Homeबलौदा बाजार-भाटापारा : रमन के गोठ कार्यक्रम 16 कड़ी का हुआ प्रसारण : ग्रामीणों ने कार्यक्रम का किया सराहरना

Secondary links

Search

बलौदा बाजार-भाटापारा : रमन के गोठ कार्यक्रम 16 कड़ी का हुआ प्रसारण : ग्रामीणों ने कार्यक्रम का किया सराहरना

Printer-friendly versionSend to friend

बलौदा बाजार-भाटापारा 11 दिसंबर 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ के 16 वीं कड़ी का प्रसारण 11 दिसम्बर 2016 रविवार को प्रदेश के सभी आकाशवाणी केन्द्रों के माध्यम से प्रातः 10.45 बजे से 11.05 बजे तक किया गया। विकास खंड भाटापारा के लोक शिक्षा केंद्र सेमहराडीह, ग्राम पंचायत अकलतरा, ग्राम पंचायत खोलवा, बलौदा बाजार विकासखंड के ग्राम पंचायत सकरी, पलारी विकासखंड के पलारी, दतान, भवानीपुर सहित जिले के सभी ग्रामपंचायतों में ग्रामीणों ने उत्साह पूर्वक रमन के गोठ सुने। कार्यक्रम को सुनने वाले ग्रामीण जागेश्वर ध्रुव, दिलीप साहू, रूपेन्द्र साहू, डॉ खेलराम पाल, अक्षर सिंह साहू, रमेश कुमार साहू, कौशिल्या ध्रुव, रानी वर्मा, दुर्गा, राधेश्याम, संजय कुमार आदि ने रमन के गोठ कार्यक्रम की सराहना की। उन्होंने कहा कि रमन के गोठ कार्यक्रम के माध्यम से राज्य में चलाये जा रहे विभिन्न योजनाओं की जानकारी मिलती है।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि प्रदेश की जनता के आर्शीवाद से विगत 13 वर्षो में योजनाआंे का बेहतर क्रियान्वयन किया गया। मुख्यमंत्री खाद्यान्न सुरक्षा योजना के तहत 58 लाख 80 हजार परिवारों को लाभान्वित किया जा रहा है। शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर किसानों को ऋण उपलब्ध कराया गया है। इससे किसानों को बड़ी राहत मिली है। 13 लाख तेन्दूपत्ता संग्राहकों के लिए निःशुल्क चरण पादुका का वितरण और उनके परिवारों की महिलाओं के लिए साड़ी वितरण योजना का जिक्र किया। निःशुल्क सरस्वती सायकल योजना संचालित होने से हाईस्कूल में बेटियों की संख्या 65 प्रतिशत से बढ़कर 93 प्रतिशत हो गई है। पॉलीटेक्निक और इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ने वाली बालिकाओं के लिए निःशुल्क शिक्षा प्रदान किया जा रहा है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत दो साल के भीतर 25 लाख महिलाओं को सिर्फ दो सौ रूपये में रसोई गैस कनेक्शनए सिलेण्डर और चूल्हा दिया जा रहा है। प्रदेश में आईआईटीए एनआईटीए आईआईएमए ट्रिपल आईटीए नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी हैं। प्रधानमंत्री कालाधन को रोकने हेतु कैशलेस को बढ़ावा दे रहे है। उन्होने बताया कि पाइंट ऑफ सेल, यूपीआई एप्स, मोबाईल वॉलेट, बैंक के विभिन्न कार्ड्स तथा यूएसएसडी के माध्यम से कम समय में भुगतान कर सकते हैं।

 

Date: 
11 Dec 2016