Homeबिलासपुर : डॉ. रमन ह आम जनता के मन के बात कहिस-श्री श्यामलाल चतुर्वेदी

Secondary links

Search

बिलासपुर : डॉ. रमन ह आम जनता के मन के बात कहिस-श्री श्यामलाल चतुर्वेदी

Printer-friendly versionSend to friend

बिलासपुर/13 सितंबर 2015


मुख्यमंत्री डा. रमनसिंह ह आज रेडियों म मन ल छू लेने वाला बात कहिस। तिहार -बार, रोटी-पीठा, दूकाल के आम जनता के बात कहिस। अच्छा प्रयास है। ये बातें आज बिलासपुर के वरिष्ठ पत्रकार-साहित्यकार और छत्तीसगढ़ी राज भाषा आयोग के पूर्व अध्यक्ष श्री श्यामलाल चतुर्वेदी ने कही।
          श्री चतुर्वेदी ने अपने छत्तीसगढ़ी भाषा में कहा कि ’रमन के गोठ’ म जस दिन जाही तस-दिन जनता के विचार जोड़े ले ओकर नतीजा सामने आही। आम जनता के विचार भी जोड़े जाय। सरकार अउ जनता मिलके बात होही तब अच्छा होही। सरकार हर बोलत रहही। जनता ह नई बोलही तब सरकार ह का गम पाही कि का होथे-का नई होवथे। उन्होने कहा कि अभी गरीब जनता हे-तेन ह अपन दुख ल बरोबर कहे नई जानय। चुप्पे रथे, तव साहब मन समझथें सब ठीक हे। जब ओहू मन बोलही। तब असली बात सामने आही। गजट म अइसन दुखदाई बात छपथे पढ़त रथॅंव-मन बेचैन हो जाथे। आजे देखत रहंव नहर लाइनिंग ह भसक गयहे। अउ बांध के पानी ह बोहाथे, गरीब के खेत तक नई पहुंॅच सकय। गरीबहा पानी कहॉ ले पाही। दुकाल परगे हे-बने मुआवजा देवय तव बात बनही। देहे के बेरा म असली बात ह गम मिलही।
श्रीमती पार्वती कश्यप-मंगला ग्राम पंचायत भवन में ’रमन के गोठ’ कार्यक्रम सुनने के बाद मंगला के श्रीमती पार्वती कश्यप ने कहा कि यह कार्यक्रम सुनकर बहुत अच्छा लगा। इस कार्यक्रम के माध्यम से अब हर माह हमारे मुख्यमंत्री की बात सुनने को मिलेगा, यह और अच्छी बात है। इस कार्यक्रम के द्वारा विकास के साथ ही हमारे दुखः-तकलीफ को सुनने समझने का मौका मिलेगा।
श्रीमती पूनम कश्यप-  ’रमन के गोठ’ कार्यक्रम सुनने के बाद अपनी प्रतिक्रिया में श्रीमती पूनम कश्यप ने कहा कि मुख्यमंत्री का यह संदेश सुनकर बहुत अच्छा लगा। वे छत्तीसगढ़ के तीज-त्यौहार के साथ ही लोगों की तकलीफ दूर करने के बात कही।
श्री विवेक कौशिक -    मंगला के श्री विवेक कौशिक ने ’रमन के गोठ’ सुनने के बाद कहा कि छत्तीसगढ़ के बारे में बहुत अच्छी जानकारियां सुनने को मिली और हम लोग सीधे प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से जुड़े, यह क्षेत्र के लोगों के लिए गौरव की बात है। उन्होंने ग्राम मंगला की सड़क की समस्याओं की ओर भी ध्यान आकर्षित कराया।
श्रीमती कुंदिया बाई-    श्रीमती कुंदिया बाई ने कहा कि रेडियो पर ’रमन के गोठ’ कार्यक्रम बहुत अच्छा लगा कि मुख्यमंत्री यहीं से हम सबको संबोधित कर रहे हैं। यह कार्यक्रम प्रतिमाह कम से कम एक बार अवश्य रूप से होना चाहिए।
श्रीमती मोगरा बाई कश्यप एवं श्रीमती कुंती बाई रजक-    ग्राम घुरीपारा मंगला निवासी इन महिलाओं ने रेडियो पर ’रमन के गोठ’ सुनकर कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा छत्तीसगढ़ के पूरे तीज-त्यौहार की जानकारी खासकर तीज-त्यौहार के संबंध में उनके मुख से सुनकर बहुत अच्छा लगा। उन्होंने कहा कि हम सब गांव की ओर से मुख्यमंत्री जी को धन्यवाद देते हैं।
श्रीमती शबीना बेगम -    श्रीमती शबीना बेगम ने बताया कि पहली बार ऐसे कार्यक्रम में शामिल हुई हूं। मन में बड़ी उत्सुक्ता थी। ’रमन के गोठ’ सुनकर बड़ी प्रसन्नता हुई। ऐसा लगा जैसे वे यहीं खड़े होकर भाषण दे रहे हैं। श्रीमती बेगम ने मुख्यमंत्री द्वारा छत्तीसगढ़ के महिलाओं एवं बच्चों के लिए संचालित योजनाओं की सराहना करते हुए बधाई दी है।
श्रीमती रेजा बाई -     धुरीपारा की 75 वर्षीय श्रीमती रेजा बाई ने ’रमन के गोठ’ सुनकर कहा कि ’रमन के गोठ’ बात ह बढ़िया लागिस। गांव-गरीब अउ किसान सब्बो लोगनमन के विकास के बात करीस। सरकार ह लईका से लेके सियान बर बढ़िया-बढ़िया योजना ले फायदा दिलावत हेे। ओखर राज म हमर छत्तीसगढ़ राज का आघू बढ़थे। मैहर ओला चिट्ठी के द्वारा अपन आशिर्वाद देहूं। काबर के हमन ल समय म चाउर अउ पेंशन के रूपया मिलत हे।
    इसी तरह मंगला की अमरिका बाई पटेल, सहिन परवीन, मधु सूर्यवंशी, गणेश कुमार यादव एवं रविन्द्र यादव ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली, सामाजिक सुरक्षा पेंशन, पंचायत स्तर पर रोजगार के साधन उपलब्ध कराने एवं विभिन्न व्यवसाय के लिए प्रशिक्षण देने के लिए ध्यान आकर्षित कराया।
समाचार क्रमांक/     /साय/अग्रवाल
---00---

Date: 
13 Sep 2015