Homeबलरामपुर : रमन के गोठ का प्रसारण को सुना भैसामुण्डा के ग्रामीणों ने विकास पर्व पर मुख्यमंत्री ने बधाई

Secondary links

Search

बलरामपुर : रमन के गोठ का प्रसारण को सुना भैसामुण्डा के ग्रामीणों ने विकास पर्व पर मुख्यमंत्री ने बधाई

Printer-friendly versionSend to friend

बलरामपुर 12 जून 2016

प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के आकाशवाणी से प्रसारित होने वाले रमन के गोठ के दसवीं कड़ी का प्रसारण को भैसामुण्डा के ग्रामीणों ने मन लगाकर सुना। गांव की काली मां स्व सहायता समूह की महिला श्रीमती फुलमनिया देवी एवं जयंती पाण्डेय ने उजाला योजना के तहत रसोई के वितरण एवं कृषक राम सिंह ने सहकारी समिति से किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर खाद-बीज एवं कृषि के लिए ऋण तथा फसल बीमा की सराहना की। विकासखण बलरामपुर के ग्राम भैसामुण्डा ग्राम के ग्रामीणों ने आज 12 जून 2016 केा महुआ पेड़ के छांव में बैठकर रमन के गोठ कार्यक्रम के प्रसारण को सुना।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने विकास पर्व की बधाई दी और छत्तीसगढ़ में जल एवं पर्यावरण संरक्षण के किये गये कार्यो की सराहना करते हुए कहा कि सब मिलकर छत्तीसगढ़ को स्वच्छ, स्वस्थ्य, प्रदूषण मुक्त और हरा-भरा राज्य बनाने में सफल होंगे। मुख्यमंत्री ने बताया कि छत्तीसगढ़ ने एक व्यक्ति के पीछे तीन पेड़ लगाने का संकल्प लिया है और इसके लिए हरियर छत्तीसगढ़ और पानी बचाओं अभियान चलाया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार ने दो वर्ष में विकास के नये-नये कीर्तिमान स्थापित किये हैं। इन उपलब्धियों और गौरव से देषवासियों को जोड़ने के लिए यह विकास पर्व मनाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा प्रधानमंत्री किसान बीमा योजना, जनधन योजना, मुद्रा योजना, डिजिटल इंडिया आदि अन्य योजनाए लागू की गई है, जिनसे छत्तीसगढ़ में समृद्धि और खुषाहाली का नया दौर शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि श्री मोदी ने किसानों के धान का समर्थन मूल्य 60 रूपये प्रति क्विंटल बढ़ाकर एक बड़ी सौगात दी है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत प्रदेष के 20 हजार गांव के निर्वाचित प्रतिनिधियों द्वारा अपने-अपने क्षेत्र की मिट्टी और पानी लाकर नया रायपुर में वृक्षारोपण किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सोसायटीओं में खाद-बीज दवा के पर्याप्त भण्डारण कर लिया गया है, जहां से किसान अपने जरूरत के अनुसार खाद-बीज एवं दवा उठाले। उन्होंने बताया कि एक महीने पहले से खाद-बीज उठाव करने पर भी ब्याज नहीं लगेगा। साथ ही आपदा प्रबंधन के लिए जिलों को 84 करोड़ रूपये उलब्ध कराई है। उन्होंने कहा कि बरसात के दिनों मे स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहें। कीड़े-मकोडे़ के साथ-साथ सांप काटने से बचने के लिए स्वास्थ्य केन्द्रों में दवाई का पर्याप्त भण्डारण कर लिया गया है। मुख्यमंत्री ने पर्यावरण संरक्षण के लिए स्कूली बच्चों के प्रयासों का उल्लेख कर उनकी प्रशंसा की और सबको जल संरक्षण संवर्धन और पर्यावरण संरक्षण पर जोर देते हुए सभी को भागीदारी निभाने को कहा।
मुख्यमंत्री ने बताया कि उज्जवला योजना के तहत अगले दो वर्षो के भीतर राज्य के 25 लाख गरीब परिवारों की महिलाओं को रसोई गैस कनेक्षन मात्र 200 रूपये में दिये जायेंगे। उन्होंने कहा कि इससे हर वर्ष 1 करोड़ वृक्ष कटने से बचेगें और माताओं एवं बहनों को खाना बनाने में सुविधा होगी तथा उन्हें विभिन्न बिमारियों से बचाने में मददगार होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि 21 जून को विष्व योग दिवस मनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि योग स्वस्थ और प्रसन्नचित रहने की कला है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस माह कबीर जयंती, छत्रसाल जयंती, महाराणा प्रताप जयंती एवं वीरांगना दुर्गावती का बलिदान दिवस भी है। मैं सभी को नमन करता हॅू और चाहता हूं कि हम सब उनसे प्रेरणा लेकर अपना जीवन सार्थक बनाएं।

 

समाचार क्रमांक 373/2016

Date: 
12 Jun 2016