Homeबीजापुर : तिमेड़ पुल की बात से उत्साहित हुए ग्रामीण : कलेक्टर सहित लोगों ने सुना ’’रमन के गोठ’’

Secondary links

Search

बीजापुर : तिमेड़ पुल की बात से उत्साहित हुए ग्रामीण : कलेक्टर सहित लोगों ने सुना ’’रमन के गोठ’’

Printer-friendly versionSend to friend

    बीजापुर 08 मई 2016

प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मासिक रेडियो वार्ता रमन के गोठ को रेडियों और टीवी पर जिले भर में लोगों ने सुना और सराहा। बीजापुर के दुगोली ग्राम पंचायत व लोक शिक्षा केन्द्र में लोगो ने मुख्यमंत्री की बात बेहद ध्यान से सुनी और उसमें तिमेड़ पुल की बात सुनकर गद्गद हो गये। भैरमगढ़ में बच्चांे, महिलाओं, जनप्रतिनिधियों ने रेडियों पर मुख्यमंत्री की बात उत्साह से सुना। कस्तुरबा गांधी विद्यालय भैरमगढ़ मंे कलेक्टर डॉ. अयाज तम्बोली, जनपद अध्यक्ष सरिता वाचम, उपध्यक्ष सहदेव नेगी, नगरपंचायत लव कुमार रायडु, सीईओ अब्बास अली, सीएमओ अश्वनी चन्द्राकर, ओपी दुबे ने रेडियो वार्ता सुना। मुख्यमंत्री की रेडियो वार्ता धनोरा, ईटपाल, नैमेड़, नेलसनार, कुटरू आदि कई जगह पर सुनी गई।
    मुख्यमंत्री की मासिक रेडियों वार्ता में किसानों व ग्रामीणों के विकास की बात कही गयी। मुख्यमंत्री ने किसानों के लिए जैविक खेती को बहुत उपयोगी बताते हुए इसकी प्रशंसा की। गरीबों को दी जाने वाली राज्य शासन की चावल योजना का जिक्र कर उन्होंने जैविक खेती से पैदा चावल मंे किसानों की मेहनत को अनुकरणी बताया। बीजापुर जिले के तिमेड़ में इंद्रावती पुल पर बन रहे पुल का जिक्र कर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पुल से महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ दोनों राज्य जुड़ेगें तथा विकास का मार्ग प्रशस्त होगा। विस्थापित परिवारों के वापस अपने गांव में बसने का जिक्र भेज्जी-इंजरम के अपने दौरे से किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि वापस अपने गांव बसना खुशी की बात है इसलिए यहां 28 किलोमीटर कांक्रीट सड़क बनाई जा रही है इसमें हमारे ग्रामीण, जवान व अधिकारी कर्मचारियों की टीम मेहनत से काम कर रही है। आज का ग्रामीण बिजली की चमक का इंतजार कर रहा है हम इस दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहे है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीणों की सुविधा के लिए नक्शा खसरा व बी-1 का निःशुल्क वितरण तीन महीने में होगा इसके लिए पटवारी स्वयं गांव में जाकर ग्रामीणों का काम करेंगे। आबादी जमीन का पट्टा निःशुल्क दिया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने जनऔषधी केन्द्र सभी जगह प्रारंभ किया है यहां कम लागत वाली गुणवत्ता युक्त जैनरिक दवाईयां उपलब्ध कराई गयी है। इसके लिए सभी डॉक्टर्स व मरीज जनऔषधी केन्द्र से जैनरिक दवाओं के इस्तेमाल सफल बनायें। उन्होंने अपने रेडियों वार्ता में बाल विवाह पर रोक लगाने की भी बात कही।


समाचार क्र. 213
 

Date: 
08 May 2016