Homeबिलासपुर : ग्रामों में डिजिटल नेटवर्क का विस्तार प्रदेश की तरक्की के लिए जरूरी : लोगों ने रमन के गोठ की 19वीं कड़ी को सराहा

Secondary links

Search

बिलासपुर : ग्रामों में डिजिटल नेटवर्क का विस्तार प्रदेश की तरक्की के लिए जरूरी : लोगों ने रमन के गोठ की 19वीं कड़ी को सराहा

Printer-friendly versionSend to friend

बिलासपुर, 12 मार्च 2017

स्काई योजना महिलाओं के सशक्तिकरण और गांवों के समग्र विकास के लिए अत्यन्त लाभकारी है। आज रमन का गोठ सुनने के बाद यह प्रतिक्रिया जरहाभाठा के राजेश भास्कर ने दी।  
            प्रत्येक माह के दूसरे रविवार को प्रसारित होने वाले रमन के गोठ का आज शहर और ग्रामीण अंचल के लोगों ने बड़े चाव से सुना। इस 19वीं कड़ी में प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने संचार क्रांति के लिए बजट में घोषित स्काई योजना का विशेष रूप से उल्लेख किया।
            राजेश भास्कर ने कहा कि उसने कुछ दिन पहले सुना था कि प्रदेश के गांवों में लाखों की संख्या में स्मार्ट कार्ड के वितरण की योजना लाई जा रही है, लेकिन इसका क्या उपयोग है यह रमन के गोठ सुनने से मालूम हुआ। मुख्यमंत्री की यह बात सुनकर साफ हुआ कि दूर दराज के अंचलों में मोबाइल नेटवर्क पहुंचने के कितने फायदे हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश के लोगों की तरक्की के लिए ‘जैम’ का होना जरूरी है। जैम यानि जन-धन खाता, आधार कार्ड और मोबाइल नेटवर्क। स्मार्ट फोन के जरिए हमारे दूर-दराज के गांवों में राशन पहुंचने की सूचना मिल सकेगी। आपात् कालीन स्वास्थ्य सेवाओं का अधिक और त्वरित लाभ उठाया जा सकेगा और शिक्षा और सरकारी योजनाओं से संबंधित सूचनाओं का आदान-प्रदान हो सकेगा और डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा मिलेगा।
सकरी की मंजू को रमन के गोठ में यह खास बात लगी कि उन्होंने महिलाओं के लिए चलाए जा रही योजनाओं पर विस्तार से बताया। उन्होंने हमें अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं दीं और बताया कि हम महिलाओं के लिए चलाए जा रही नोनी सुरक्षा योजना, मातृत्व सुरक्षा योजना से हम अपने और अपनी पीढ़ी का स्वास्थ्य बेहतर कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि उज्जवला योजना के तहत धुएं रहित गैस चूल्हे के वितरण का लक्ष्य भी 25 लाख से बढ़ाकर 35 कर दिया गया है।
            इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र सौरभ ने मुख्यमंत्री की इस बात को गंभीरता से लिया कि होली हुड़दंग का त्योहार नहीं है बल्कि यह भाईचारे  का और भेदभाव को मिटाकर खुशियां बांटने का पर्व है। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी पर जबरन रंग न लगाएं, विवाद से बचें और लकड़ियां नहीं काटकर पर्यावरण को संरक्षित करें। उन्होंने इस अवसर पर किसी प्रकार का नशा नहीं करने कहा, जिस पर युवकों को को अमल करना चाहिए।
महाराणा प्रताप चौक पर पान दुकान के सामने रमन के गोठ सुनने के बाद अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए वीरेन्द्र पांडेय ने कहा कि लोक सुराज अभियान को इस बार समाधान पर्व के रूप में मनाने की मुख्यमंत्री की घोषणा ने उसे प्रभावित किया। पांडेय ने कहा कि फरवरी माह से प्रारंभ यह अभियान तेज गर्मी में मई माह तक चलेगा, जिसमें हमारी समस्याओं, शिकायतों और मांगों पर त्वरित निराकरण को प्राथमिकता दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से साफ कहा कि जिन मांगों को पूरा करने के लिए बजट उपलब्ध है, उनका तत्काल निराकरण किया जाए, इसका नतीजा तुरंत देखने को मिलेगा।


समाचार क्रमांक/5272/अग्रवाल  


 

Date: 
12 Mar 2017