Homeबालोद : रमन के गोठ की छठवीं कड़ी सभी वर्ग के लोगों ने की सराहना

Secondary links

Search

बालोद : रमन के गोठ की छठवीं कड़ी सभी वर्ग के लोगों ने की सराहना

Printer-friendly versionSend to friend

बालोद, 14 फरवरी 2016

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के लोकप्रिय मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘‘रमन के गोठ‘‘ की छठवीं कड़ी के प्रसारण को आज यहॉ स्थानीय नवीन टाउन हॉल में सामूहिक रूप से बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधियों, नागरिकों, प्रशासनिक अधिकारियों-कर्मचारियों, श्रमिकों, महिलाओं, छात्र-छात्राओं सहित सभी वर्ग के लोगों ने उत्साहपूर्वक ध्यान से सुना और कार्यक्रम की सराहना की। इस अवसर पर कलेक्टर श्री राजेश सिंह राणा, अपर कलेक्टर श्री डी.एस.सोरी, जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती पद्मिनी भोई साहू, एस.डी.एम.श्री आलोक पाण्डेय और नगर पालिका परिषद बालोद के पार्षदगण ने भी कार्यक्रम का श्रवण किया।
    जिले में मुख्यमंत्री की रेडियो वार्ता को शहर से लेकर गांव तक जगह-जगह लोगों ने उत्साह के साथ सामूहिक रूप से श्रवण कर अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं व्यक्त की। ग्रीन कमाण्डो श्री विरेन्द्र सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने युवाओं का उत्साहवर्धन किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि युवा छत्तीसगढ़ के कल के निर्माता हैं। उन्होंने युवाओं को कौशल उन्नयन तथा शिक्षा के साथ सीधे जुड़ने और सभी राष्ट्रीय एवं प्रदेश स्तर के प्रतियोगी परीक्षाओं में बैठने प्रोत्साहित किया। कौशल उन्नयन के बाद रोजगार मॉगने वाले नही बल्कि रोजगार देने वाले की भूमिका निभाने की बात कही। युवाओं के लिए मुख्यमंत्री की यह बात प्रेरणादायी साबित होगी।
    पार्षद श्री कमलेश सोनी ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने आगामी 23 फरवरी से 10वीं एवं 12वीं बोर्ड की परीक्षाओं में सम्मिलित हो रहे छात्र-छात्राओं का हौसला बढ़ाया है। मुख्यमंत्री ने छात्र-छात्राओं से अच्छी मेहनत कर परीक्षा की तैयारी करने की सलाह दी है।  नगर पालिका परिषद बालोद के एल्डरमेन श्री विनोद जैन ने कहा कि राजिम  के लिए जनता को ‘‘पीले चांवल‘‘ के साथ न्यौता देकर मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों का दिल जीत लिया।
    आमापारा बालोद की श्रीमती उषा ने कहा कि मुख्यमंत्री ने रायपुर में देश का पहला ‘‘सखी-वन स्टॉप सेंटर‘‘ प्रारंभ होने की जानकारी दी। यह अपने आप में सराहनीय है। इस सेंटर में पीड़िता को चिकित्सा, कानूनी सहायता, पुलिस सहायता, परामर्श उपलब्ध होगी, जो कि महिलाओं के लिए कल्याणकारी कदम है। पार्षद श्री विमल साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने तेंदूपत्ता संग्रहण की मौजूदा दर जो बारह सौ रूपए प्रति मानक बोरा थी, उसे बढ़ाकर अब पन्द्रह सौ रूपए प्रति मानक बोरा किए जाने की जानकारी दी। इससे अब प्रदेश के लाखों तेंदूपत्ता संग्राहक परिवार लाभान्वित होंगे।


क्रमांक/931/चंद्राकर

 

Date: 
14 Feb 2016