Homeबालोद : आकाशवाणी से ‘‘रमन के गोठ‘‘ की पंद्रहवीं कड़ी : पॉच सौ और एक हजार रूपए के नोट को बंद करने का निर्णय भारत को आर्थिक मजबूती देगी - मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह

Secondary links

Search

बालोद : आकाशवाणी से ‘‘रमन के गोठ‘‘ की पंद्रहवीं कड़ी : पॉच सौ और एक हजार रूपए के नोट को बंद करने का निर्णय भारत को आर्थिक मजबूती देगी - मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह

Printer-friendly versionSend to friend

नवीन टाउॅन हॉल में हुआ ‘‘रमन के गोठ‘‘ कार्यक्रम का आयोजन

बालोद, 13 नवम्बर 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के लोकप्रिय मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘‘रमन के गोठ‘‘ की पंद्रहवीं कड़ी के प्रसारण को आज यहॉ स्थानीय नवीन टाउन हॉल में सामूहिक रूप से बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधियों, नागरिकों, प्रशासनिक अधिकारियों-कर्मचारियों सहित सभी वर्ग के लोगों ने उत्साहपूर्वक ध्यान से सुना और कार्यक्रम की सराहना की। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री राजेन्द्र कुमार कटारा, एसडीएम श्री हरेश मण्डावी, डिप्टी कलेक्टर श्री जी.एस.नाग, श्री आनंदरूप तिवारी, नगर पालिका परिषद बालोद के पार्षद श्री कमलेश सोनी, श्री विमल साहू, श्री रिच्छेद मोहन कलिहारी, श्री नरेन्द्र सोनवानी ने भी कार्यक्रम का श्रवण किया।
मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह आज आकाशवाणी के रायपुर केन्द्र से प्रसारित अपनी मासिक रेडियावार्ता ‘‘रमन के गोठ‘‘ में आम जनता को सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भारत की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए एक और एतिहासिक कदम उठाया है। पॉच सौ और एक हजार रूपए के नोट को तत्काल प्रभाव से बंद करने के निर्णय से कालाधन की समस्या पर अंकुश लगेगा, जाली नोटों से निपटने, भ्रष्टाचार और आतंकवाद पर नियंत्रण में भी मदद मिलेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जी की यह सर्जिकल स्ट्राइक भारत को आर्थिक मजबूती देगी।
मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने सभी लोगों को गुरूनानक जयंती, गुरूपूर्णिमा, पुन्नी मेला त्यौहारों की बधाई एवं शुभकामनाएॅ दी। उन्होंने बताया कि राज्योत्सव के उद््घाटन के अवसर पर प्रधानमंत्री के हाथों ‘‘सौर सुजला योजना‘‘ की शुरूआत हुई। योजना के अंतर्गत किसानों को सौर उर्जा से चलने वाले पम्प बहुत ही रियायती दरों पर देने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि दो वर्षों में 51 हजार किसानों को सोलर सिंचाई पम्प दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में धान खरीदी की व्यवस्था को चाक-चौबंद बनाने के लिए किसानों का पंजीयन किया गया है। इस वर्ष प्रदेश के 14 लाख 54 हजार किसानों ने पंजीयन कराया है। यह संख्या विगत वर्ष की तुलना में डेढ़ लाख से अधिक है। इस वर्ष धान खरीदी केन्द्रों की संख्या भी बढ़ाकर 1986 कर दी गई है। साथ ही इस साल 41 मंडियों तथा उप मंडियों में भी धान खरीदी की जाएगी। उन्होंने बताया कि मोटा धान 1470 रूपए और पतला धान 1510 रूपए प्रति क्विंटल की दर से खरीदा जाएगा। समर्थन मूल्य पर धान खरीदी 15 नवम्बर 2016 से 31 जनवरी 2017 तक चलेगी। प्रत्येक किसान से 15 क्विंटल प्रति एकड़ की दर से धान खरीदी की जाएगी।
प्रतिक्रिया:-

‘‘रमन के गोठ‘‘ सुनकर नगर पालिका परिषद बालोद के पार्षद श्री कमलेश सोनी ने कहा कि इस प्रसारण से हमें प्रदेश के विकास कार्यों की जानकारी मिलती है। धान खरीदी की चाक-चौबंद व्यवस्था, सौर सुजला योजना, नया रायपुर का विकास की जानकारी बहुत अच्छी लगी। आमापारा बालोद के पुरूषोत्तम देशमुख ने कहा कि मुख्यमंत्री जी ने सभी लोगों को त्यौहारों की शुभकामनाएॅ दी। बाल दिवस पर मुख्यमंत्री ने अपील में कहा कि बेटे-बेटी में कोई भेदभाव न करें, सभी को बराबरी से पढ़ाएॅ, लिखाएॅ और अच्छा संस्कार दें। यह उसे बहुत अच्छा लगा। शासकीय आदर्श हाईस्कूल के छात्रों ने ‘‘रमन के गोठ‘‘ सुनकर कहा कि मुख्यमंत्री ने बाल दिवस पर बच्चों का उत्साहवर्धन किया इससे उन्हें बहुत खुशी हुई।


क्रमांक/735/चंद्राकर

 

Date: 
13 Nov 2016