Homeनारायणपुर : नारायणपुर जिले में उत्साहपूर्वक सुना गया रमन के गोठ कार्यक्रम : मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता को विकास पर्व की दी बधाई

Secondary links

Search

नारायणपुर : नारायणपुर जिले में उत्साहपूर्वक सुना गया रमन के गोठ कार्यक्रम : मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता को विकास पर्व की दी बधाई

Printer-friendly versionSend to friend

खेती-किसानी के लिए खाद-बीज का समयपूर्व उठाव करने किसानों से किया आग्रह


नारायणपुर, 12 जून 2016

मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह के आज आकाशवाणी से प्रसारित मासिक रेडियोवार्ता रमन के गोठ कार्यक्रम की दसवीं कड़ी को नारायणपुर जिले के नागरिकों और ग्रामीणों ने उत्सापूर्वक सुना। प्रदेष के मुखिया डॉ रमनसिंह के इस रेडियोवार्ता को विषेष रूप से जिले के ग्रामीण ईलाकों के ग्रामीणों ने सुनने के लिए उत्सुकता दिखायी। वहीं नगरीय क्षेत्र में भी नागरिकों ने रमन के गोठ कार्यक्रम को ध्यानपूर्वक सुना। इस दौरान धुर माओवादी प्रभावित नारायणपुर जिले के फरसगांव, धौड़ाई सहित खड़कागांव, देवगांव इत्यादि स्थानों में ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह के मासिक रेडियावार्ता को तन्मयता के साथ सुना। अपने मासिक रेडियावार्ता में मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह ने प्रदेष की जनता को विकास पर्व की बधाई देते हुए रमन के गोठ कार्यक्रम में जागरूक श्रोताओं द्वारा उठाये जा रहे सवालों और विचारों पर प्रसन्नता जताई तथा श्रोताओं के सुझावांे के लिए आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह ने छत्तीसगढ़ महतारी की वंदना गीत अरपा पैरी के धार गीत के बोल को दोहराते हुए प्रदेष की तरक्की की भावना को प्रदर्षित किया और हमर छत्तीसगढ़ योजना के जरिये जनप्रतिनिधियों और पंचायत पदाधिकारियों के विभिन्न स्थानों के भ्रमण की जानकारी दी तथा छत्तीसगढ़ की विकास योजना को गांव-गांव तक पहुंचाने की कटिबद्धता व्यक्त की। मुख्यमंत्री ने इस वर्ष अच्छे मानसून की उम्मीद व्यक्त करते हुए किसान भाईयों को खरीफ फसल की तैयारी करने और समय से पहले खाद-बीज उठाने कहा, ताकि अतिरिक्त ब्याज न देना पड़े। इस बारे में उन्होंने बताया कि आदिम जाति सेवा सहकारी समितियों तथा कृषक सेवा सहकारी समितियों में खरीफ फसल हेतु पर्याप्त मात्रा में भंडारण कर लिया गया है। प्रमाणित बीज और खाद का एक माह पूर्व किसानांे द्वारा उठाव करने पर ब्याज नहीं लगेगा। मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह ने बाढ़ आपदा से बचाव के लिए आवष्यक तैयारी और स्वास्थ्य को लेकर सतर्कता के संबंध में जरूरी सलाह देते हुए कहा कि बरसात के दिनों में स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहें,  कीड़े-मकोड़े और सांप काटने से बचने के लिए स्वास्थ्य केन्द्रों में दवाईयो का भंडारण कर लिया गया है।

मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह ने पर्यावरण को बचाने के लिए हरियर छत्तीसगढ़ योजना के तहत् बड़ी संख्या में वृक्षारोपण करने पर बल देते हुए एक व्यक्ति तीन पौधे लगाने का संकल्प लेने सहित इस दिषा में पौधरोपण कर अन्य लोगों को भी प्रेरित करने का आग्रह श्रोताओं से किया। उन्होंने केन्द्र शासन की उज्जवला योजना को महिलाओं की सेहत से जुड़ी महत्वाकांक्षी योजना निरूपित करते हुए प्रदेष की 25 लाख गरीब परिवारों की महिलाओं को उनके नाम पर मात्र दो सौ रूपये में रसोई-गैस कनेक्षन देने की कटिबद्धता व्यक्त की। वहीं आगामी 21 जून को विष्व योग दिवस के अवसर पर स्कूल, ग्राम पंचायतों सहित अन्य सार्वजनिक स्थानों में योग करने हेतु भागीदारी निभाने की अपील की। जिले में रमन के गोठ कार्यक्रम को श्रवण करने वाले श्रोताओं ने मुख्यमंत्री डॉ रमनसिंह के प्रेरक संदेष को सराहा और इसे प्रषंसनीय निरूपित किया। इस दौरान केरलापाल के किसान जगदेव राम और आकाबेड़ा के किसान मनीराम नेताम ने खरीफ फसल हेतु किसानों के लिए सहकारी समितियों में पर्याप्त खाद-बीज भंडारण को किसानों के हितों के लिए संवेदनषील पहल निरूपित करते हुए अतिरिक्त ब्याज नहीं देने हेतु समयपूर्व खाद-बीज का उठाव करने की बात कही। वहीं नारायणपुर निवासी श्रमिक संघ के पदाधिकारी श्री मंगलराम नेताम और सायकल दुकान चलाने वाले मोहन यादव तथा वरिष्ठ नागरिक श्री हीरामन नेताम ने उज्जवला योजना के जरिये गरीब परिवारों की महिलाओं को मात्र 200 रूपये में गैस कनेक्षन प्रदान करने की पहल को निर्धन परिवारों के लिए सराहनीय कदम निरूपित किया। इस दौरान फरसगांव के उपसरपंच श्री सोनारूराम पोटाई, पंच वंदना कचलाम, राजोबाई गावड़े, श्रीमती सुगन्ती सलाम आदि ने जनप्रतिनिधियों और पंचायत पदाधिकारियों को हमर छत्तीसगढ़ योजना के जरिये छत्तीसगढ़ के भ्रमण सहित विकास योजना में उनकी भागीदारी सुनिष्चित करने को सराहनीय पहल बताया और इस दिषा में सार्थक निर्णय लेने के लिए मुख्यमंत्री के प्रति आभार जताया। जिले के नारायणपुर विकासखंड अंतर्गत फरसगांव, धौड़ाई सहित खड़कागांव, देवगांव में आज आयोजित रमन के गोठ सामूहिक श्रवण कार्यक्रम के अवसर पर खण्ड षिक्षा अधिकारी श्री प्रमोद ठाकुर, अधीक्षक श्री महेन्द्र पुजारी के अलावा शिक्षा, स्वास्थ्य पंचायत एवं ग्रामीण विकास तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के मैदानी कर्मचारी और पंचायत पदाधिकारी तथा बड़ी संख्या में ग्रामीणजन मौजूद थे।


 

Date: 
12 Jun 2016