प्रदेश में विकास कार्यों और जनहितकारी योजनाओं-कार्यक्रमों की अच्छी जानकारी मिली। इन श्रोताओं ने कहा कि ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम के द्वारा शासन-प्रशासन के कार्यों में पारदर्शिता लाने सहित प्रक्रिया के बारे में जानकारी मिलती है। देवगांव के सुंदर उईके, पीलू यादव और सनउ पोटाई ने कहा कि राज्य शासन ने किसानों को निःशुल्क नक्शा-खसरा और बी-वन की प्रतिलिपि सहित आबादी जमीन की निःशुल्क पट्टा प्रदान करने का जो निर्णय लिया है, वह प्रशंसनीय है। इस निर्णय के जरिये पटवारी और राजस्व अमला के द्वारा आसानी के साथ अपने जमीन की दस्तावेज निःशुल्क सुलभ होगी। इस अवसर पर देवगांव और फरसगांव के ग्रामीणों ने ‘‘रमन के गोठ’’ कार्यक्रम को ध्यानपूर्वक सुनने के पश्चात शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं-कार्यक्रमों को उपयोगी बताया। वहीं जैविक खेती से संबंधित जानकारी को प्रेरणादायी निरूपित किया। इस अवसर पर एसडीएम श्री चंद्रकांत कौशिक, उपसंचालक कृषि श्री बीके बिजरौनिया, जिला शिक्षा अधिकारी श्री एकेे पटेल, कार्यपालन अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री वर्मा, सहायक अभियंता क्रेडा श्री रविकांत भारद्वाज, सीईओ जनपद पंचायत नारायणपुर श्री सुनील चंद्रवंशी के अलावा विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारी तथा क्षेत्र के पचंायत पदाधिकारी, ग्रामीणजन और स्कूली छात्र-छात्रायें मौजूद थे।
--00--

 

Date: 
08 May 2016